रायगढ़

Raigarh News : नहीं सुलझ रही फ्लाई ऐश की समस्या ! नरकीय जीवन जीने को मजबूर तमनार क्षेत्रवासी ! पीड़ित महिलाओं ने खोला मोर्चा, रोकी फ्लाई एस की गाड़ियां ! समझाइश का दौर जारी…देखें वीडियो…

Raigarh News: औद्योगिक नगरी रायगढ़ के तमनार वासी इन दिनों नरकीय जीवन जीने को मजबूर है, जिसकी वजह JPL से निकलने वाली फ्लाई ऐश है। तमनार क्षेत्र के रहवासी फ्लाई एस के रूप में अब धीमी जहर का सेवन कर रहे हैं। लेकिन इस समस्या का समाधान आज तक स्थाई रूप से नहीं हो पाया है। ऐसा भी नहीं है कि फ्लाई एस की समस्या कोई नयी हो, बल्कि यह तो कई वर्षों से चली आ रही है। समस्या के समाधान के लिए कई बार लोग सड़कों पर उतरे हैं, धरना प्रदर्शन और चक्का जाम भी किया गया है। लेकिन आज तक इस समस्या का हल नही निकल पाया है। क्षेत्र की स्थिति देखने से अब ऐसा लगता है कि लोग अपनी मौत और आगे की पीढ़ी की संकट स्थिति को बहुत नजदीक से देख रहे हो।

गर्मी का मौसम आते ही उड़ने लगता है फ्लाई एस का गुबार

फ्लाई एस की समस्या गर्मी का मौसम आते ही और विकराल हो जाता है। तेज आंधी तूफान में फ्लाई ऐश का गुब्बार आसपास के क्षेत्रों में में उड़ कर चला जाता है। जिससे लोगों का घर सफेद चादर से ढक जाता है। खाने पीने का सामान हो या कपड़े लसते, सभी में फ्लाई एस की एक मोटी परत जम जाती है। बीते कुछ दिनों से यह समस्या और बढ़ती जा रही है। ग्रामीणों के द्वारा इसकी शिकायत भी की जा रही है। लेकिन प्रबंधन के द्वारा कोई उचित समाधान नहीं किया जा रहा है।

पीड़ित ग्रामीण आज पहुंचे जेपीएल का घेराव करने

जानकारी के अनुसार आज पीड़ित गांव के महिलाओं के द्वारा समस्या से निजात पाने के लिए जिंदल प्रबंधन के द्वारा चलाई जा रही फ्लाई एस की गाड़ियों को रोका गया। जिसके बाद जिंदल प्रबंधन के कुछ अधिकारी मौके पर पहुंचे और घंटो समझाइश का दौर चला। मौके पर पहुंचे अधिकारियों के द्वारा दी गई समझाइस काम नहीं आया। दर्जनभर महिलाएं फ्लाई अश की समस्या को लेकर जिंदल के अधिकारी भार्गव के पास पहुंचे, जहां अभी बातचीत चल रही है।

सड़कों पर उड़ रहे फ्लाई एस से हो रही मौत

फ्लाई एस की समस्या सड़क से लेकर घर तक है। आंधी तूफान में फ्लाई एस हवा में उड़ कर घर तक पहुंच रहा है। वही सड़कों पर दौड़ने वाली फ्लाइ एस की ओवरलोडिंग गाड़ियों की वजह से राख सड़कों पर गिर रहा है। जिससे राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है और यही समस्या कभी-कभी मौत में भी तब्दील हो रही है।

ग्रामीणों के द्वारा ओवरलोडिंग गाड़ियों को रोकने के लिए किया जा चुका है चक्का जाम

कुछ दिनों पहले लिबरा के ग्रामीणों के द्वारा सड़कों पर दौड़ रही ओवरलोडिंग फ्लाई एस सी गाड़ियों की समस्या से समाधान पाने के लिए चक्का जाम भी किया गया था। जहां प्रबंधन और प्रशासन की टीम द्वारा सड़कों पर ओवरलोड गाड़ियां नही चलाने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन कुछ दिनों के बाद स्थिति जस की तस हो गई है। सड़कों पर फिर फ्लाई एस की ओवरलोडिंग गाड़ियां धड़ल्ले से चल रही है।

संबंधित खबरें

https://34.131.69.45/?p=22045

https://34.131.69.45/?p=21310

https://34.131.69.45/?p=21051

https://34.131.69.45/?p=20891

https://34.131.69.45/?p=13409

Back to top button