रायगढ़

रायगढ़ में प्राइवेट स्कूल का दिखा अमानवीय चेहरा! सातवीं कक्षा की बच्ची ने कहा; मम्मी ने फीस नही भरी तो.. मैडम ने परीक्षा देने नहीं दिया! कॉपी छीन ली… 3 घंटे तक धूप में खड़ा रखा, प्यास लगी तो पानी पीने भी नहीं दिया…!! देखें वीडियो

रायगढ़। रायगढ़ शहरी क्षेत्र के प्राइवेट स्कूल प्रबंधन द्वारा एक बच्ची के साथ अमानवीय व्यवहार किया गया। बच्ची का दोष बस इतना था कि, उसके माता-पिता द्वारा उसके स्कूल की फीस जमा नहीं की गई थी। सातवी कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा ने बताया स्कूल प्रबंधन द्वारा परीक्षा में बैठने नहीं दिया गया। इस भीषण गर्मी में 3 घंटे तक धूप में खड़ा रखा गया। बच्ची पानी मांगती रही। मगर उसे पानी नहीं दिया गया। यह घटना रायगढ़ के बस स्टैंड स्थित गार्जियन एंड गाइड प्राइवेट स्कूल की है।

पीड़ित छात्रा की मां

इस बारे में पीड़ित छात्रा की माता ने बताया कि, वह फटहामुडा के रहने वाले हैं। उनकी बच्ची का नाम पलक राय है। वह केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड स्थित गार्जियन एंड गाइड स्कूल में कक्षा सातवीं की छात्रा है। छात्रा का पिछले 2 वर्षों से कोरोना काल के कारण स्कूल फीस जमा नहीं हो पाया था। 30 मार्च को जब वह अंग्रेजी की परीक्षा देने के लिए स्कूल में गई, तब वहां की प्राचार्य द्वारा उसे परीक्षा में बैठने नहीं दिया गया। इस तपती गर्मी में 9:00 बजे से 12:00 बजे तक उसे धूप में खड़ा रखा गया। उनकी बच्ची प्यास के मारे पानी मांगती रही, पानी भी नहीं दिया गया। इस दौरान उन्हें स्कूल प्रबंधन द्वारा एक बार भी ऐसी किसी घटना की सूचना नहीं दी गई।

पीड़ित छात्रा

पीड़ित छात्रा के पिता ने बताया कि, उन्होंने अपनी बच्ची को लेने के लिए अपने एक मित्र को भेजा था। स्कूल प्रबंधन द्वारा छात्रा की स्कूल में ना आने की बात कही गई। जबकि वहां उसे सूचना मिली कि पीड़ित छात्रा प्राचार्य के कमरे के पास है। जिसका उसने वीडियो भी बनाया।

छात्रा का स्कूल में दिया गया बयान

जहां पीड़ित छात्रा ने स्कूल में ही उनके मित्र को कैमरे के सामने बताया कि “मैडम ने उन्हें परीक्षा देने नहीं दिया उसको 9:00 बजे से 12:00 बजे तक धूप में खड़ा किया और पानी पीने भी नहीं दिया।”

घटना की शिकायत और जांच

इस घटना के संबंध में छात्रा के पालकों द्वारा रायगढ़ जिला कलेक्टर और जिला शिक्षा अधिकारी को शिकायत की गई। जिसके बाद अगले दिन 31 मार्च को जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा जांच कार्रवाई की गई। जिला शिक्षा अधिकारी के पंचनामें के अनुसार जांच में स्कूल प्रबंधन द्वारा बताया गया कि, छात्रा पलक राय का सत्र 2020-21 और 2021-22 की फीस जमा नहीं हुई है। बच्ची 30 मार्च को अंग्रेजी की परीक्षा में अनुपस्थित थी। जांच अधिकारी ने अपने प्रतिवेदन में बताया है कि, इस बाबत जब उन्होंने छात्रा से पूछताछ की जो उसने 30 मार्च को स्कूल आकर परीक्षा देना बताया गया।

दोबारा परीक्षा लेने को कहा

इसके साथ ही उप जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा छात्रा को अंग्रेजी की परीक्षा में दोबारा बैठाने के लिए स्कूल प्रबंधन को कहा है और और फीस के विषय में प्रबंधन और पालकों द्वारा विवेकपूर्ण तरीके विचार विमर्श कर सुलझाने को कहा है।

देखें वीडियो :

Back to top button