छत्तीसगढ़ / पत्नी की हत्या की गुत्थी सुलझी..! पति ही निकला हत्यारा ..!पत्नी के थे अवैध संबंध..! तीन दिन पहले साजिश रची, फिर दंपती के साथ मिलकर रस्सी से घोंट दिया गला..! हत्या कर पति ने रची लूट की कहानी..! पति सहित 3 गिरफ्तार..! पढ़े पूरी खबर…

4,110 views

जांजगीर। कार सवार महिला दीप्ति सोनी (28) की गला घोंट कर हत्या और लूट की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। इस मामले में महिला के पति देवेंद्र, प्रदीप सोनी और उसकी पत्नी शालू को गिरफ्तार किया है। देवेंद्र ने लूट और हत्या की झूठी कहानी गढ़ी थी। उसका कहना है कि दीप्ति के अवैध संबंध थे। इसके चलते उसने दीप्ति को मार दिया। इसके लिए तीन दिन पहले ही हत्या की साजिश रच ली थी। मामला पतौरा चौकी क्षेत्र का है।

बैंक के काम का झांसा देकर ले गया था पत्नी को
पुलिस ने बताया कि बिलासपुर निवासी देवेंद्र बैंक संबंधी काम का झांसा देकर 14 जून को दीप्ति को कोरबा ले गया था। वहां से रात करीब 10.30 बजे बलौदा होते हुए बिलासपुर लौट रहा था। इस दौरान साजिश के तहत ग्राम खिसोरा के पास फॉरेस्ट बैरियर पर टॉयलेट के बहाने गाड़ी रोक दी। वहां पहले से ही प्रदीप सोनी और शालू खड़े थे। देवेंद्र और शालू ने दीप्ति को गाड़ी के अंदर ही पकड़ लिया। इसके बाद प्रदीप ने रस्सी से उसका गला घोंट कर हत्या कर दी।

लूट दिखाने के लिए गाड़ी में तोड़फोड़ की और सामन दे दिया
हत्या के बाद तीनों ने लूट की वारदात दिखाने के लिए कार में तोड़फोड़ की। इसके बाद प्रदीप और शालू को 40 हजार रुपए, लैपटॉप और दो मोबाइल पकड़ा कर बाइक से वापस भेज दिया। फिर पुलिस को सूचना देकर लूट और हत्या की कहानी सुना दी। पुलिस ने प्रदीप सोनी से वारदात में प्रयुक्त बाइक और शालू से कथित रूप से लूटे गए लैपटॉप और मोबाइल भी बरामद कर लिए हैं। हालांकि रुपयों को लेकर अभी तक कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

तीन साल से दीप्ति का अपने मायके वालों से कोई संबंध नहीं था
दंपती की 7 साल की एक बेटी भी है। देवेंद्र उसे घर में ही छोड़कर गया था। बताया जा रहा है कि पिछले तीन साल से दीप्ति का अपने मायके वालों से कोई संपर्क नहीं था। देवेंद्र ने उनसे बातचीत और आना-जाना पूरी तरह से बंद करा दिया था। दीप्ति के परिजनों ने भी देवेंद्र पर हत्या करने का आरोप लगाया था। हालांकि देवेंद्र का कहना है कि दीप्ति के कई लोगों से अवैध संबंध थे, पर उसने अभी तक किसी का नाम नहीं बताया है। पुलिस ट्रेस करने का प्रयास कर रही है।

दीप्ति की हत्या के लिए डेढ़ लाख में सौदा हुआ


दीप्ति की हत्या के लिए देवेंद्र ने अपने एक रिश्तेदार के घर खाना बनाने वाली शालू से मदद मांगी। शालू का पति प्रदीप चौकीदारी का काम करता है और उसे मिर्गी के दौरे आते हैं। देवेंद्र ने शालू को डेढ़ लाख रुपए का लालच दिया। इस पर शालू ने अपने पति प्रदीप को भी इस वारदात में शामिल करने के लिए मना लिया। घटना के बाद भी लौटते समय प्रदीप को मिर्गी का दौरा पड़ा था। जिसके कारण उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था।

वारदात को अंजाम दे लूट और हत्या की कहानी सुना रहा था
दरअसल, देवेंद्र सोनी उर्फ दीपक (30) एक CA के लिए काम करता है। उसने पुलिस को बताया था कि वह दीप्ति के साथ कार में कोरबा से लौट रहा था। रास्ते में पतोरा चौकी के पास फॉरेस्ट बैरियर पर रात करीब 10.30 बजे टॉयलेट करने के लिए गाड़ी से उतरा। इतने में दीप्ति के चीखने की आवाज सुनकर पहुंचा तो देखा कि 2 नकाबपोश गाड़ी में बैठे थे। एक ने दीप्ति के गले में पीछे से रस्सी डाल रखी थी। उसी दौरान 2 बदमाश और आ गए। पिस्टल दिखाकर लूट की।

संबंधित खबर-

छत्तीसगढ़ / देर रात घर लौट रहे दंपति से बंदूक की नोक पर लूटपाट की वारदात..! विरोध करने पर लूट गिरोह ने महिला की गला दबाकर उतारा मौत के घाट..! नगदी, लैपटॉप व मोबाइल लेकर हुए फरार…पुलिस जांच में जुटी…

Read More