महिलाएं क्या अब जानवर भी नही सुरक्षित ! पड़ोस की 4 साल की पालतू डॉगी के साथ दुष्कर्म.. हालात गंभीर, बेहोशी की हालत में मिली पड़ोसी के घर ! आरोपी सहित दो दोस्तों पर दुष्कर्म का मामला दर्ज !!

हाथरस।आये दिन देश में समाज को शर्मसार करने वाले दुष्कर्म के मामले सामने आते हैं। हाल ही में एक मामला आया है, जिसके आधार पर कहा जा सकता है कि इन हैवानो की बुरी नजरों से महिलाएं क्या, पालतू जानवर तक सुरक्षित है। यूपी के हाथरस में एक चौंकाने वाला शर्मनाक मामला सामने आया है। यहां एक 4 साल की पालतू फीमेल डॉगी के साथ दुष्कर्म के आरोप में तीन लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है।

जानकारी के मुताबिक आरोपियों ने हाथरस में जलेसर रोड पर फीमेल डॉगी पोमेरेनियन का उसकी मालकिन की घर की छत से अपहरण कर लिया था। जिसके बाद आरोपी उसे अपने साथ ले गए फिर उसके साथ दुष्कर्म किया।

शिकायतकर्ता ने बताया की डॉगी को घंटो ढूंढने के बाद पडोस में रहने वाले दिनेश कुमार के कमरे में बेहोशी की हालत में पाया गया। हाथरस कोतवाली में आरोपी दिनेश कुमार और उसके दो दोस्तों के खिलाफ आईपीसी की धारा 377 अप्राकृतिक अपराध और क्रूरता निवारण अधिनियम 11 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

अंडे का लालच देकर फुसलाया

हालाकि अब तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। शिकायतकर्ता संतोष देवी ने बताया दिनेश कुमार उनका पड़ोसी हैं और उनके घर के बगल में किराए के मकान में रहता हैं। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि दिनेश कुमार ने गुरुवार 4 जुलाई की रात एक अंडा देकर उनकी पालतू डॉगी को फुसला कर अपने पास बुलाया और उसके दो साथियों के साथ मिलकर उसका दुष्कर्म किया।

पड़ोसी के घर बेहोशी के हालत में मिली

वही शिकायतकर्ता ने दावा किया कि उसने रात 10 बजे तक अपने डॉगी को देखा था लेकिन इसके बाद वह गायब हो गई। उन्होंने कहा मुझे लगा कि वह कहीं बैठी होगी और ज्यादा ध्यान नहीं दिया, लेकिन जब मुझे घर में वह नहीं मिली तो मैंने उसे सुबह 6 बजे से तलाश शुरू की। बहुत ढूंढ़ने पर वो मुझे नहीं मिली। फिर जब में शक के आधार पे पडोसी के कमरे में घुसा तो वह मुझे वहां बेहोशी की हालत में मिली।

आंतरिक अंगों में आई चोटे.. हालत गंभीर

शिकायतकर्ता ने बताया डॉगी की हालत बहुत गंभीर थी। संतोषी ने दावा किया कि उनकी डॉगी को आंतरिक अंगों में चोटें आई हैं। उन्होंने दिनेश कुमार और दो अन्य व्यक्तियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की है जिनकी पहचान सतीश और अशोक के रूप में की गई है। संतोष देवी ने बताया कि वह अपनी बेटी, एक बेटे और उनकी डॉगी के साथ रहती है।

हाथरस थाने के स्टेशन हाउस अधिकारी परवेश राणा ने बताया कि

डॉगी की मेडिकल जांच कराई गई है, और रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। राणा ने कहा कि सभी आरो’पियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।