चार दिनों के भीतर तमनार क्षेत्र में लूट की दो बड़ी वारदात ! क्षेत्र में बाइक सवार लुटेरों का आतंक ! पुलिस के हाथ अब तक खाली ! बीती रात लूटा एक रायगढ़ के व्यवसाई को..

रायगढ़/तमनार। रायगढ़ जिले के तमनार क्षेत्र में लूट की दो बड़ी वारदात चार दिन के भीतर हुई है। चोरों के हौसले कितने बुलंद है। इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि वह दिन और रात भी नहीं देखते! 10 सितंबर को जहां लुटेरों ने दिनदहाड़े 40 हजार की रकम एक बुजुर्ग से लूट कर ले गए।  वहीं दूसरी तरफ एक और बुजुर्ग से कल रात 12:00 बजे के करीब लूट का शिकार हुआ है। लूटेरे ने उनके पास से ₹97000 कैश लूट कर ले गए।

पीड़ित जनकराम बानी ने बताया कि वह रायगढ़ में रहता है और आलू प्याज का व्यापार करता है। इसी सिलसिले में उसका तमनार क्षेत्र में आना जाना होता है। बीती रात बाजार से वापसी के समय करीब रात के 12:00 बज गए थे। जहां उसने ढाबे में खाना खाया और अपनी खलासी के साथ रायगढ़ के लिए निकल गया। मगर रास्ते में झींगोल गांव के प्रतिक्षालय  के पास ब्रेकर पर अपनी गाड़ी धीमी की। तभी पीछे से तीन बाइक सवार आए और डरा धमका कर उससे बैग लूटकर ले गये। जिसमें ₹97000 नकद, बही खाता और एटीएम वगैरह थे। पीड़ित इतना सहमा हुआ था कि वह सीधे पूंजीपथरा के रास्ते रायगढ़ की ओर निकल गया और अगले दिन सुबह 11:00 बजे इसकी रिपोर्ट तमनार थाने में दर्ज कराई।

Advertisement

ऐसी ही एक वारदात 10 सितंबर को दिनदहाड़े दोपहर 12:30 बजे हुई थी। जो अभी तक अनसुलझी है। यहां पर एक पिता शिवचरण निषाद और पुत्र तेजराम निषाद तमनार ग्रामीण बैंक से पैसा निकाल कर वापस घर के लिए जा रहे थे। तभी दो बाइक सवार वहां पहुंचे और उनसे ₹40000 की रकम लूट कर फरार हो गए। अभी तक पुलिस इस गुत्थी को सुलझा नहीं पाई थी कि 4 दिन के बाद एक और दूसरी बड़ी घटना हो गई। दूसरी घटना की जानकारी होने के बाद पूरे तमनार क्षेत्र में इन लुटेरों का आतंक लोगों के सर चढ़कर बोल रहा है।

10 सितंबर को पिता पुत्र के साथ हुई घटना के मामले में पुत्र ने पुलिस को बताया कि वह आरोपियों को पहचान सकता है। शायद पुलिस ने आरोपियों की पहचान में उतनी मुस्तैदी नहीं दिखाई। जिस कारण लुटेरों के हौसले और बढ़ गए हैं वरना घटना के चंद दिनों के बाद ही एक और बड़ी घटना को सामने नही आती। फिलहाल लुटेरे के बढ़ते हौसलों और तमनार पुलिस के ढुलमुल रवैए को देखकर लगता है अगर अब भी मुस्तैदी नहीं की गयी तो जल्दी एक और इस तरह की घटना सामने जा आए तो, कोई बड़ी बात नहीं। इसके पहले भी तमनार मे कई लूट पाट की घटना हुई है। जिनमें से ज्यादातर अब तक अनसुलझी है।