Chhattisgarh News

डबरी किनारे मिली थी काली जींस और टीशर्ट में 21 साल की ‘आश्मा’ की लाश! शादी करने निकले थे दोनों, रास्ते में हुआ झगड़ा और फिर मिली तड़पती हुई भयानक मौत..

बलौदाबाजार। 2 जुलाई को जिले में डबरी किनारे मिली युवती की लाश मामले में हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ है। असल में उसकी हत्या की गई थी। मर्डर किसी और ने नहीं, बल्कि उसके ही बॉयफ्रेंड ने किया था। दोनों साथ में शादी करने के लिए निकले थे। मगर रास्ते में दोनों के बीच विवाद हो गया। जिसके बाद युवक ने लड़की पर रॉड से हमला कर दिया, फिर तड़पता हुआ उसे वहीं छोड़कर भाग गया था। मामले में पुलिस ने आरोपी युवक को अरेस्ट कर लिया है। मामला पलारी थाना क्षेत्र का है।

wp 1688525549281
डबरी में मिली लाश

गिधपुरी पलारी मार्ग से करीब 100 मीटर अंदर कौड़िया गांव का मुक्तिधाम है। यहां रविवार सुबह लोग अपने-अपने खेतों पर गए हुए थे। इसी दौरान एक शख्स डबरी तक गया, तब उसे बदबू आई। इस पर वह पास तक गया। जिसके बाद उसने देखा कि डबरी किनारे एक युवती का शव पड़ा हुआ है।

आधार कार्ड से हुई पहचान

आस-पास कुछ कुत्ते भी घूम रहे थे। लड़की का शव औंधे मुंह जमीन पर पड़ा था। इसके बाद लोगों की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस की टीम पहुंची। फिर फॉरेंसिक की टीम को भी घटनास्थल पर बुलाया गया था। इसके बाद पुलिस ने मामले में जांच शुरू की।

wp 1688525670077
3 दिन पुरानी लाश

शुरुआत में पुलिस को युवती के बारे में जानकारी नहीं मिल पा रही थी। इस बीच फॉरेंसिक की टीम ने युवती के शव की पड़ताल की। इस पर उसके जेब से पुलिस को उसका आधार कार्ड मिला था। आधार कार्ड के आधार पर ही युवती की पहचान तूरमा निवासी आश्मा मनहरे पिता धरम मनहरे (21) के रूप में की थी।

4 साल से प्रेम प्रसंग था

शव की पहचान होने पर युवती के परिजनों को इस बारे में जानकारी दी थी। सूचना मिलने पर परिजन मौके पर पहुंचे। उनसे पूछताछ की गई थी। पूछताछ में पता चला कि आश्मा का प्रेम प्रसंग पास के मिर्गी गांव के रहने वाले दिनेश सेन पिता जितेंद्र सेन (22साल) से चल रहा था। परिजनों ने बताया कि दोनों के बीच लगभग 4 साल से संबंध था।

wp 1688525657504
मृतिका आश्मा मनहरे

घर में था बॉयफ्रेंड

उन्होंने बताया कि लड़की 29 जून की रात से गायब थी। हमने पता करने के लिए परिजनों से पूछताछ की थी। प्रेमी दिनेश सेन के घर भी गए थे। मगर वह घर में था। इस वजह से उन्हें दिनेश पर शक नहीं हुआ। इसके बाद उन्होंने मामले की शिकायत भाटापारा ग्रामीण थाने में की थी।

wp 1688525812020
प्रेमी और क़ातिल दिनेश सेन

आरोपी ने क्या कुछ बताया.. वह पढ़िए..

परिजनों के बयान के आधार पर पुलिस ने आरोपी दिनेश को हिरासत में लिया था। हिरासत लेकर जब दिनेश से पूछताछ की गई, तब दिनेश ने बताया कि “29 तारीख की रात को आश्मा का फोन आया था। वो मुझसे शादी करने के लिए कह रही थी। मैंने उसे समझाया कि अभी नहीं करते, मगर वह नहीं मानी।”

दूसरे लड़के से बात करने का शक था

“इसके बाद मैं रात को ही उसके घर गया। फिर वो मेरे साथ आ गई। हम दोनों बाइक से ही रायपुर जा रहे थे। इस बीच रास्ते में मुक्तिधाम के पास मेरा विवाद हो गया उससे। असल में मुझे शक था कि वो किसी और लड़के से बात करती है। इसलिए मैंने उससे इतना ही पूछा था, लेकिन इसी बात को लेकर हमारा काफी झगड़ा हो गया।”

wp 1688525731572
हिरासत में दिनेश

आरोपी ने बताया कि ‘झगड़ा इतना बढ़ गया कि मैं रोड से अंदर मुक्तिधाम में गया। वहां मैंने बाइक में पहले से ही रखी रॉड निकाली और आश्मा पर कई वार किए। इससे वह खून से लथपथ होकर वहीं गिर गई थी। वह तड़प रही थी। मगर मैंने वहां से भागना ही ठीक समझा। उसे तड़पता हुआ डबरी के पास छोड़कर फरार हो गया। इसके बाद से मैं घर में ही था। पुलिस ने इस बयान के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।’

फॉरेंसिक की टीम ने इलाके को सील कर दिया था।
फॉरेंसिक की टीम ने इलाके को सील कर दिया था।

भाई से थी पहचान, इसी वजह से घर आना-जाना बढ़ा

बताया गया है कि आरोपी दिनेश गांव में ही सैलून चलाता था। इस वजह से उसकी पहचान आश्मा के भाई से हो गई थी। भाई से पहचान होने के कारण वह युवती के घर जाया करता था। इस वजह से दोनों के बीच प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। उधर, युवती बलौदाबाजार कॉलेज में BSC की छात्रा थी। वह अपने घर में सबसे छोटी थी। बाकी भाई-बहन की शादी हो चुकी थी। उसके पिता की 4 साल पहले मौत हो चुकी थी।

Back to top button

you're currently offline