किसान आंदोलन के इतिहास में नई इबारत लिखेगा हरियाणा..! परेड में भाग लेने पहुंच सकते है एक लाख ट्रेक्टर..!!

दिल्ली। किसान आंदोलन के इतिहास में 26 जनवरी को हरियाणा एक नई इबारत लिखने जा रहा है। ऐसा आंदोलन, जिसकी अलख गांव-गांव में जल रही है। चौपालों में रणनीतियों को अंजाम दिया गया है। जमीनी माहौल कहता है कि तकरीबन 1 लाख ट्रैक्‍टर पूरे प्रदेश से दिल्‍ली की परेड में शिरकत करने के लिए रवाना होंगे। 25 जनवरी को दिल्‍ली कूच करने वाले कारवां में न सिर्फ ट्रैक्‍टर शामिल होंगे बल्कि कार, बाइक और पैदल मार्च के जरिये भी लोग देश की राजधानी के लिए रवाना होंगे। इनमें न सिर्फ बुजुर्ग, युवा और बच्‍चे शामिल होंगे बल्कि हजारों की तादाद में महिलाओं की भी भागीदारी इस आंदोलन को नया आयाम देगी।

हरियाणा के इतिहास में ऐसा किसान आंदोलन शायद ही कभी हुआ है, जिसमें हर गांव की भागीदारी है।आर्थिक मदद के लिए लोगों ने चंदा एकत्रित किया है। मार्च निकाले गए हैं। ट्रैक्‍टर रैलियां निकालकर रिहर्सल की गई है। हालात ऐसे हैं कि कई दिन पहले से ही हरियाणा-पंजाब के गांवों से दिल्ली कूच बदस्तूर जारी है।

अंबाला-दिल्‍ली हाईवे पर ट्रैक्टर-ट्रॉली ही नजर आते हैं। गांव-गांव से तिरंगा लगे ट्रैक्टर पहुंच रहे हैं। संयुक्त किसान मोर्चा की टीम का दावा है कि अकेले कुंडली बॉर्डर पर 50 हजार के करीब ट्रैक्टर पहुंच जाएंगे। कैथल से 6 हजार से अधिक ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेंगे। भिवानी से लगभग 10 हजार ट्रैक्टर दिल्ली जा रहे हैं। किसान अपने साथ पांच से सात दिन का भोजन लेकर जाएंगे। ट्रॉलियों में राशन-पानी, सिलेंडर-चूल्हा व बिस्तर के साथ बाइक भी लेकर जा रहे हैं।

तीन रूटों से किसान दिल्ली पहुंचेंगे और 26 जनवरी को परेड में शामिल होंगे। जिले से लगभग 1300 वॉलंटियर्स भी जा रहे हैं, जो सिर पर पगड़ी बांधे हुए होंगे। भिवानी, तोशाम व सिवानी ब्लॉक के किसान भिवानी-रोहतक रोड होते हुए कालानौर, रोहतक के रास्ते दिल्ली पहुंचेंगे। ट्रैक्टर परेड के लिए पंजाब, सिरसा, फतेहाबाद व हिसार के किसान मुंढाल से करीब 40 हजार ट्रैक्टर-ट्रालियों में सवार होकर दिल्ली के लिए आगे बढ़ेंगे।

चरखी दादरी में सर्वखाप पंचायत के फैसले के बाद सभी 7 खापों ने तैयारियां की हैं। 5 हजार ट्रैक्टर दिल्ली जाएंगे। एक ट्रैक्टर के साथ दो ट्रॉलियां जोड़ी जाएंगी। दिल्ली ट्रैक्टर परेड में शामिल होने किसानों के साथ महिलाएं और बच्चे भी जाएंगे। सभी ट्रैक्टर 25 जनवरी की सुबह दादरी से दिल्ली के लिए कूच करेंगे।

पानीपत के भाकियू जिला प्रधान ने हजारों की संख्या में ट्रैक्टरों के परेड में शामिल होने का दावा किया है। नारी तू नारी उत्थान समिति की अध्यक्ष सविता आर्य का दावा है कि 2 से 3 हजार महिलाएं पानीपत जिले से परेड में भाग लेने के लिए ट्रैक्टरों से रवाना होंगी। उससे पहले एक ट्रैक्टर रैली पानीपत में भी निकाली जाएगी। यहां हर गांव से 2 से 4 ट्रैक्टर का जत्था तैयार किया गया है।

