Chhatisgarhरायगढ़

रायगढ़: नही थम रही फ्लाईएश राख की समस्या! तेज आंधी से घरों से निकलने लगी किलो भर राख, घंटों जाम रहा मुख्यमार्ग, आज ग्रामीण करेंगे जिंदल का घेराव…!

रायगढ़: उद्योग से निकलने वाले उड़ते फ्लाईएश ने तमनार ब्लॉक के लोगों का जीना दुश्वार कर रखा है, शुक्रवार देर शाम जिले में आए आंधी तुफान से फ्लाईएश बहुत की ज्यादा मात्रा में उडी। अब तो ब्लॉक मुख्यालय तमनार भी ईससे अछुता नहीं रहा, तकरीबन घंटे भर चले आंधी के कारण मुख्य मार्गें बाधित हो गये। जिसके कारण जाम जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई, डाईक से लगे हुए गावों में तो लोगों के घरों से किलो के तौल में राख निकलने लगी, स्थानीय ग्रामीणों ने बताया की घर में रखे खाने के सामान, कपड़े , पानी,पेंड पौधे, कार, मोटरसाइकिल सहित तमाम सामान फ्लाईएश से पट गया। फ्लाई ऐश और तेज आंधी के कारण सड़क पर कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। तमनार हुंकराडीपा मार्ग में वाहन चालकों घंटे भर खड़े रहकर तुफान के रूकनें का इंतजाम करना पड़ा। इसे लेकर ग्रामीणों में जोरदार गुस्सा है और इस मामले में सरपंच ने बताया कि आज इस गुस्से के परिणाम स्वरूप ग्रामीण जिंदल पावर लिमिटेड तमनार का घेराव करने जा रहे हैं।

घरों से सफाई के बाद निकलने लगी किलो के वजन में राख

साथ ही अब तो कोल मांस गारे पेलमा 4/1,4/2,4/3 के आस पास के गांव राख मय होनें लगे हैं, मिट्टी वाले डंपयार्ड के उपर भी अब फ्लाईएश डंप की जा रही है, डंपयार्ड की ऊंचाई गांव मकानों की ऊंचाई से भी दोगुनी है। कल देर शाम आए आंधी आने से राख गांव की ओर उड़नें से कोड़केल, डोंगामहुआ, सारसमाल, लिबरा, धौराभांठा, आंमगांव, चारछापर, सहित कोड़केल- डोंगामहुआ मुख्यमार्ग के भी राहगीरों को भी समस्या से जूझना पड़ा ग्रामीणों नें बताया की आंधी तूफान से गांव राख मय हो गया,गांव एसा लग रहा था ठंड का दिन हो और कोहरे बरस रहे हो ।

स्थानीय लोगों नें अपनी परेशानी सोशल मीडिया पर भी शेयर की साथ ही तंज कसते हुए लिखा है , क्या मनमोहन छवी है , तो एक नें वीडियो शेयर करते हुए लिखा है सफेद भूत, एक युजर नें अपने घर के समीप की स्थिति दिखाई है, कार सवार राहगीर नें विडिओ शेयर की है।

हाला कि शुक्रवार को पर्यावरण विभाग नें गांव में प्रदूषण मापक मशीन को लगाए हैं अब देखने वाली बात होगी, तेज आंधी तूफान से प्रदूषण तो गांव में आप की मात्रा में आई है लेकिन वापस मशीन क्या दर्शाती साथ ही आने वाले दिनों में उद्योग प्रबंधन के खिलाफ क्या कार्रवाई करती है और समस्या से जुझ रहे ग्रामीणों के लिए क्या समाधान निकालती है, क्योंकि यह समस्या इस वर्ष की ही नहीं बल्कि दशकों से चली आ रही है।

राख लगातार गांव की ओर उड़ कर आ रही है, हम काफी परेशानियों का सामना कर रहे हैं अब सभी गांव के ग्रामीणों के साथ मिलकर उग्र आंदोलन करनें जैसी स्थिति उतपन्न हो गई है ।

शिवपाल भगत ग्रामीण सारसमाल

Back to top button