अच्छी खबर : वॉट्सऐप ने रोकी नई प्रिवेसी पॉलिसी ,यूजर्स की नाराजगी के बाद रोकी पॉलिसी..!

नई दिल्ली/दुनियाभर में वॉट्सऐप की नई प्रिवेसी पॉलिसी की कड़ी आलोचना होने के बाद कंपनी ने इसे टालने का फैसला किया है। हाल ही में अपने बिजनस ट्रांजैक्शंस को बढ़ाने के इरादे से वॉट्सऐप ने अपनी प्रिवेसी पॉलिसी को अपडेट किया था। वॉट्सऐप ने कहा है कि नई प्रिवेसी पॉलिसी ना अपनाने पर किसी भी यूजर का अकाउंट 8 फरवरी को सस्पेंड नहीं होगा।

वॉट्सऐप यूजर्स को इसी महीने एक नोटिफिकेशन मिली थी जिसमें कहा गया था कि कंपनी नई प्रिवेसी पॉलिसी और नीतियां तैयार कर रही है। इस पॉलिसी के तहत फेसबकु के मालिकाना हक वाले इंस्टेंट मेसेजिंग ऐप के यूजर्स का कुछ डेटा फेसबुक के साथ शेयर किया जाना है। इसके बाद दुनियाभर में बवाल छिड़ गया और यूजर्स तेजी से Telegram और Signal जैसे प्राइवेस मेसेजिंग ऐप्स पर स्विच करने लगे।

वॉट्सऐप ने शुक्रवार को कहा कि अब फरवरी की जगह मई में नई पॉलिसी को लॉन्च किया जाएगा। अपडेटेड पॉलिसी में इस बात पर फोकस किया गया था कि यूजर्स बिजनस अकाउंट के साथ मेसेज कर पाएं और इससे पर्सनल कन्वर्सेशन पर असर नहीं पड़ता। पर्सनल चैट्स में ऐंड-टू-ऐंड इनक्रिप्शन बरकरार रहेगा। वॉट्सऐप ने एक बयान में कहा, ‘इस अपडेट से फेसबुक के साथ डेटा शेयर करने की हमारी योग्यता नहीं बढ़ती है।’

कंपनी ने कहा, ‘अभी हर कोई वॉट्सऐप पर खरीदारी नहीं करता, हमें लगता है कि आने वाले समय में ज्यादा यूजर्स वॉट्सऐप पर शॉपिंग करेंगे और लोगों को इन सर्विसेज के बारे में पता चलना जरूरी है।’

फेसबुक पिछले करीब एक साल से वॉट्सऐप पर बिजनस टूल रोल आउट कर रहा है। कंपनी का मकसद हाई-ग्रोथ वाले वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम जैसे प्लैटफॉर्म से रेवेन्यू बढ़ाने का है। बता दें कि फेसबुक ने 2014 में 19 बिलियन डॉलर में वॉट्सऐप का अधिग्रहण किया था लेकिन इसे मॉनिटाइज़ करने में कंपनी धीमी रही है।

आपको बता दें कि वॉट्सऐप यूजर्स का कुछ पर्सनल डेटा जिसमें यूजर का फोन नंबर और आईपी अड्रेस शामिल है, पहले से फेसबुक का साथ शेयर किया जाता है। वॉट्सऐप ने अपने बयान में कहा, ‘हम इस बात की जानकारी नहीं रखते कि कौन किसे मेसेज या कॉल कर रहा है। हम आपके द्वारा शेयर की गई लोकेशन भी नहीं देख सकते और ना ही फेसबुक के साथ हम आपके कॉन्टैक्ट्स शेयर करते हैं।’