शिकार के लिए बिछाया गया था तार ! चपेट में आने से युवक की दर्दनाक मौत !आरोपियों ने शव को नदी किनारे रेत में दफनाया ! पढ़े पूरी खबर..

1,987 views

बलौदा। शिकार करने के लिये लगाये गये जीआई तार के करेंट की चपेट में आने एक युवक की मौत हो गई। जीआई तार लगाने वाले पांच आरोपियों ने मृत युवक को नदी किनारे दफनाया बाद में खुलासा होने पर आरोपियों की निशानदेही पर युवक का शव बाहर निकलवाया गया। सभी पांच आरोपियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की धारा 304,201 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

घटना पंतोरा थाना के अंतर्गत ग्राम देवरी के सरालपाली क्षेत्र की है। ग्राम देवरी के पास से गुजरी हसदेव नदी के पास रहने वाले ग्रामीण अक्सर जंगली सुअर व अन्य जानवरों के शिकार के लिये करंट व अन्य साधनों का प्रयोग करते हैं। मंगलवार की रात भी नदी के किनारे जंगल में जीआई तार लगाकर करंट प्रवाहित किया गया था, रात लगभग दो बजे नदी के दूसरे छोर पर बसे गांव चिचोली उरगा थाना जिला कोरबा का युवक शांतिलाल बिंझवार पिता टिकैतराम 35 वर्ष उसकी चपेट में आ गया और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। दूसरे दिन शाम 4.55 बजे शांतिलाल के परिजनों ने पंतोरा थाना में उसके गुम होने की सूचना दर्ज करायी। इसके बाद पुलिस ने पतासाजी शुरू की तो मुखबिर से जानकारी मिली कि सरालपाली के पास रहने वाले कुछ लोग शिकार के लिये करंट लगाते हैं।

इनको पुलिस ने पकड़ा
आरोपियों के बयान के बाद पुलिस ने देवरी निवासी आरोपी सुभाष सिंह कंवर 40,नवधा सिंह बिंझवार 36 ,सुखसागर बिंझवार 25, भास्कर बिंझवार 29,रामलाल यादव 29 को पकड़ा। आरोपियों को मौके पर ले गए जहां शव को दफनाया गया था और तहसीलदार की उपस्थिति में गड्ढा खोदकर शव को बाहर निकलवाया गया।


आबपासी के लिए करंट लगाने की दी जानकारी
पुलिस को उन्होंने बताया कि खेतों में पानी पलाने के लिए तार बिछाया था, कुछ तार कम पड़ गया तो जीआई तार लगा दिया, घटना उसी में हुई है। आरोपियों ने बताया कि जब रात के दो तीन बजे अचानक लाइट गुल हो गई, तो उन्हें शक हुआ और वे वहां पहुंचे और उन्होंने एक युवक को मृत अवस्था में देखा तो वो डर गये और डर के कारण उन्होंने युवक के शव को नदी के किनारे दफना दिया।