छत्तीसगढ़/कोरोना की दवा बताकर महुआ शराब में होम्योपैथिक सिरप मिलाया और पी लिया, 4 की मौत 5 युवक अभी भी अस्पताल में…!

2,402 views

रायपुर/ कोरोना संक्रमण के बीच छत्तीसगढ़ में लगे लॉकडाउन के दौरान नशे की लत और अज्ञानता सिर पर चढ़ने लगी है। बिलासपुर के सिरगिट्टी में महुआ शराब में होम्योपैथिक कफ सिरप मिलाकर पीने से 8 युवकों की मौत हो गई। इनमें से 4 युवकों की मौत कल सुबह हुई जबकि 4 अन्य ने बाद में दम तोड़ा। बस्ती के 5 और युवक इस समय CIMS अस्पताल में भर्ती हैं। खास बात यह है कि परिजन ने संक्रमित समझकर गांव में ही 4 शवों का अंतिम संस्कार भी कर दिया। पुलिस को घटना का पता बुधवार देर रात चला।

सिरगिट्‌टी क्षेत्र के ग्राम कोरमी, धुरीपारा निवासी कमलेश धुरी (32), अक्षय धुरी (21), राजेश धुरी (21), समारू धुरी (25), खेमचंद धुरी (40 ) और कैलाश धुरी (50) सहित कई युवक पिछले कुछ दिन से नशे के लिए कफ सिरप पी रहे थे। मंगलवार शाम को युवकों ने महुआ शराब में नशा बढ़ाने के लिए होम्योपैथिक कफ सीरप मिला लिया। शराब पीने के बाद सभी अपने-अपने घर चले गए। रात में ही इनकी तबीयत बिगड़ गई। सभी को उल्टियां होने लगी। बुधवार सुबह तक 4 युवकों ने घर पर ही दम तोड़ दिया।

इसके बाद कुछ अन्य युवकों की भी तबीयत बिगड़ी तो उन्हें CIMS और फिर अपोलो में दाखिल कराया गया। बुधवार रात को CIMS में दो युवकों की, अपोलो में एक युवक की और गांव में एक युवक की मौत हो गई। 5 युवक अभी भी सिम्स में गंभीर हालत में दाखिल हैं। बताया जा रहा है कि गांव के कुछ युवक मंगलवार शाम को होम्योपैथिक कफ सिरप की शीशियां ले आए थे। इसके बाद 20-25 युवक अलग-अलग ग्रुप में बैठकर सिरप को महुआ और पानी में मिलाकर नशा कर रहे थे।

देर रात दो युवकों ने दम तोड़ा, दोपहर में 2 अन्य की मौत

घर लौटने पर जब युवकों को उल्टियां शुरू हुई तो परिजनों ने पूछा तो उन्होंने शराब पीकर आने की बात बताई। इसके चलते उल्टियां होने पर परिजनों ने भी ध्यान नहीं दिया। इसी में देर रात कमलेश और राजेश की मौत हो गई। बुधवार सुबह युवकों के शव देख परिवार के लोगों को उनके कोरोना संक्रमण के चलते मौत होने की आशंका हुई। इस पर परिजनों ने गांव में ही दोनों का अंतिम संस्कार कर दिया। उसी दोपहर में अक्षय और समारू ने भी दम तोड़ दिया और उनके परिजनों ने भी दाह संस्कार किया।

गांव में एक साथ 4 युवकों की मौत की सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी

गांव में एक साथ चार युवकों की मौत की सूचना किसी ने सिरगिट्टी थाना पुलिस की दी। इस पर थाना प्रभारी देर रात टीम के साथ गांव पहुंच गए। वहां पूछताछ में युवकों के कफ सिरप पीने की जानकारी मिली। वहीं दो लोगों की तबीयत बिगड़ने की जानकारी भी गांव वालों ने दी। इस पर पुलिस ने गंभीर खेमचंद और कैलाश को CIMS में भर्ती कराया। कैलाश की हालत गंभीर होने के कारण उसे अपोलो अस्पताल रेफर कर दिया गया है। बाद में 4 और युवकों की मौत हो गईं।

पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची

घटना की जानकारी मिलते ही हड़कंप मच गया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। प्रारंभिक पूछताछ में धूमा चौक स्थित एक होम्योपैथिक क्लीनिक का नाम सामने आया है, जहां से युवक ड्रोसेरा नाम की यह सिरप ला रहे थे। पुलिस ने 8 युवकों की मौत की पुष्टि की है। उधर स्वास्थ्य विभाग ने गांव में कैंप लगाकर धुरीपारा बस्ती के सभी लोगों की जांच शुरू कर दी है। कुछ युवक ऐेसे भी मिले हैं, जिन्होंने यह सिरप पिया था, लेकिन उन्हें कुछ नहीं हुआ। पुलिस होम्योपैथिक क्लीनिक के डॉक्टर को हिरासत में लेने के लिए छापे मार रही है।

कोरोना की दवा बताकर पी रहे थे

गांव में पहुंची पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम को पूछताछ में यह भी जानकारी मिली है कि पिछले कुछ दिनों से इस होम्योपैथिक सिरप को कोरोना की दवा बताकर युवक पी रहे थे। ग्रामीणों में भी यह चर्चा थी कि शराब और इस दवा से कोरोना का इलाज हो जाता है, इसलिए इसे पीने का जुनून हो गया था।

Read More