लोगों ने कहा- गश्त पर आए जवानों ने 4 घंटे तक की मारपीट.. एक दर्जन से ज्यादा महिलाएं घायल…एसपी बोले-ग्रामीणों ने पथराव किया.!

1,567 views

बस्तर में एक बार फिर पुलिस आरोपों के घेरे में है। बीजापुर में ग्रामीणों ने जवानों पर मारपीट का आरोप लगाया है। कहा कि 15 साल के किशोर को नक्सली बताकर ले जा रहे थे। विरोध करने पर उन्हें 4 घंटे तक पीटा गया। इसमें दर्जन भर महिलाएं घायल हो गई हैं। वहीं पुलिस अफसरों का कहना है कि ग्रामीणों ने पथराव किया। एक नक्सली कमांडर की गिरफ्तारी का भी दावा किया है।

गंगालूर थाने से जवान शुक्रवार सुबह सावनार गांव में गश्त पर पहुंचे थे। सावनार के मुकापारा निवासी लक्खी पुनेम का आरोप है कि जवानों ने उसके 15 साल के बेटे लखू पूनेम को नक्सली बताया और गिरफ्तार कर साथ ले जाने लगे। इसका विरोध करने पर जवानों ने सुबह 6 बजे से 10 बजे तक महिलाओं के साथ मारपीट की। इसमें लखी कुरसम, पीड हेमला, मेरी हेमला सहित एक दर्जन महिलाएं हो गईं।

ग्रामीण बोले- जवान जब भी गांव में आते अक्सर मारपीट करते
आरोप है कि जवानों की पिटाई से महिला हेमला गुटो का सिर फट गया है। वहीं अन्य महिलाओं को भी हाथ, पैर, पीठ पर चोटें आई हैं। जवानों ने बुजुर्ग महिलाओं को भी नहीं छोड़ा। ग्रामीणों का यह भी आरोप है कि जवान जब भी गश्त के दौरान गांव में आते हैं, तो उनके साथ अक्सर मारपीट की घटना को अंजाम दिया करते हैं। फिलहाल इसके बाद से ग्रामीणों में काफी नाराजगी है।

एसपी ने कहा- आरोप बेबुनियाद, जवानों पर पथराव हुआ


वहीं दूसरी ओर बीजापुर एसपी कमल लोचन कश्यप ने ग्रामीणों के आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि गश्त पर गए जवानों पर ग्रामीणों ने पथराव किया। पत्थर फेंककर जवानों के काम में रुकावट पैदा करने की कोशिश की। उन्होंने दावा किया कि मौके से एक नक्सली मिलिशिया कमांडर को भी गिरफ्तार किया गया है।