कल छत्तीसगढ़ में रहेगा भारत बंद का प्रभावी असर! प्रदेश कांग्रेस के बाद छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स ने भी बंद को दिया समर्थन.. जरूरी हो तभी निकले घर से बाहर.. वरना पड़ सकते हैं मुसीबत में

3,979 views

रायपुर। किसानों के भारत बंद को छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस और छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने समर्थन दिया है. जिसके बाद से उम्मीद जताई जा रही है छत्तीसगढ़ में इसका असर काफी प्रभावी रहेगा। यह बंद सुबह 11:00 बजे से दोपहर 3:00 बजे तक रहेगा। इस दौरान शादी विवाह एवं जरूरी सेवाएं बाधित नहीं होंगे।

छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स के वर्चुअल मीटिंग के बाद फैसला लिया गया है कि दोपहर 2 बजे तक दुकानें बंद रहेंगी। इसके साथ ही प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने भी बंद का समर्थन किया है। इसके लिए मोहन मरकाम के द्वारा इसकी रूपरेखा तैयार करने के लिए एक बैठक भी रखी गयी। जिसमें कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बंद को सफल बनाने का आह्वान किया गया।

कांग्रेस के इस बंद के आह्वान के बाद छत्तीसगढ़ में ट्रेन सेवाएं और हाईवे पर भी गाड़ियां भी प्रभावित हो सकते है। शहरी क्षेत्रों में भी आवागमन ना के बराबर रहेगा। ऐसे में घर से बाहर अति आवश्यक होने पर ही बाहर निकले वरना आप किसी मुसीबत में पड़ सकते हैं। इस दौरान पेट्रोल पंप, फल,सब्जी, दूध इत्यादि जरूरी एवं मेडिकल इमरजेंसी के सेवाएं और शादी-ब्याह के कार्यक्रम सुचारु रुप से चालू रहेंगे।

केंद्र सरकार ने जारी की गाइड लाइन

केंद्र सरकार ने एक राष्ट्रव्यापी एडवाइजरी जारी की है। गृह मंत्रालय ने राज्यों से कहा है कि वे सुनिश्चित करें कि भारत ‘बंद’ शांति से हो और कोई अप्रिय घटना न हो।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकारों और केंद्रशासित प्रदेशों को किसान संघों द्वारा समर्थित और विपक्षी दलों द्वारा समर्थित भारत बंद के दौरान सुरक्षा कड़ी करने को कहा है, ताकि देश में कहीं भी कोई अप्रिय घटना न हो। एक देशव्यापी एडवाजरी में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने यह भी कहा कि राज्य सरकारों और केन्द्र शासित प्रदेशों के प्रशासन को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि स्वास्थ्य और सोशल डिस्‍टेंसिंग के संबंध में जारी किए गए कोविड-19 दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन किया जाए।

कांग्रेस समेत कई विपक्षी पार्टियों का मिला समर्थन

नए कृषि कानून को लेकर किसानों के आंदोलन का आज पांचवा दिन है किसी भी सरकार और किसानों के बीच की कई वार्ता असफल हो चुकी है। किसानों की यूनियन ने साफ किया है कि वह सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक भारत बंद रखेंगे। कई विपक्षी दलों ने अखिल भारतीय हड़ताल के आह्वान का समर्थन किया है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, एनसीपी नेता शरद पवार, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन और पीएजीडी के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला सहित प्रमुख नेताओं ने भी एक संयुक्त बयान जारी कर भारत बंद का समर्थन किया और केंद्र से प्रदर्शनकारियों की मांगें मानने का दबाव बनाया है।