CM की बजट थीम ‘हाइट’ को पूर्व CM ने बताया खोखला, डरावना और सभी वर्गों से पूरी तरह अछूता..!! पढ़ें खबर…

रायपुर. विधानसभा में बजट पर सामान्य चर्चा शुरू हुई। इसमें विपक्ष के तीखे तेवर देखने को मिले। चर्चा के दौरान कई बार सत्ता और विपक्ष के बीच वाद-विवाद की स्थिति भी बनी। चर्चा की शुरुआत करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह (Former Chhattisgarh CM Raman Singh) ने हाइट को परिभाषित करना शुरू किया।

उन्होंने इस बजट को खोखला, डरावना और सभी जाति-वर्गों से अछूता बताया। डॉ. रमन ने कहा कि अधिकारियों ने जो हाइट समझी और जिसे जनता ने जाना उसमें बहुत अंतर है। सरकार के वित्तीय घाटे में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। सरकार की आमदनी अठन्नी और खर्चा ज्यादा है।

प्रमुख मुद्दों पर सवाल-जवाब
बिजली बिल हाफ- बीजेपी विधायक पुन्नूलाल मोहिले ने बिजली बिल हाफ पर सवाल किया तो सीएम ने जवाब दिया। कहा कि अब तक 38.68 लाख उपभोक्ताओं के 1271 करोड़ रुपए हाफ किए गए हैं

भारतनेट परियोजना फेस2- विधायक अजय चंद्राकर ने ग्राम पंचायतों में भारतनेट योजना के तहत ब्रॉड देरी क्यों हुई? जिस पर सीएम ने कहा कि अनेक कारण हैं। एक साल में कार्य पूरा होना था और काम नहीं होने पर पेनाल्टी लगाई जाती है। नोटिस दिया है व भुगतान भी रोक दिया है।

यह केवल दुर्ग संभाग का बजट- अजय चंद्राकर
सरकार का गेयर बॉक्स फंस गया है। क्या डे भवन हवा में बनेगा? पौनी पसारी योजना शुरू की गई, मगर इसे आज तक परिभाषित नहीं किया गया। यह बजट प्रदेश का नहीं बल्कि दुर्ग संभाग का बन गया है। मेडिकल कॉलेजों की घोषणा की गई है, यह केंद्र की परिवर्तित योजना है। यह कट मनी, पैकेट मनी का बजट है।

Read More

Chhattisgarh

एयरपोर्ट के साथ-साथ रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्डों और अंतर्राज्यीय सीमाओं पर बाहर से आने वाले यात्रियों की कड़ाई से टेस्टिंग के मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश..!आवश्यक दवाईयों की कालाबाजारी पर होगी कड़ी कार्रवाई…!

Raigarh

रायगढ़/ मेडिकल अपशिष्ट निपटान में बड़ी लापरवाही हुई उजागर, एनजीटी के आदेशों और मापदंडों की उड़ रही धज्जियां, कोरोना संक्रमण फैलने का बना है बड़ा खतरा.. जिला प्रशासन नहीं दे रहा इस ओर ध्यान.. देखें वीडियो..!