अंबाला से दो दिन पहले ही किसान दिल्‍ली के लिए रवाना हो गए। किसानों ने ट्रालियों में राशन लाद रखा था। डीजल की ज्यादा खपत न हो इसके लिए एक ट्रैक्टर के पीछे 3 से 4 ट्रैक्टर टोचन कर रखे थे। टीकरी बार्डर से नजदीक होने के चलते रोहतक में अभूतपूर्व तैयारियां हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा एकता के संयोजक सूरजमल रोज के मुताबिक पुराना बस स्टैंड के मैदान से पैदल, बाइक, ट्रैक्टर और गाड़ियों से जत्थे टिकरी बॉर्डर पर पहुंचेंगे। पैदल मार्च में तमाम सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि व शहरवासी शामिल होंगे। हिसार के लांघड़ी टोल से सैकड़ों महिलाएं दिल्ली परेड में भाग के लिए रवाना हो चुकी हैं। चरखी दादरी में फौगाट खाप ने पंचायत में फैसला लिया है कि दिल्ली कूच के लिए एक ट्रैक्टर के साथ दो-दो ट्रॉलियां जोड़ी जाएंगी। जिले की सभी खाप फौगाट, सांगवान, श्योराण, हवेली, सतगामा, चिड़िया खाप व पंवार खाप एक साथ मिलकर दिल्ली के लिए कूच करेंगे। पंचायत में कहा गया कि 25 जनवरी की सुबह साढ़े 10 बजे सभी ट्रैक्टर दिल्ली के लिए निकलेंगे।

फौगाट खाप के सचिव सुरेश कुमार का कहना है कि दिल्ली कूच को असफल बनाने के लिए सरकार पेट्रोल पंप भी बंद करवा सकती है, इसलिए पहले से डीजल भरवा कर रखा जाएगा। सोनीपत में गांव-गांव में चंदा एकत्रित किया जा रहा है। ट्रैक्टर-ट्रालियां हर गांव से लाने की तैयारी है। हर गांव में कमेटी बनी है। जिसके यहां भी ट्रैक्टर है उसे परेड में शामिल होने की जिम्मेदारी दी गई है। इनका खर्च उठाने के लिए ग्रामीण प्रति एकड़ या कुढी- तागड़ी (परिवार के हिसाब से) 100 से 500 रुपए तक चंदा और राशन भी जुटाया जा रहा है।

प्रदेश की बिनैन खाप, ऊझाना खाप, दहिया खाप भी किसानों को समर्थन दे चुकी हैं। सर्व खाप अध्यक्ष एवं बिनैन खाप प्रधान नफेसिंह नैन का कहना है कि खाप के 52 गांवों में गांव स्तर पर कमेटियां बनी हैं। पूर्व उप-प्रधानमंत्री स्वर्गीय देवी लाल के पैतृक गांव चौटाला में जननायक यूथ क्लब आह्वान पर ट्रैक्टर मार्च किया गया और जन जागरण अभियान चलाया गया। डिप्‍टी सीएम दुष्‍यंत चौटाला व कैबिनेट मंत्री रणजीत सिंह का भी यह पैतृक गांव है।

भाकियू प्रदेशाध्यक्ष रतन मान के मुताबिक प्रदेश के हर गांव से 11 ट्रैक्टर जरूर जाएंगे। सभी में तिरंगा व किसानों का झंडा होगा। कुरुक्षेत्र के हर ब्‍लॉक से 300 से 400 ट्रैक्टर ले जाने का लक्ष्य है। यमुनानगर से 5000 ट्रैक्टर का टारगेट है। करनाल में ब्लॉक स्तर की कमेटी की ड्यूटी लगाई हुई है। हिसार से10 हजार ट्रैक्टर-ट्रालियां जाएंगी। झज्जर मेंखाप ने लोगों को जिम्मेदारी दे दी है। फतेहाबाद से भी करीब 3 हजार ट्रैक्टर परेड में शामिल होंगे।