वीडियो/ एसडीएम हैं या किम जोंग..? मास्क नहीं लगाने पर बाल खींच कर युवक को ऑटो से निकाला.. ठेले वाले के चेहरे पर पानी मारा.. बात पहुंची सीएम तक; कलेक्टर ने किया पद मुक्त

2,086 views

ग्वालियर(मप्र)। मास्क नहीं लगाने वालों पर कार्रवाई करने निकले एसडीएम झांसी रोड अनिल बनवारिया को सड़क पर ‘दबंगई’ दिखाना महंगा पड़ गया। एसडीएम कथित तौर पर मर्यादा भूलकर हाथ-पैर चलाने लगे। इन घटनाओं की तस्‍वीरें और वीडियो वायरल हो गए। इसके बाद कांग्रेस के प्रदेश मीडिया प्रभारी केके मिश्रा ने एसडीएम को तानाशाह बताते हुए इन वीडियो को ट्वीट कर दिया। जानकारी जब सीएम तक पहुंची और कलेक्टर को फोन गए तो उन्‍होंने तत्काल बनवारिया को झांसी रोड एसडीएम पद से मुक्त कर एडीएम ऑफिस में अटैच कर दिया।

बनवारिया झांसी रोड एसडीएम पदस्थ थे। रविवार को सभी एसडीएम मास्क न लगाने वालों के खिलाफ पुलिस अफसरों के साथ सड़कों पर उतरे थे। इसी कवायद के तहत एसडीएम बनवारिया भी फिल्‍ड में उतरे थे। प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक, रविवार को एसडीएम ने फूलबाग पर टेंपो में बैठे युवक को मास्क नहीं लगाने पर बाल पकड़ कर खींच दिए। इस घटना की तस्‍वीरें वायरल हो गईं। कुछ ही घंटे बाद फूलबाग गुरुद्वारा के पास सिंघाड़े के ठेले वाले को टोका और उसके ठेले पर रखा पानी मग से उस पर फेंक दिया।

बताया जाता है कि एसडीएम बनवारिया फूलबाग पर अपने स्टाफ और पुलिसकर्मियों के साथ खड़े थे और टेंपो में झांक कर मास्क की चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान टेंपो में आगे ड्रायवर के बगल वाली सीट पर बैठे युवक को मास्क न लगाने पर टोका और उसके गर्दन के पास से बाल पकड़कर बाहर खींचने लगे।

एसडीएम हैं या किम जोंग

ठेले वाले पर पानी फेंकने वाले घटनाक्रम का वीडियो पोस्ट के साथ कांग्रेस के प्रदेश मीडिया प्रभारी केके मिश्रा ने ट्विटर पर पोस्ट किया।

इसमें लिखा कि मास्क न लगाने वालों पर कार्रवाई करने निकले एसडीएम बनवारिया को आया गुस्सा, सड़क पर बिना मास्क के सामान बेच रहे हाथ ठेले वाले के मुंह पर ठंड की दस्तक के बीच फेंका पानी। एसडीएम हैं या नार्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग…

साहब की सफाई..

इन घटनाओं पर डिप्टी कलेक्टर अनिल बनवारिया ने अपनी सफाई में कहा कि टेंपो में सवार युवक बिना मास्क था और उसे पुलिसकर्मी से बुलवाया तो नहीं आया था। उसे पीछे से पकड़कर बाहर उतार रहा था। इसके बाद ठेले वाले को रोड पर ठेला लगाने को लेकर टोका था और साइड से जाने की बात कहते हुए पानी के छींटे मारे थे।