ChhattisgarhCrimeRaigarh

RIG Breaking : दीवाल पर कांग्रेसी नेता और पुलिस वाले का नाम लिख झूल गया फाँसी के फंदे पर ! न्याय की आस लिए पुलिस अधीक्षक से मिलने देर रात तक बैठे रहे गांधी जी प्रतिमा के नीचे माँ-बाप और भाई ! परिजनों का आरोप- कोतरा पुलिस की प्रताड़ना से तंग आकर उनका बेटा झूल गया फांसी के फंदे पर ! रायगढ़ संभाग में कटघरे में खुद पुलिस..! पत्थलगांव के बाद अब रायगढ़..? पढ़ें पूरी खबर…

रायगढ़। कोतरा रोड थाना क्षेत्र के उसरौट निवासी एक युवक ने आज फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या करने से पहले उसने दीवाल पर कोतरा रोड थाने में पदस्थ सहायक उपनिरीक्षक अर्जुन चंद्रा और एक व्यक्ति नमो पटेल नाम लिखा है। आत्महत्या करने से पहले दीवाल पर लिखे गए नाम की वजह से ही अब मामला तूल पकड़ने लगा है। मृतक के परिजनो ने आरोप लगया है कि उसके बेटे ईश्वर प्रसाद सिदार 26 वर्ष ने कोतरा पुलिस की प्रताड़ना से तंग आकर यह आत्मघाती कदम उठाया है और फांसी लगाकर अपनी जान दी है।

मरने से पहले मृतक ने दीवाल पर लिखा उनका नाम

पुलिस पर परिजनों ने लगाया आरोप-

मृतक के परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए बताया है कि उसके बेटे को कोतरा रोड पुलिस द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा था। उसे थाने बुलाकर पूछताछ के बहाने मारपीट की गई थी और पैसों की भी डिमांड की गई थी। पुलिस द्वारा किए गए मारपीट से क्षुब्द होकर उनके बेटे ने यह आत्मघाती कदम उठाकर जान दी है। परिजनों ने पुलिस पर यह भी आरोप लगाया है कि उनसे बिना अनुमति के शव को घर से अस्पताल लाया गया है।

मृतक के परिजन
गांधी प्रतिमा के नीचे बैठे परिजन ! समझाइश देते सीएसपी..

एसपी ऑफिस पहुंचे परिजन-

घटना के बाद मृतक के माता-पिता व परिजन न्याय की गुहार लगाने एसपी ऑफिस पहुंचे, परंतु उनकी मुलाकात पुलिस अधीक्षक से नहीं हो पाई। देर रात 9:30 बजे तक वे एसपी कार्यालय बंद होने के बाद भी कार्यालय के बाहर स्थित गांधी प्रतिमा के नीचे बैठकर एसपी से मुलाकात करने के लिए इंतजार करते रहे।

परिजनों को ढांढस बंधाते नगर कोतवाल मनीष नागर

सीएसपी व नगर कोतवाल पहुंचे समझाइश देने

एसपी से मुलाकात करने के लिए तक के परिजन गांधी पुतला प्रतिमा के नीचे बैठे हुए थे। उनका कहना था कि वे जब तक बड़े साहब से नहीं मिलेंगे.. तब तक वे इस स्थान से नहीं उठेंगे!! सूचना मिलने पर नगर कोतवाल मनीष नागर व सीएसपी मौके पर पहुंचे। परिजनों की संवेदना को गंभीरतापूर्वक सुनते हुए नगर कोतवाल मनीष नागर द्वारा उन्हें एसपी कार्यालय के अंदर ले जाया गया।

इस मामले पर हुई थी शिकायत-

ऑनलाइन f.i.r.
थाने में दर्ज हुई ऑनलाइन f.i.r. की स्क्रीनशॉट

मिली जानकारी के अनुसार पड़ोसी व्यक्ति रमेश कुमार सिदार द्वारा मृतक व उसके पिता के खिलाफ जमीन विवाद को लेकर मारपीट किए जाने की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई गई थी। पुलिस पर आरोप लगाया गया है कि पुलिस द्वारा उन्हें घुमाया जा रहा था,आगे की कार्रवाई नहीं की जा रही थी।

आगरा जा रहीं प्रियंका गांधी को यूपी पुलिस ने रोका! अरुण वाल्मीकि के परिजनों से मिलने जा रही थी! हिरासत में हुई थी अरुण की मौत

उत्तर प्रदेश में भी हुई थी, इससे मिलते जुलते घटना! आज प्रियंका गांधी ने जताया था विरोध! CG के कांग्रेस शासन में भी ऐसी घटना लगातार रिपीट!

गांधी परिवार की सबसे अहम सदस्य प्रियंका गांधी ने हाल ही में पुलिस कस्टडी में अरुण वाल्मीकि की मौत के खिलाफ भाजपा शासित उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ आज मोर्चा खोला था। वहीं कांग्रेस की असीमित बहुमत के साथ छत्तीसगढ़ में 15 साल के वनवास के बाद सत्ता में आई। कांग्रेस पार्टी के राज में भी ऐसे ही कुछ घटना सामने लगातार आ रही है। यहां पुलिस कस्टडी में मौत तो नहीं हुई मगर पुलिस के आतंक पर ही किसी ने अपनी जान दे दी। मरने से पहले दीवार पर उनका नाम तक लिख दिया। हाल ही में छत्तीसगढ़ में पुलिस व्यवस्था को लेकर कई सवाल खड़े हुए हैं। पत्थलगांव में हुई घटना को अभी कुछ दिन भी नही हुए, जिसमें गांजा तस्कर द्वारा दुर्गा विसर्जन में जा रही भीड़ को बेरहमी पूर्वक रौंद दिया गया। इस मामले में भी एक एसआई के शह की बात सामने आई थी। सरकार द्वारा उसे निलंबित भी कर दिया गया। ऐसी ही घटना फिर प्रकाश में आई है। कुल मिलाकर इस तरह की घटनाओं को देखते हुए कहा जा सकता है कि रायगढ़ उसके आसपास के क्षेत्रों में कुछ तो ऐसा हो रहा है जो आम जनमानस के हित में नहीं है। सरकार का इस सिस्टम पर कोई कंट्रोल नहीं है।

देखें वीडियो

अपडेट

RIG Breaking : रायगढ़ पुलिस कप्तान अभिषेक मीणा की त्वरित कार्रवाई ! आत्महत्या के मामले में किया एएसआई को सस्पेंड ! दीवाल पर नाम लिख झूल गया था फांसी के फंदे पर ! पढ़ें खबर…

Back to top button