Chhatisgarh

छत्तीसगढ़ / अपनी राजनीति चमकाने के लिए महिला राजनेत्री पुलिस प्रशासन को बना रही मोहरा ! जानें क्या है मामला ? पढ़ें पूरी खबर…

भीमा वर्मा, खरोरा (cg news)। पूरे खरोरा परिक्षेत्र में शराब की अवैध बिक्री जैसे आवाज कई बार उठती है, और वहीं खरोरा पुलिस के द्वारा भी अवैध शराब कोचियों पर लगातार कार्यवाही की जाती रही है, लेकिन इस बार एक sc जनता जोगी महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष उमा पूरेना ने अवैध शराब बिक्री करवाने का आरोप पुलिस प्रशासन पर लगाई है, और कहा है कि पूरे खरोरा परिक्षेत्र में अवैध शराब और गांजा की बिक्री पुलिस प्रशासन के मिलीभगत से की जा रही है, उमा पूरेना ने कई मंत्री और पुलिस प्रशासन के उच्च अधिकारियों को इस संबंध में आवेदन दिया है, और उस आवेदन में खरोरा के थाना प्रभारी रमेश मरकाम और एएसआई अमित अंदानी को तत्काल स्थानांतरण करने की बात लिखी गयी है, और साथ ही इन्हें तत्काल स्थानांतरण नही करने पर प्रशासन को बड़े आंदोलन की चेतावनी दी गयी है, जिसमे इस आवेदन में लगभग 20 से अधिक गांवों के सरपंच के सील सहित हस्ताक्षर भी किये गए है।

और जब हमारे संवाददाता ने इस आवेदन में हस्ताक्षर करने वाले 1 सरपंच से बात की तो उन्होंने इस प्रकार की किसी भी आवेदन  में हस्ताक्षर करने से अस्वीकार किया है, उन्होंने कहा कि हमे कुछ और बता कर इस आवेदन में साइन करवाया गया है। वहीं ग्राम फरहदा के सरपंच ने सीधे और साफ तौर पर कहा कि पूरे क्षेत्र में यदि अवैध शराब की बंदी कही हुई तो वह हमारे गांव में ही हुई है, जो कि इस कार्य को करने में खरोरा पुलिस का ही नेतृत्व था, खरोरा पुलिस के नेतृत्व में ही हमारे गांव में शराब बंदी की गई थी,

अब जब इस पूरे क्षेत्र में ग्राम फरहदा में शराब बंदी करने में सबसे बड़ी भूमिका पुलिस प्रशासन की रही है, तो पुलिस प्रशासन के खिलाफ इस प्रकार के लोगो को बहला फुसला कर क्यों उनके खिलाफ आवेदन तैयार किया जा रहा है, पुलिस के ऊपर सारा आरोप लगाकर कौन अपनी राजनीतिक रोटियाँ सेंकना चाह रहे है।

Fir की कापी

जिले में नंबरवन खरोरा पुलिस ।
खरोरा पुलिस द्वारा थाना प्रभारी रमेश मरकाम के नेतृत्व में पिछले चार महीनों में 69 अवैध शराब की कार्यवाही की गई है, वही उनके द्वारा 4 बड़े अवैध गांजा बेचने वालों को भी पकड़ा गया है । वही गौरकरने योग्य बात यह भी है कि इसमें उड़ीसा से परिवहन हो रहे अवैध गांजा समेत मध्यप्रदेश की अवैध शराब पर की गई बड़ी कार्यवाही भी है । वही इस बीच आबकारी महकमा के हाथ खाली रहे ।
पूरे परिछेत्र में रमेश मरकाम के थाना संभालने के बाद से ही अपराध पर पूरा नियंत्रण है वह कार्यवाही करने पर ज्यादा यकीन रखते है । अभी हाल में ही बेलदारशिवनी के सरपंच के खिलाफ उन्होंने एक मामला पंजीबद्ध किया था जिसमे सरपंच को न्यालय से जमानत मिल गई वही उमा पुरैना की उस सरपंच से राजनीतिक रंजिश है औऱ उनकी मांग थी कि उस मामले में सरपंच के विरुद्ध जो धारा लगाई गई है उसे बढ़ाया जाएं लेकिन वह संभव नही था औऱ थाना प्रभारी ने उन्हें साफ मना कर दिया यही कारण है कि उमा पुरैना खरोरा पुलिस के विरुद्ध झूठे आरोप लगा रही है ।

उमा पुरेना ने जबरन ही शराब ही बिक्री का आरोप लगाकर सरपंच के घर में घुसकर की थी बदसलूकी, इस मामले में एक बार जा चुकी जेल

मामला पलारी थाना अंतर्गत ग्राम रामपुर का है, जहां उमा पुरेना अपने कुछ साथियों के साथ मिल कर उस गांव के सरपंच के घर में जबरन ही घुस गई थी, और शराब की अवैध बिक्री की बात को लेकर सरपंच से लड़ने लगी थी, और वहां के सरपंच से अवैध शराब बिक्री करने को लेकर पैसे की मांग भी की गई, जिसकी शिकायत सरपंच के द्वारा थाने में की गई थी, जिसके बाद उस महिला के ऊपर पुलिस ने कार्यवाही की और उस महिला को इस आरोप में जेल भी दाखिल किया गया था

Sponsored by

Related Articles

Back to top button
Enable News Updates    OK No thanks