2021 में सामान्य-सार्वजनिक अवकाश मिलाकर 98 दिन छुट्टी ! सबसे ज्यादा अप्रैल, अगस्त और अक्टूबर में…

1,242 views

रायपुर। साल 2021 का एक चौथाई वक्त छुट्टियों में बीतेगा। सालभर में सामान्य और सार्वजनिक अवकाश को मिलाकर करीब 98 छुट्टियां पड़ेंगी। यानी कर्मचारियों को 267 दिन ही काम करना होगा। इनमें से कई छुट्टियां ऐसी भी हैं जो सामान्य अवकाश के आगे पीछे हैं। ऐसे में कर्मचारियों को एक साथ 2 से 3 दिन लंबी छुट्टी भी मिल सकती है। सबसे ज्यादा छुट्टियां अप्रैल, अगस्त और अक्टूबर में पड़ेंगे क्योंकि इन महीनों में 3 से 4 त्याेहार पड़ेंगे। दरअसल, साल 2021 में 52 रविवार और सेकंड-थर्ड शनिवार की छुट्टियोंं को मिलाकर कर्मचारियों को कुल 76 सामान्य अवकाश इस साल मिलेंगे। इसके अलावा दफ्तरों के लिए जारी सरकारी अधिसूचना के मुताबिक कर्मचारियों को 23 सार्वजनिक अवकाश भी मिलेंगे। इनमें से 2 स्वतंत्रता दिवस और महावीर जयंती रविवार को पड़ रहे हैं। ऐसे में ये ये छुट्टियां सामान्य अवकाश में ही शामिल हो जाएंगी। हालांकि, ज्यादातर छुट्टियां वर्किंग डे पर पड़ेंगी, जबकि वीकेंड कम ही तीज-त्योहार पड़ेंगे। कह सकते हैं कि नया साल अपने साथ बहुत सी छुट्टियां भी ला रहा है। सबसे ज्यादा सार्वजनिक अवकाश 4-4 दिन गुरुवार और शुक्रवार को पड़ेंगे। इसके अलावा सालभर में 8 ऐच्छिक अवकाश ऐसे हैं, जो रविवार को पड़ रहे हैं। बता दें कि सरकारी कर्मचारियों को सिर्फ 3 ऐच्छिक अवकाश लेने की ही इजाजत होती है।

साल के बड़े त्योहार इन तारीखों पर
26 जनवरी मंगलवार गणतंत्र दिवस
11 मार्च गुरूवार महाशिवरात्रि
29 मार्च सोमवार होली
2 अप्रैल शुक्रवार गुड फ्राइडे
14 अप्रैल बुधवार अंबेडकर जयंती
21 अप्रैल बुधवार राम नवमी
25 अप्रैल रविवार महावीर जयंती
13 मई गुरूवार ईद उल-फितर
26 मई बुधवार बुद्ध जयंती
24 जून गुरूवार कबीर जयंती
20 जुलाई मंगलवार बकरीद
15 अगस्त रविवार स्वतंत्रता दिवस
22 अगस्त रविवार रक्षा बंधन
30 अगस्त सोमवार जन्माष्टमी
9 सितंबर गुरूवार तीजा
2 अक्टूबर शनिवार गांधी जयंती
15 अक्टूबर शुक्रवार विजयादशमी
19 अक्टूबर मंगलवार मिलादुन्नबी
4 नवंबर गुरूवार दीपावली
10 नवंबर बुधवार छठ पूजा
19 नवंबर शुक्रवार गुरु नानक जयंती
18 दिसंबर शनिवार गुरु घासीदास जयंती
25 दिसंबर शनिवार क्रिसमस

महापुण्यकाल में 14 को मनाई जाएगी मकर संक्रांति
मकर संक्रांति 14 जनवरी को है। इसमें पुण्यकाल सुबह 8.13 बजे से 12 बजे तक रहने वाला है। साथ ही महापुण्यकाल 8.13 बजे 8.30 बजे तक रहने वाला है। मकर संक्रांति पर्व सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने पर और सूर्य के उत्तरायण होने पर मनाया जाता है।

नई उम्मीदों का वर्ष… क्योंकि पुष्य नक्षत्र में शुरू हो रहा नया साल साथ लाएगा समृद्धि
शुक्रवार को पुष्य नक्षत्र में नववर्ष की शुरुआत हो रही है। ज्योतिषी इसे महत्वपूर्ण मान रहे हैं क्याेंकि वर्ष के पहले दिन पुष्य नक्षत्र पड़ने से नया साल पिछले वर्ष के कष्टों को समाप्त कर प्रगति कारक रहेगा। ज्योतिषाचार्य डॉ. दत्तात्रेय हाेस्केरे ने बताया कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नए साल की शुरूआत नक्षत्रों के राजा कहे जाने वाले पुष्य नक्षत्र में हो रही है जो सभी के लिए लाभदायक साबित होगा। उन्होंने कहा कि नव वर्ष 2021 देश के विकास के लिए काफी फायदेमंद रहेगा। नव वर्ष का सूर्योदय पौष कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि में हो रहा है। नववर्ष के पहले दिन चंद्रमा का संचार कर्क राशि में होगा। पुष्य नक्षत्र एक जनवरी 2021 को रात के 8.17 बजे तक रहेगा।