ChhatisgarhNews

Chattisgarh News: छत्तीसगढ़ी फिल्म ‘भूलन द मेज’ के कोरियोग्राफर और एक्टर निशांत उपाध्याय कि मौत से छत्तीसगढ़ फिल्म इंडस्ट्री में शोक का माहोल!

छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री की मशहूर कोरियोग्राफर और एक्टर निशांत उपाध्याय के निधन की खबर से पूरे छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री में शोक का माहौल छाया हुआ है। निशांत उपाध्याय जी छत्तीसगढ़ के बेस्ट कोरियोग्राफर में से एक हैं इन्हें छत्तीसगढ़ के बेस्ट कोरियोग्राफर का अवार्ड मिल चुका है। इन्होंने छत्तीसगढ़ के बहुत फिल्मों में कोरियोग्राफर किया है। बीमारी की वजह से रायपुर के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था बुधवार को रात 2:30 बजे के करीब इनकी मृत्यु हो गई।

निशांत उपाध्याय जी का जन्म 7 जुलाई 1980 को हुआ था इन्होंने छॉलीबुड में ‘झन भूलो मां बाप ला’ फिल्म से शुरुआत की थी। इनकी मौत की खबर से पूरे छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री में शोक का माहौल फैल गया है। इन्होंने छत्तीसगढ़ की फेमस फिल्म “भूलन द मेज” फिल्म में कोरियोग्राफी के साथ-साथ एक्टिंग भी की है इन्होंने इस फिल्म में एक कलेक्ट्रेट के चपरासी का रोल निभाया है। निशांत उपाध्याय जी ने छत्तीसगढ़ में करीब 2500 गानों में कोरियोग्राफी की है। पिछले महीने भूपेश बघेल जी इस मूवी को थिएटर में देख कर आए हैं उन्होंने इस मूवी के स्क्रिप्ट और पूरी टीम की बहुत प्रशंसा की थी।

निशांत उपाध्याय जी बीमारी की वजह से रायपुर के किसी निजी अस्पताल में इलाज करवा रहे थे। इनकी मौत की खबर सुनकर सभी छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री के अभिनेता अभिनेत्रियां और इनके करीबी लोगों का रायपुर के अस्पताल में आना-जाना शुरू हो गया है। आज गुरुवार को इनका दाह संस्कार किया जाएगा। भूलन द मेज निशांत की आखरी कोरियोग्राफ की हुई मूवी है।

छत्तीसगढ़ फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर अभिनेता पद्मश्री अनुज शर्मा ने निशांत के निधन पर दु:ख व्यक्त करते हुए सोशल मीडिया पर भावुक पोस्ट किया है. अनुज ने लिखा- “निशांत अब शांत हो गया. अब शूटिंग में मेरे टिफिन को कौन शेयर करेगा? मेरी जिन्दगी में तेरी कमी कोई कभी पूरी नही कर पाएगा लल्ला. तुम जैसा न कोई था, न कोई है और न कोई होगा. जिसने लाखों दिलों को अपनी अदा से जीता. जिसने छत्तीसगढ़ी सिनेमा को ऊंचाईयों तक पहुंचाया. जिसने सबसे ज्यादा बेस्ट कोरियोग्राफर का अवार्ड जीता, जिसने हजारों गानों का नृत्य-निर्देशन किया. छोटे-बड़े हर कलाकार और निर्माता-निर्देशक के साथ काम किया. अलविदा मेरे भाई.”

Back to top button