रायगढ़/ सुने मकान से सोने,चांदी सहित नगदी पर किया गया था हाथ साफ..!! कबाड़ बीनने वाले 3 बच्चों के रहन-सहन, नए- नए कपड़े पहनने व मोबाइल पकड़ने से ग्रामीणों को हुआ शक… और अंत मे वही निकले चोर..! पढ़े कैसे दिए चोरी की वारदात को अंजाम..!!

रायगढ़। पुलिस चौकी खरसिया स्टाफ द्वारा एसडीओपी खरसिया श्री पीतांबर पटेल के मार्गदर्शन में डबरा रोड पर सूने मकान से हुए बड़ी चोरी का खुलासा आज पुलिस चौकी खरसिया में एसडीओपी खरसिया द्वारा किया गया है । चौकी खरसिया पुलिस ने चोरी में शामिल 3 युवक, 04 नाबालिक व चोरी की संपत्ति के खरीददार कबाड़ी को गिरफ्तार किया गया है । आरोपियों से सोने, चांदी के जेवरात, चांदी के सिक्के, बर्तन, आर्टिफिशियल, नगदी समेत ₹3,53,000 की बरामदगी की गई है।

एसडीओपी श्री पीतांबर पटेल ने प्रेसवार्ता में बताएं कि खरसिया क्षेत्र में हुई चोरी की पतासाजी के लिए मुखबिरों के साथ चौकी खरसिया एवं थाना स्टाफ को सूचना तंत्र मजबूत किए जाने के निर्देश दिए गए हैं । कुछ दिनों पहले स्टेशन के आसपास कबाड़ बीनने वाले 3 बच्चों के रहन-सहन में एकाएक बदलाव आया, वे नए कपड़े व मोबाइल के साथ दिखे तब कुछ लोगों ने उन्हें चोरी में शामिल होने की शंका जताकर चौकी प्रभारी को सूचना दिए जिस पर चौकी प्रभारी खरसिया उपनिरीक्षक नंद किशोर गौतम तीनों बच्चों को बुलाकर बड़ी चतुराई से पूछताछ किए । पहले तो बच्चों ने टालमटोल कर पुलिस अंकल को गुमराह करने का प्रयास किये, अंततः वे बताएं कि उन्होंने डबरा रोड स्थित एक मकान को काफी दिनों से बंद देखे और अपने परिचित शिवा उर्फ सैययद और गोविंदा को बताए । तब शिवा और गोविंदा इस चोरी में अपने एक और साथी सहबाज खान को शामिल किये ।

27 जुलाई की रात्रि शिवा, नाबालिग बच्चों सहित 07 लोग मिलकर डभरा रोड स्थित लोकनाथ केडिया के मकान पहुंचे । शिवा ने तीन नाबालिग लड़कों को घर के दूर खड़ा किया ताकि कोई आये तो वे इशारा करें । उसके बाद शिवा, गोविंदा, साहबाज और एक 17 वर्षीय अपचारी बालक सूने मकान अंदर घुसे । मकान को पूरी तरह खंगालने के बाद वहां रखे सोने-चांदी के जेवरात, बर्तन, आर्टिफिशियल सामान, नगदी सामानों को चोरी कर एक बैग में भरकर ले आए ।

शिवा बाहर देखरेख में खड़े तीन अपचारी बालकों को ₹2000- ₹2000 दिया (जिससे यह तीनों बच्चे नए नए कपड़े खरीदे थे) और शेष नगदी, चांदी के सिक्के को आपस में बांट लिए तथा आर्टिफिशियल व चांदी के सामानों को बेचने के लिए उसी रात सत्या नहर पुल के पास मोबाइल फोन से कॉल कर कबाड़ी मिथिलेश राठौर को बुलाये और सारा बहुमूल्य सामान बेचे दिये ।

आरोपियों के मेमोरेंडम पर चांदी के सिक्के एवं सामान कुल वजन 3400 ग्राम वर्तमान कीमत- 2,21,000/- सोने के ज्वेलरी कुल वजन 10 ग्राम वर्तमान कीमत-50,000/- पारा धातु का शिवलिंग वजन 1300 ग्राम- 50,000/-तांबा, पीतल, सिक्के, आर्टिफिसियल सामान- 5,000/- नगदी रकम – 27,000- कुल कीमत- 3,53,000- जप्त किया गया है । घटना के संबंध में मालिक के भाई अमरनाथ केडिया के रिपोर्ट पर दर्ज कर धारा 457, 380 आईपीसी में उक्त आरोपियों की गिरफ्तारी सुमार कर धारा 34, 411 आईपीसी विस्तारित किया गया है। आरोपियों को सक्षम न्यायालय पेश किया जा रहा है।

चोरी में शामिल आरोपीगण

  1. शिवा उर्फ सैययद पिता स्व0 विरेन्द्र सहिस उम्र 21 साल 2. गोविन्दा पिता स्व0 बिहानु सहिस उम्र 26 साल 3. सहबाज खान पिता स्व0 सत्तार खान, उम्र 30 वर्ष साकिनान अटल आवास खरसिया। 4 मिथलेस राठौर उफ पिन्टू पिता नरेन्द्र कुमार राठौर उम्र 25 साल साकिन मकरी थाना खरसिया ( कबाड़ी ) अन्य चार अपचारी बालक क्रमश: 17, 15, 14, 13 साल चोरी का खुलासा करने में उपनिरीक्षक चौकी प्रभारी नंद किशोर गौतम, प्रधान आरक्षक चिद्रांगद चन्द्रा, महेन्द्र खरे, आरक्षक कीर्ति सिदार, सोहन यादव की सक्रिय भूमिका रही ।

Read More

Big story

रायगढ़/ और चढ़ा दी गयी बिलाई नाले की बलि! कभी खाना पकता था इसके पानी से, आज है सिर्फ काला गंदा बदबूदार जहरीला पानी! खेत बने दलदल.. मिला बड़े मवेशी का कंकाल भी.. किसका है ये गंदा पानी..! विधायक को भी है पता.. पढ़िए ग्राउंड रिपोर्ट, देखे वीडियो..