पबजी खेलते हुए आया इतना गुस्सा की कर दी 11 साल के बच्चे की हत्या.. पलंग के नीचे छिपाया शव..!!

पबजी गेम का भूत अब भी लोगों के दिमाग से नहीं उतरा है। अभी तक हमने सुना था कि पबजी गेम में बताए गए टास्क और स्टंटों ने कई बच्चों की जान ले ली, लेकिन गुजरात में तो एक नया ही मामला सामने आया है। पांडेसरा में पबजी गेम खेलने के झगड़े में 19 साल के युवक ने 11 साल के नाबालिग की गला घोंटकर हत्या कर दी है। देर रात तक नाबालिग के घर न लौटने पर परिवार वालों ने पांडेसरा थाने में अपहरण और हत्या की शिकायत दर्ज कराई। पांडेसरा पुलिस ने आशंका के आधार पर एक युवक से पूछताछ की तो राज खुला।

शव छिपाया पलंग के नीचे और चप्पल बोरी में

जानकारी के अनुसार झारखंड का मूल निवासी और जीवनदीप सोसाइटी में रहने वाले अमन ने 11 साल के आकाश तिवारी की हत्या करके शव को पलंग के नीचे चादर में छिपाकर रख दिया और घर से बाहर चला गया। अमन ने नाबालिग का चप्पल बोरी में छिपा दिया। हत्यारे का रूम पार्टनर सोनू रात में नौकरी करके वापस आया, खाना बनाकर खाने के बाद सोने के लिए पलंग के नीचे से चादर निकाली तो शव देखकर घबरा गया और पड़ोसियों को बुलाया।

हत्या के बाद परिजनों के साथ करने लगा तलाश

परिजन हत्यारे के घर के आसपास ही बेटे को खोज रहे थे। हत्यारा भी उनके साथ हो लिया और तलाश में जुट गया, ताकि किसी को उस पर शक न हो। मृतक के घर से आरोपी का घर 30 से 40 मीटर की दूरी पर है। हत्यारे ने रूम पार्टनर के सोने के बाद रात में शव को ठिकाने लगाने की पूरी योजना बना रखी थी।

कहा- पराठा बनाकर रखना में दो मिनट में आता हूं

नाबालिग की मां ने बताया कि सुबह 11 बजे मैं खाना बना रही थी। आकाश नहाकर तैयार हो गया। आकाश ने कहा कि पराठा बना कर रखना दो मिनट में आता हूं। इतना कहकर चला गया। देर तक आकाश नहीं आया तो चिंता होने पर सभी लोग उसे खोजने लगे। तभी रात 11 बजे अमन के घर से आकाश का शव मिला। मां ने बताया कि लॉकडाउन में तीन महीने पहले ही हम घर बदलकर यहां रहने आए थे। मैंने कई बाद आकाश को पुराने घर की ओर से जाने से मना किया था, पर वह नहीं माना।

पिता बोले- बर्थडे पर बेटे को साइकिल गिफ्ट करने वाला था

बेटे की मौत से आहत पिता ने बताया कि अगले महीने आकाश का बर्थडे था। मैं उसे साइकिल गिफ्ट करने वाला था। मैं पांडेसरा में गुजरात हाउसिंग बोर्ड के हीरा नगर में किराए के मकान में रहता हूं और सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता हूं। आरोपी बता रहा है कि पबजी गेम खेलते समय आकाश ने कॉइन ट्रांसफर कर लिया था, जबकि मेरा बेटा मोबाइल लेकर नहीं गया था।

छोटी-छोटी बातों पर हाथ काट लेता था आरोपी

पड़ोसी अमित ने बताया कि आरोपी अमन पहले ऊपरी मंजिल पर रहता था और आकाश उसका पड़ोसी था। तीन महीने पहले ही अमन नीचे के कमरे में रहने आया है। आकाश का परिवार दूसरी जगह चला गया। वहीं एक अन्य पडोसी चिंटू ने बताया कि अमन छोटी-छोटी बात पर अपना हाथ काट लेता था। ऐसी हरकतें वह कई बार कर चुका है।

लाश को भी लगाने वाला था ठिकाने

पुलिस पूछताछ में आरोपी अमन ने बताया कि आकाश पबजी गेम खेलते समय उसके मोबाइल से कॉइन ट्रांसफर कर रहा था। इसी गुस्से में गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को बेड के नीचे छिपा दिया और किसी को शक न हो इसलिए परिवार के साथ तलाश करता रहा। उसने बताया कि रूम पार्टनर के सोने के बाद रात में वह शव को ठिकाने लगाने वाला था लेकिन उसका राज खुल गया।

Read More

Raigarh

RIG Breaking : जनपद पंचायत तमनार के पंचायत सचिव व रोजगार सहायक पहुंचे कलेक्ट्रेट.. मुख्य कार्यपालन अधिकारी के कृत्यों से परेशान होकर ट्रांसफर कराने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन..! रिकॉर्ड जांच कर मोटी रकम वसूलने का लगाया गंभीर आरोप.. मांगे पूरी नहीं होने पर सामूहिक त्यागपत्र देने को होंगे मजबूर… पढ़ें पूरी खबर