वक़्त का सितम; सड़क हादसे ने ली मम्मी-पापा की जान ! बहन गंभीर हालत में पड़ी है अस्पताल में.. घायल बेटी ने निभाया पुत्रधर्म.. माता पिता को एक साथ दी मखाग्नि !!

बलोदा बाजार। कहते हैं ना काल पर किसी का बस नहीं है। एक सड़क हादसे में अपने माता पिता को खो चुकी एक 22 साल की लड़की ने अपने माता-पिता का एक साथ अंतिम संस्कार किया। हादसे में उसकी छोटी बहन गंभीर हालत में अस्पताल में है। बेटी होते हुए भी उसने अपने पुत्र धर्म का पालन किया। हादसे में इसका पूरा परिवार बिखर चुका था। ऐसी स्थिति में 22 साल की लड़की ने समाज में साहस का उदाहरण प्रस्तुत किया है।

शुक्रवार की रात करीब साढ़े 10 बजे नगर के सराफा व्यवसायी जोगेन्द्र सोनी (57) तथा उनकी पत्नी गीता सोनी (54) व बेटी आयुषी सोनी (22) और नुपूर सोनी (20) के साथ कार से रायपुर से वापस घर बलौदाबाजार आ रहे थे। इसी बीच पलारी से छह किमी दूर ग्राम कुसमी के पास बलौदाबाजार से भिलाई जा रहे पिकअप से भिड़ंत हो जाने के कारण सामने बैठे पति-पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं पीछे सीट पर बैठी बेटियां नूपुर और आयुषी घायल हो गए।

बलौदा बाजार के कुछ लोग रायपुर से लौट रहे थे। इस घटना को देखकर रुके और 108 बुलाकर घायल दोनों बेटियों को पलारी शासकीय चिकित्सालय भेजा। जहां पर उनका इलाज करने के बाद रायपुर रेफर कर दिया गया। जिसमें आयुषी को सामान्य चोटें आई थी जबकि नुपूर को गंभीर चोटें आई हैं। उसका इलाज रायपुर में चल रहा है।

शनिवार को दोपहर 12 बजे सोनी दंपती की अंतिम यात्रा निकली गई। पूरा नगर गमगीन के माहौल में डूब गया। बेटी आयुषी ने माता-पिता को मुखाग्नि दी।