रायगढ़ / बाइकर्स गिरोह लुटपाट में मस्त, पुलिस पस्त, जनता त्रस्त ! सराईटोला का पंचायत सचिव हुआ लूटपाट का शिकार ! 50 हज़ार कैश लूटकर भागे लुटेरे ! तमनार पुलिस लुटेरों से कोसो दूर !

रायगढ़ “सावधान” आप रायगढ़ में हैं ! हम ऐसा इसलिए कह रहे है क्योंकि यहां कभी भी कहीं भी उठाई गिरी और लूटपाट के शिकार आप भी हो सकते हैं। जिले में लगातार बढ़ रही लूटपाट और उठाई गिरी के मामले से लोग बाग अब भयभीत होने लगे हैं, लोग बाग डर के साए में जीने को मजबूर हो रहे हैं। रायगढ़ शहरी क्षेत्र में जहां की दो वारदात चर्चा में है। जिसमें एक महिला दुकान से सामान लेने गई थी, जब वापस आए तो उसकी गाड़ी की डिक्की से करीब ढाई लाख की रकम पार हो गई थी। इसी तरह पिछले दिनों दुकान बंद कर वापस जा रहे एक व्यापारी से उसके दुकान के सामने ही करीब ढाई लाख रुपए की उठाईगिरी हुई। ग्रामीण क्षेत्र में भी पिछले कुछ महीनों में लूटपाट उठाईगिरि की कई वारदातें हुई है। जिसमें तमनार का नाम सबसे पहले आता है। लगातार बढ़ रहे अपराधिक गतिविधियों पर पुलिस की विफलता इस तरह की वारदातों का मजबूत कारण बन रही है।

पंचायत सचिव हुआ लूटपाट का शिकार

तमनार थाना क्षेत्र से कल एक और लूटपाट का मामला सामने आया हैं। जिसमे आरोपियों ने एक पंचायत सचिव को निशाना बनाया। लूट गिरोह ने पंचायत सचिव से 50 हजार नगद व पासबुक लूट भागे। पीड़ित सचिव की शिकायत पर तमनार थाने में अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध धारा 392, 34, के तहत मामला दर्ज किया गया है।

सुनसान जगह में दिया घटना को अंजाम

पीड़ित सचिव तेजराम पटेल ने बताया है कि वह सराईटोला में पंचायत सचिव है। जो कल 1:30 बजे जेपीएल तमनार स्थित स्टेट बैंक से ₹50000 नगद निकालकर थैले में रख कर जा रहा था। जब वह ग्राम पंचायत गारे से निकलकर खमरिया व गारे के बीच पढ़ने वाला कोसा बाड़ी के पास पहुंचा था। जहां बाइक सवार दो अज्ञात युवक आए और झटके से पैसों से भरे थैला को खींचकर फरार हो गए। थैले में पैसों के अलावा पासबुक व कुछ अन्य खाद्य सामग्री था। आपको बता दें कि कोसा बाड़ी का यह एरिया दोपहर में सुनसान रहता है। जहां लुटेरों ने धावा बोल दिया।

तमनार क्षेत्र में बढ़ रहा लूटपाट का मामला

वैसे देखा जाए तो रायगढ़ लूटपाट, चोरी, डकैती चाकूबाजी का गढ़ बनता जा रहा है। हर हफ्ते किसी न किसी थाना क्षेत्र से लूटपाट के मामले सामने आ रहे हैं लगातार जिले में अपराधिक गतिविधियां घटित हो रही हैं। परंतु तमनार थाना क्षेत्र लूटपाट के मामलों में एकाएक रिकॉर्ड बनाती जा रही है। एक मामला सुलझा नहीं रहता है और लूटपाट का कोई दूसरा मामला कुछ ही दिनों में सामने आ जाता है। कुछ माह के अंतराल में लगातार लूटपाट के 4 मामले सामने आए हैं। जिसमें 2 मामलों में पुलिस को आरोपियों को पकड़ने में सफलता मिली है।

अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर आरोपी

कुंजेमुरा निवासी तेजराम निषाद से हुए 40000 के लूट में पुलिस को अभी भी आरोपी हाथ नहीं लगे हैं। सितंबर माह में जब तेजराम और उसके पिता बैंक से पैसा निकाल कर नन्हा कंप्यूटर के सामने खड़े थे। तभी पल्सर सवार दो अज्ञात युवक लूटपाट की घटना को अंजाम दिए थे और ₹40000 लूटकर फरार हो गए थे।

क्षेत्र से भलीभांति परिचित लगते हैं आरोपी

पिछले मामले और अभी कल घटित हुए लूटपाट के मामले में आरोपियों द्वारा लूट के एक ही तरीकों से घटना को अंजाम दिया गया है। पिछली घटना में भी आरोपियों ने सीसीटीवी से दूर घटना को अंजाम दिए थे तो वहीं इस घटना में भी आरोपियो ने घटना के लिए सुनसान जगह को चुना।

Read More