कोरोना संक्रमितों की जल्द पहचान और इलाज सुनिश्चित करने स्वास्थ्य सुरक्षा अभियान : सप्ताह में दो दिन घर-घर जाकर सर्वे करेंगी मितानिनें, 31 दिसम्बर तक चलेगा अभियान..!!

  • स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने लोगों से की अपील, खुलकर बताएं एवं जल्दी जांच कराएं

रायपुर, 2 नवम्बर। प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की जल्द पहचान कर उनका इलाज सुनिश्चित करने स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य सुरक्षा अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत ग्रामीण एवं शहरी दोनों क्षेत्रों की मितानिनें हर बुधवार और गुरूवार को घर-घर जाकर कोरोना के लक्षण वाले व्यक्तियों की पहचान करेंगी। मितानिनों की रिपोर्ट के आधार पर विभाग द्वारा उनके स्वाब सैंपल की त्वरित जांच और पॉजिटिव पाए जाने पर उपचार की तत्काल व्यवस्था की जाएगी। यह अभियान 31 दिसम्बर 2020 तक संचालित किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने लोगों से कोरोना से संबंधित लक्षणों के बारे में खुलकर बताने और जल्दी जांच कराने की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की जल्द पहचान होने और शीघ्र इलाज मिलने से इससे होने वाली मृत्यु को कम किया जा सकता है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि स्वास्थ्य सुरक्षा अभियान के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने के लिए प्रदेश भर की 72 हजार से ज्यादा मितानिनों एवं अन्य सपोर्ट स्टॉफ को प्रशिक्षण दिया गया है। प्रशिक्षित मितानिनों द्वारा विगत 28 अक्टूबर तक प्रदेश के कुल 35 लाख 17 हजार से अधिक घरों में कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों की पहचान के लिए सर्वे किया गया है। इस दौरान कोरोना से मिलते-जुलते लक्षणों वाले 61 हजार 195 व्यक्तियों की पहचान मितानिनों द्वारा की गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इन चिन्हांकित लोगों के सैंपल की जांच की जा रही है। मितानिनें घर-घर जाकर बुखार, सर्दी, खांसी, सांस लेने में परेशानी, सूंघने या स्वाद की शक्ति में कमी आने, दस्त और उल्टी होने तथा बदन दर्द जैसे लक्षणों वाले लोगों की सूची बना रही हैं। इस तरह के लक्षण वाले व्यक्तियों को शीघ्र जांच के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है।