रोजगार कार्यालय में रजिस्ट्रेशन कराने उमड़ी सैकड़ो की भीड़! मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग भी भूले लोग! जिले में कोविड नियमों की खुलेआम उड़ाई जा रही है धज्जियां! प्रशासन के पास भीड़ रोकने कोई ठोस रणनीति नहीं ? पढ़िए पूरी खबर..!

1,055 views

जशपुर, 25 जून। कोरोना की दूसरी लहर से छत्तीसगढ़ की क्या दुर्दशा हुई है यह किसी से छुपा नहीं है। कोरोना वायरस से बचने के लिए कोविड-19 नियमों की अनदेखी करना पूरे देश को कितना भारी पड़ा है यह हम सभी देख चुके हैं। कोरोना के भयानकता को जानते हुए भी लोग बेहद लापरवाही बरत रहे हैं। आज ऐसे ही भीड़ जिले के रोजगार कार्यालय में नजर आई जहां कोरोना के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गयी है।

मिली जानकारी के अनुसार जशपुर जिले के रोजगार कार्यालय में रजिस्ट्रेशन कराने भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। पब्लिक ने कोरोना नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई और इस दौरान कई लोग मास्क के बिना भी दिखाई दिए हैं। दरअसल, जशपुर जिले में 7 विकासखंड मनोरा, दुलदुला, कुनकुरी, बगीचा, फरसाबहार, कांसाबेल और पत्थलगांव में स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल के लिए संविदा पर शिक्षकों और कर्मचारियों की नियुक्ति की जानी है। इसमें व्याख्याता के 56 पद के लिए इन सातों स्कूलों में विभिन्न विषयों पर भर्ती होनी है।

जिले में स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल के लिए शिक्षकों की भर्ती होनी है इसलिए रजिस्ट्रेशन के लिए उमड़ी भीड़

इसी प्रकार शिक्षकों के लिए 42 पद, सहायक शिक्षक के 35 पद समेत कुल 245 पदों फर भर्तियां होनी है। आवेदन करने की अंतिम तारीख 30 जून है। आवेदन करने रोजगार कार्यालय में पंजीयन कराना भी अनिवार्य है। यही कारण ही लोग सोशल डिस्टेंसिंग भूल पंजीयन कराने कार्यालय में शुक्रवार को इकट्‌ठा हो गए थे। जशपुर में संडे लॉकडाउन रहता है और कल शनिवार है इस वजह से आज रजिस्ट्रेशन कार्यालय में सैकड़ों के बीच कोरोना वायरस को न्यौता देते हुए नजर आई। जशपुर जिले में कोरोना नियमों की अनदेखी का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी जिले में इस तरह का मामले सामने आते रहे हैं।

मंत्री अमरजीत के जन्मदिन पर समर्थकों ने कोविड-19 प्रोटोकॉल की उड़ाई थी धज्जियां फिर भी कुछ नहीं हुई कार्यवाही

प्रदेश के खाद्म एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत के जन्मदिन पर अंबिकापुर में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कोरोना नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई थीं। कार्यकर्ताओं ने उस रात बीच चौक पर मंच बनाया और जमकर नाच-गाना गिया था। हालांकि मंत्री ने सुबह पौधरोपण और जरूरतमंदों को सामान बांटकर सादगी से जन्मदिन मनाया था इस कार्यक्रम में मंत्री नहीं शामिल हुए थे। फिर भी उनके समर्थ रात तो जश्न मनाते रहे थे। अब तक उनके समर्थकों के ऊपर प्रशासन ने कोई कार्यवाही भी नहीं की है।

रजिस्ट्रेशन कराने लंबी लाइन कई लोगों ने मास्क भी नहीं लगाया था।

लापरवाही बरतते हुए शादी में 60 लोग शामिल हुए थे

2 माह पूर्व जब कोरोना वायरस का प्रकोप जिले में चरम पर था उस वक्त भी लापरवाही का आलम था।जिले में टिकैतगंज गांव शादी समारोह में 60 लोग शामिल हो गए थे। जिसकी वजह से पुलिस ने परिवार पर FIR भी दर्ज किया था। इसी तरह लापरवाही बरतने पर दूसरे परिवारों पर भी जुर्माना लगाया गया था। उस दौरान शादी समारोह में केवल 10 लोगों को ही शामिल होने अनुमति थी।

बहरहाल जिले में कोरोना संक्रमण जरूर कम हुआ है, लेकिन इस तरह की लापरवाही से संक्रमण बढ़ सकता है।  जिले में अब तक 26,286 कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई है। जबकि जिले में कोरोना की वजह से 205 मरीजों की जान जा चुकी है। जोधपुर जिले में जरा सी लापरवाही कोरोना वायरस की रफ्तार को बढ़ाने में सहायक सिद्ध हो सकती है इसलिए जिले वासियों को एवं जिला प्रशासन को ऐसे भीड़ भाड़ को कम करने तथा कोविड-19 धज्जियां उड़ाने वालों पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए।

Read More

Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ / नई आफत की आहट..! मासूमों पर मंडराने लगे हैं संकट के बादल..! 80 बच्चे अस्पताल में भर्ती, 20 ऑक्सीजन सपोर्ट पर ! 3 बच्चों की हो चुकी है मौत ! सर्दी, खांसी और बुखार की शिकायत..! बेड फुल… जमीन पर चल रहा इलाज..! पढ़ें खबर..