छत्तीसगढ़ / मछली चोरी का आरोप… गांव के दबंगों ने पंडो जनजाति के आठ लोगों को पेड़ से बांधकर की पिटाई…!35 हजार रुपये जुर्माना भी ठोंका..! जानें क्या है मामला.. पढ़ें पूरी खबर..

2,053 views

बिलासपुर-अंबिकापुर। बलरामपुर जिले के त्रिकुंडा थाना क्षेत्र के ग्राम चेरा में तालाब से मछली चोरी के आरोप में आठ पंडो युवकों को गांव के ही कुछ लोगों पेड से बांधकर बेदम पीटा। पंचायत की बैठक बुलाकर मछली चोरी के आरोप में 35 हजार रुपये जुर्माना भी ठोंक दिया है। पीडित युवकों को थाने ना जाने की धमकी भी दी गई। युवक घरों में सहमें बैठे रहें। इसी बीच मारपीट की घटना किसी ने इंटरनेट मीडिया पर वीडियो वायरल कर दिया।

जिसके बाद पुलिस हरकत में आ गई है। पंडो आदिवासी संरक्षित अनुसूचित जनजाति वर्ग की श्रेणी में आते हैं। इनका कुनबा धीरे धीरे सिमटने भी लगा है। केंद्र सरकार ने इसके रहन सहन और जीवन यापन की विशेष व्यवस्था का भी प्रावधान किया है।

घटना 15 जून की बताई जा रही है जब चेरा गांव के सरपंच पति सत्यम यादव एवं जेपी यादव सहित अन्य लोगों ने गांव के पंडो जनजाति के नाबालिक बच्चों सहित आठ लोगों पर मछली चोरी के शक में पंचायत की बैठक कर हाथ, बेल्ट से बांधकर जमीन में लिटा कर डंडे से मारपीट की वहीं पेड; से बांधकर भी डंडों से पिटाई की गई।

यही दबंगों के द्वारा पंचायत के दौरान गाली गलौज भी की गई।घटना से भयभीत पंडो जनजाति के लोग शिकायत करने पुलिस तक नहीं पहुंचे। चौकी प्रभारी आरएन पटेल शिकायत आने का इंतजार करते रहे इधर इंटरनेट मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद जैसे ही उच्चाधिकारियों के संज्ञान में मामला आया एसपी रामकृष्ण साहू के निर्देश पर एसडीओपी डा ध्रुवेश जायसवाल चेरा गांव पहुंचे है। उनके निर्देश पर एफआईआर दर्ज कर लिया गया है।कुछ आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है।शाम तक विस्तृत जानकारी सामने आएगी।

35-35 हजार का लगाया जुर्माना..

गांव के दबंगों के द्वारा पंडो जनजाति के लोगों के साथ बेदम पिटाई तो की ही गई साथ ही पिटाई के बाद 35 – 35 हजार का जुर्माना सभी पर लगाते हुए जुर्माने की रकम सरपंच पति सत्यम यादव के पास जमा करने फरमान सुनाया गया है। एक व्यक्ति से पांच हजार रूपये वसूल करने की भी शिकायत सामने आई है।

घर से उठा ले आया पंचायत की बैठक में

चेरा गांव के दबंगों के द्वारा पंडो जनजाति के लोगों पर आरोप लगाकर जबरदस्ती पंचायत करने के लिए घर से उठाकर लाया गया।यहां गांव के कुछ और लोगों को एकत्रित कर रखा गया था।कानून और मानवीय संवेदनाओं को ताक पर रखकर सभी पर चोरी का आरोप लगा दिया गया।गांववालों से ही पिटाई भी कराई गई।

शासकीय तालाब में पाल रखी है मछली

चेरा गांव में एक शासकीय तालाब है जहां दबंगों के द्वारा मछली पालन गैरकानूनी रूप से किया जा रहा था। दबंगों को शक था कि पंडो जनजाति के लोगों के द्वारा मछली मार लिया गया है जिसके बाद इनका कहर पंडो जनजाति के लोगों पर टूटा है।अब सभी पुलिस की कार्रवाई के घेरे में आ गए है।

Read More