ChhatisgarhRaipur

छत्तीसगढ़ / स्वाभिमान और गर्व के लिए दौड़ा छत्तीसगढ़ ! हजारों की संख्या में शामिल हुए हर आयु वर्ग के धावक !
मुख्यमंत्री ने युवाओं में जोश भरते हुए कहा-‘कका अभी जिंदा हे’ !

रायपुर cg news। आज सुबह आयोजित रन फॉर सीजी प्राइड को लेकर लोगों में अभूतपूर्व उत्साह दिखाई दिया। छत्तीसगढ़ के स्वाभिमान और गर्व के लिए आयोजित इस दौड़ में हर आयु वर्ग के 20 हजार से अधिक धावक शामिल हुए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सुबह 7 बजे गांधी उद्यान चौक से झंडी दिखाकर रन फॉर सीजी प्राइड का शुभारंभ किया। इस अवसर पर गांधी उद्यान का पूरा क्षेत्र लोगों के हुजूम से खचाखच भरा हुआ था। दौड़ में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे स्कूली बच्चों से लेकर प्रदेशभर से आए युवा धावकों का समूह इस दौरान भारत माता की जय, छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया का उद्घोष करने के साथ ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे। रन फॉर सीजी प्राइड के शुभारंभ के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जैसे ही मंच पर पहुंचे वहां मौजूद जनसमूह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। इसके प्रति उत्तर में मुख्यमंत्री ने युवाओं में जोश भरते हुए कहा ‘कका अभी जिंदा हे‘। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इस प्रति उत्तर पर जनसमूह ने तालियां बजाकर उनका जोरदार स्वागत किया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस मौके पर उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमने जो नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने का संकल्प लिया था, उसे हम पूरा करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। तीन सालों में ही छत्तीसगढ़ राज्य ने देश-दुनिया में अपनी विशिष्ट पहचान कायम की है। छत्तीसगढ़ मॉडल की चर्चा आज पूरे देश में है। हमने विकास के छत्तीसगढ़ मॉडल से गुजरात मॉडल को काफी पीछे छोड़ दिया है। छत्तीसगढ़ मॉडल समता और आर्थिक समानता लाने वाला मॉडल है। समाज के गरीब, किसान, आदिवासी, महिला, युवा एवं सभी वर्ग और समुदाय के लोगों की बेहतरी के लिए काम किया जा रहा है। इसमें सभी समाज एवं वर्ग के लोग शामिल है। कोरोना संकट काल के दौरान भी छत्तीसगढ़ में विकास के काम अनवरत रूप से जारी रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता के मामले में छत्तीसगढ़ ने पूरे देश में अपनी एक अलग पहचान कायम की है। छत्तीसगढ़ राज्य को बीते तीन सालों से देश में स्वच्छतम राज्य का पुरस्कार मिल रहा है। इस साल छत्तीसगढ़ ने स्वच्छता के क्षेत्र में 67 पुरस्कार हासिल किए हैं। इसके साथ ही राज्य की योजनाओं को राष्ट्रीय स्तर पर सराहा जा रहा है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर दौड़ में हिस्सा लेने आए सभी लोगों को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने छत्तीसगढ़ के दिव्यांग पर्वतारोही चित्रसेन साहू का विशेष रूप से उल्लेख करते हुए कहा कि उन्होंने अपने अदम्य साहस, दृ़ढ़ संकल्प की बदौलत विश्व के तीन महाद्वीपों के उच्च शिखरों को फतह किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चित्रसेन साहू के चौथे पर्वतारोहण अभियान माउंट अकांेकागुआ के लिए अग्रिम शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हम सब मिलकर इसके लिए 12 लाख 60 हजार रूपए की आर्थिक सहायता उन्हें देंगे।

मुख्यमंत्री ने धावकों का उत्साहवर्धन करते हुए स्वयं भी इस दौड़ में शामिल हुए। जनसम्पर्क विभाग और खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा आयोजित 5 किलोमीटर की यह दौड़ तीन वर्गाें में हुई। प्रथम वर्ग में 14 वर्ष से कम उम्र के बालक एवं बालिकाओं ने, दूसरे वर्ग में 14 वर्ष से 60 वर्ष तक की उम्र के महिला एवं पुरूषों ने तथा तृतीय वर्ग में 60 वर्ष से अधिक के उम्र्र के धावकों ने हिस्सा लिया। प्रथम वर्ग में बालक-बालिका श्रेणी में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले धावकों को पुरस्कृत एवं सम्मानित किया जाएगा। इसी तरह द्वितीय वर्ग में प्रथम स्थान से लेकर दशम स्थान तक के पुरूष एवं महिला धावकों को तथा तृतीय वर्ग में प्रथम से लेकर तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले वरिष्ठ धावकों को पुरस्कृत एवं सम्मानित किया जाएगा।

Sponsored by

Related Articles

Back to top button
Enable News Updates    OK No thanks