Information

चूहों से फैलने वाली स्क्रब टायफस के केस की मिली ट्रैवल हिस्ट्री ! छत्तीसगढ़ से हरियाणा आया था संक्रमित ! पढ़ें खबर…

करनाल।स्क्रब टाइफस जैसी घातक बीमारी पर अंकुश लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार करीब से नजर रखे हुए है। जिला स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमितों के आसपास रहने वाले 18 लोगों के सैंपल जांच के लिए लिए हैं।

इस टेस्ट को वील फैलिक्स कहते हैं, यह एलाइजा की तरह ही होता है। करनाल ही नहीं प्रदेश के उन सभी जिलों में राज्य स्वास्थ्य विभाग की टीम निगरानी रखे हुए हैं जहां पर 10 से अधिक केस मिले हैं। सैंपलों की लेबलिंग कराकर दिल्ली भेजा हुआ है।

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संक्रमितों के घर से चूहे पकड़े हैं, इसके साथ ही संक्रमित के आसपास रहने वाले घरों में भी कुछ पिंजरे लगाए थे, ताकि यह पता लगाया जा सके कि यह बीमारी चूहे से आगे ट्रांसमिशन तो नहीं हुई है। हालांकि इसकी पुष्टि सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद होगी। लेकिन एहतियात के तौर पर विभाग ने हर एंगिल से इस बीमारी को लेकर काम करना शुरू कर दिया है।

एक केस की ट्रैवल हिस्ट्री छत्तीसगढ़ की मिली

स्वास्थ्य विभाग की पूछताछ में यह बात सामने आई है कि दादूपुर खुद गांव का रहने वाला व्यक्ति जो संक्रमित पाया गया है वह छत्तीसगढ़ से आया था। जब वह गांव आया था तो बीमार था। जिसके बाद उसको चंडीगढ़ पीजीआई ले जाया गया। व्यक्ति के साथ कोई ऐसा कीट साथ ना आया हो जिसने स्क्रब टाइफस जैसी बीमारी को जन्म दिया है। इस संबंध में भी जांच पड़ताल की जा रही है। राहत की बात यह है कि यह छूत की बीमारी नहीं है। लेकिन चूहे से मानव शरीर में ट्रांसमीट हो सकती है। इसलिए इसको गंभीरता से लिया जा रहा है।

कुरुक्षेत्र के एक निजी अस्पताल के कार्ड टेस्ट ने चौकाया

सूत्रों के मुताबिक कुरुक्षेत्र जिले के एक निजी अस्पताल में करनाल निवासी छह मरीज दाखिल हुए थे। जब उनका कार्ड टेस्ट हुआ तो वह संक्रमित की पुष्टि हुई है। हालांकि इसको आधिकारिक रिपोर्ट नहीं कहा जा सकता, क्योंकि अस्पताल की ओर से उसे क्रास चेक के लिए स्वास्थ्य विभाग के पास नहीं भेजा था। अब क्रास चेक किया जा रहा है। कार्ड टेस्ट से पाजीटिव रिपोर्ट आने के बाद को चौका दिया है।

Back to top button