रायगढ़/ कोरोना पॉजिटिव की लाश को श्मशान मे जलाने ना देने से असहज हुए डॉ राजू, कहा- मृत्यु की डिटेल जानकारी देते हुए प्रशासन को लोगों में भय दूर कर जागरूकता लाने की जरूरत

2,964 views

सामाजिक जागरूकता लाये प्रशासन- डॉ. राजू

रायगढ़। जिले में कोरोना संक्रमित युवक की मौत के बाद उसके शव को जलाने न देने पर डॉ. राजू ने असहज होते हुए प्रशासन एवं समाज से निवेदन किया है कि कोरोना से संबंधित मृत्यु की डिटेल जानकारी देते हुए प्रशासन को लोगों में भय दूर कर जागरूकता लानी चाहिए। जिस मरीज की मृत्यु हुई है उसका 21 जून से लकवा एवं ब्रेन की गंभीर बीमारी का इलाज चल रहा था, उसका 24 जून को कोरोना पाजिटीव आया, अर्थात उसकी मृत्यु लगभग 16 दिन बाद हुई, उसकी मृत्यु कोरोना इन्फेक्शन के कारण होना प्रतीत नहीं होता है । इसका मतलब उस मरीज की मृत्यु ब्रेन की बीमारी एवं लकवा के कारण होना नजर आता है।

प्रशासन के द्वारा समय रहते इस बात को सही तरीके से जनता के समक्ष नहीं रखा गया जिसके कारण बेलादुला श्मशान घाट में उसके शव को जलाने का विरोध हुआ, जो कि सामाजिक एवं नैतिक रूप से उचित नहीं है । यदि प्रशासन मृत्यु का कारण स्पष्ट करता और वहां के लोगों को समझाता तो यह स्थिति शायद नहीं आती। यदि आने वाले समय में भी ऐसी कोई मौत होती है तो जनता भी इस बात को समझे की ऐसा विरोध उचित नहीं है । जनता को यह समझना होगा कि कोरोना संक्रमित शव के शमशान में सावधानी पूर्वक दहन से किसी भी प्रकार से संक्रमण का खतरा जनता को नहीं है।


डॉ. राजू ने सोशल मीडिया की विज्ञप्ति में कहा है कि प्रशासन को जनता में इस मामले में जागरूकता लाना चाहिये इसके लिये विशेष प्रयास, लोगों से बातचीत, विभिन्न संगठनों की मदद, डॉक्टर्स का सहयोग आदि लेना चाहिये ताकि लोगों में डर व भ्रम की स्थिति न बने और संकट के इस समय में सभी एक-दूसरे की मदद कर सकें। वर्ना आने वाला समय प्रशासन, समाज सभी के लिये बहुत कठिन होगा।


रायगढ़ के एक कोरोना संक्रमित मरीज की मृत्यु पुनः रायपुर में हुई है, जिसकी मृत्यु का कारण उसके पैर के गंभीर इन्फेक्शन का जहर शरीर में फैलने के कारण होना प्रतीत होता है । पर जनता इसे कोरोना से मृत्यु समझ भयग्रस्त है, प्रशासन को स्तिथि स्पष्ट करनी चाहिए।

यदि किसी कॅरोना संक्रमित मरीज की मृत्यु होती है तो प्रशासन को उसकी मृत्यु के कारण पर स्पष्ट एक श्वेतपत्र जारी करना चाहिए। कोरोना से डरना नहीं है बल्कि नियमों का पालन कर इसे हराना है ।