मुर्दा अपने पैसे निकालने पहुंचा बैंक, कर्मचारियों के बीच मचा हड़कंप..!

3,327 views

बिहार के पटना जिले में एक बड़ा ही अजब-गजब मामला सामने आया है। कहा जाता है कि जब इंसान की सांसें छूट जाती हैं तो वह इसी संसार में अपना सबकुछ छोड़कर यहां से विदाई ले लेता है। लेकिन पटना जिले के शाहजहांपुर थाना क्षेत्र के सिगरियावा गांव में एक इसके उल्ट घटना सामने आ गई है। यहां एक मुर्दा खाते में जमा अपने धन को लेने के लिये यहां स्थित केनरा बैंक की शाखा में जा पहुंचा।

जानकारी के अनुसार, शाहजहांपुर थाना इलाके के सिंगारियावा गांव के रहने वाले ग्रामीण महेश यादव की बीते दिन मंगलवार को किसी बीमारी की वजह से मौत हो गई। उसके बाद ग्रामीणों ने बैंक खाते में जमा उसके धन को उसके शव के अंतिम संस्कार के लिये देने के लिये बैंक के समक्ष बात रखी। वहीं केनरा बैंक शाखा प्रबंधक संजीव कुमार ने आपत्ति जाहिर करते हुये उसके धन को ग्रामीणों को देने से इंकार कर दिया। इस बात से गुस्साये लोगों ने फिर उसके शव को बैंक में लाकर रख दिया। बैंक में करीब तीन घंटों तक महेश यादव का शव पड़ा रहा। जिसकी वजह से बैंक के अंदर अजीबो-गरीब स्थिति उत्पन्न हो गई। इस मामले की सूचना शाहजहांपुर पुलिस को दी गई। फिर मौके पर पुलिस भी पहुंच गई।

महेश यादव ने किसी को नहीं बनाया था नॉमिनी

अंत में शाखा प्रबंधन संजीव कुमार ने अपनी तरफ से ग्रामीणों को 10 हजार रुपये दिये। इसके बाद आक्रोशित लोग शांत हुये। फिर वे शव को बैंक से लेकर अंतिम संस्कार के लिये रवाना हुये। जानकारी के मुताबिक महेश यादव ने विवाह नहीं किया था। इस वजह से उनका कोई वारिस नहीं था। इसके अलावा उनका कोई संबंधी भी नहीं था। वहीं यहां की केनरा बैंक शाखा में उसके खाते में एक लाख 18 हजार रुपये जमा हैं। पर महेश यादव ने अपने खाते का नॉमिनी नहीं बनाया था। इस करण से शाखा प्रबंधक संजीव कुमार ने रुपये देने से मना कर दिया। इसके अतिरिक्त महेश यादव ने अपने खाते का जरूरी केवाईसी भी नहीं करवाया था। वहीं बैंक शाखा प्रबंधक का कहना है कि भविष्य में यदि महेश यादव के संबंधी या अन्य कोई वारिस उपस्थित होकर मामले से संबंधित पेपर दाखिल करेगा तो इस मामले में संभव एक्शन लिया जायेगा।