Information

Income Tax Return: निकल गया ITR फाइल करने का समय अब क्या करे क्या हैं? आपके पास ऑप्शन? जानिये…!

वित्तीय वर्ष 2020-2021 के इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने का समय सीमा 31 दिसंबर थी जोकि समाप्त हो गई है लेकिन अभी भी बहुत से लोग आइटीआर फाइल नहीं कर पाए हैं तो आगे उनके पास क्या ऑप्शन है

सरकार ने वित्तीय वर्ष 2021 के आइटीआर फाइल करने के लिए 31 दिसंबर तक का समय सीमा निर्धारित किया था जो कि अब समाप्त हो चुका है लेकिन अभी भी बहुत से लोगों ने अपना आइटीआर फाइल नहीं किया है तो उनके पास क्या ऑप्शन है क्या वह अभी भी आइटीआर फाइल कर सकते हैं और अगर फाइल करते हैं तो उन्हें क्या डॉक्यूमेंट देना होगा या कितनी पेनल्टी भरनी पड़ेगी तथा क्या प्रोसेस होगा आइए जानते हैं

जिन लोगों ने 2021 का इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं किया है उनके पास अभी भी मौका है की वह बिलेटेड इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर सकते हैं लेकिन उनको इसके लिए पेनल्टी भरनी होगी। FY21 के लिए करीब 5.89 करोड़ आईटीआर जमा हुए हैं इनमें से 46.11 लाख रिटर्न 31 दिसंबर को दाखिल हो गए थे।

आपको बता दें कि 2020-21 के ITR फाइल करने की समय सीमा समाप्त होने के बाद बिलेटेड आइटीआर फाइल करने के लिए आपके पास 31 मार्च तक का समय है लेकिन बिलेटेड आइटीआर फाइल करने के लिए आपको पेनल्टी भरनी पड़ेगी आइए जान लेते हैं की कितनी पेनल्टी भरनी पड़ेगी

कितनी लगेगी पेनल्टी

आयकर अधिनियम की धारा 139 (1) के तहत किसी आकलन वर्ष के लिए निर्धारित समय के भीतर रिटर्न दाखिल नहीं करने पर धारा 234F के तहत लेट फीस देनी होती है। प्रावधान के तहत बिलेटेड आईटीआर को 31 मार्च 2022 तक 5,000 रुपये की पेनल्टी के साथ फाइल किया जा सकता है। पहले यह जुर्माना राशि 10,000 रुपये हुआ करती थी, जिसे घटाकर 5,000 रुपये कर दिया गया है। हालांकि, यदि टैक्सपेयर की कुल आमदनी 5 लाख रुपये से अधिक नहीं है तो उसे 1000 रुपये की ही पेनल्टी देनी पड़ेगी। यदि इनकम, एग्‍जम्‍प्‍शन लिमिट (2.50 लाख रुपये) से नीचे है तो बिना लेट फीस के 31 मार्च तक रिटर्न फाइल किया जा सकता है।

अगर टैक्स रिटर्न भरने में हो गई हो गलती

अगर ओरिजनल टैक्‍स रिटर्न फाइल करते समय कोई चूक हो जाती है तो करदाता के पास संशोधित या रिवाइज्‍ड आईटीआर फाइल करने का मौका रहता है। आकलन वर्ष 2021-22 (वित्त वर्ष 2020-21) के लिए संशोधित या रिवाइज्ड इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की अंतिम तारीख भी 31 मार्च 2022 है। बिलेटेड आईटीआर रिटर्न में हुई चूक के लिए भी रिवाइज्ड रिटर्न फाइल कर सकते हैं। लेकिन चूंकि वित्त वर्ष 2020-21 के लिए बिलेटेड और रिवाइज्ड दोनों तरह के टैक्स रिटर्न फाइल करने की डेडलाइन 31 मार्च 2021 है, इसलिए आखिरी वक्त पर फाइल किए गए बिलेटेड रिटर्न के लिए रिवाइज्ड रिटर्न दाखिल नहीं कर पाएंगे।

Sponsored by

Related Articles

Back to top button
Enable News Updates    OK No thanks