वीडियो: एंटी करप्शन ब्यूरो का अधिकारी बनकर महिला से मांगे 50 हजार ! नहीं देने पर धमकाया ! बीच रास्ते महिला ने कर दी लात-घुसो से पिटाई.. वीडियो वायरल.. देखे वीडियो..

जमशेदपुर। यहां एक महिला द्वारा बीच सड़क पर एक व्यक्ति की पिटाई की गई है। मार खाने वाला व्यक्ति अपने आप को एंटी करप्शन का ऑफिसर बताता था और उसने महिला से उसके किसी काम के लिए ₹50000 की डिमांड की थी। पैसे ना देने पर फर्जी ऑफिसर ने महिला को धमकाया था जिसके बाद भी सड़क पर उसने उस फर्जी ऑफिसर की पिटाई कर दी।

पुलिस ने घाटशिला के चाकुलिया के रहने वाले फलेन्द्र महतो के खिलाफ एक एसीबी अधिकारी के रूप में कथित तौर पर पेश करने और लोगों को धोखा देने के आरोप में FIR दर्ज की है।

महिला राखी शर्मा ने बताया कि आरोपी फलेंद्र महतो ने उसे एक आईडी कार्ड दिखाया। जो एंटी करप्शन ब्यूरो के आई डी कार्ड जैसा दिखता था।

महिला राखी शर्मा न्यूज़ एजेंसी ए एन आई को बताया कि

“हम कुछ दिनों पहले उनसे मिले थे। वह कुछ महिलाओं के साथ अलग अलग जगहों पर घरों पर छापा मारने के लिए आते थे। मैंने भी उनके साथ काम करने के बारे में भी सोचा और मेरी व्यक्तिगत समस्या को हल करने के लिए उनकी मदद मांगी। इसके लिए उन्होंने मुझे 50,000 रुपये देने के लिए कहा। कानूनी काम। मैंने एसीबी को फोन किया और पता चला कि वह व्यक्ति फर्जी है क्योंकि कोई भी अधिकारी कानूनी नोटिस दिए बिना छापा नहीं मार सकता है।”

शर्मा ने आरोप लगाया कि जब उसने उसे पैसे देने से इनकार कर दिया, तो महतो ने उसे धमकाना शुरू कर दिया।

आगे उस महिला ने बताया कि

‘जब मैंने पैसे देने से इनकार कर दिया, तो उसने मुझे धमकी देना शुरू कर दिया और दावा किया कि वह मेरे घर पर छापा मारेगा और मुझे जेल में डाल देगा। बाद में, मैंने पुलिस से संपर्क किया और अपने कुछ रिश्तेदारों और दोस्तों की मदद से हमने उसे दबोच लिया।”

घटना के एक वीडियो में महिला को महतो पर लातें बरसाते और जूते से मारते देखा गया था। बाद में पुलिसकर्मी हस्तक्षेप करते हुए उसे एक वैन में ले जाते हुए दिखाई देते हैं।

इस मामले में मानगो पुलिस थाना इंचार्ज अरुण मेहता ने बताया कि “राखी शर्मा ने कहा कि वह कुछ व्यक्तिगत समस्या का सामना कर रही थीं, जिसके लिए उन्होंने इस फर्जी एसीबी अधिकारी से मदद मांगी। उन्होंने इसे हल करने के लिए 50,000 रुपये मांगे। जब उसने अपने रिश्तेदारों से इस बारे में चर्चा की तो उन्हें पता चला कि वह व्यक्ति एक नकली है। बाद में, वे उसे पकड़कर थाने ले आए।”

आज उस अधिकारी ने बताया कि आरोपी फलेन्द्र महतो पैसे कमाने के लिए शराब की दुकानों सहित कई जगहों पर छापा मारता था। इसके लिए कोई एंटी करप्शन ब्यूरो के फर्जी आईडी कार्ड का इस्तेमाल करता था। हमने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और अब इस मामले की जांच कर रहे हैं कि क्या वह किसी खास गिरोह का हिस्सा है।”