Corona

ओमिक्रॉन को हल्के में ना लें, पिछले सभी वेरीएंट के मुकाबले तेजी से फैल रहा है ! WHO चीफ ने दी चेतावनी…

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रोस ने मंगलवार को कहा कि 77 से अधिक देशों ने अब Omicron के मामलों की सूचना दी है, और वास्तविकता यह है कि ओमिक्रॉन शायद अधिकांश देशों में है, भले ही इसका अभी तक पता नहीं चला हो।

पत्रकारों से बात करते हुए, टेड्रोस ने कहा कि कोरोना वायरस का ओमिक्रॉन वेरिएंट इतनी तेजी से फैल रहा है जो मैंने किसी पिछले वेरिएंट में नहीं देखा है। टेड्रोस ने चेतावनी दी कि देशों को ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लेना चाहिए और जोखिम कम करके नहीं आंके।

टेड्रोस ने एक प्रेस वार्ता में कहा कि हम चिंतित हैं कि लोग ओमिक्रॉन को हल्का मानकर खारिज कर रहे हैं। निश्चित रूप से, हमने अब तक सीखा है कि हम अपने जोखिम पर इस वायरस को कम आंकते हैं। भले ही ओमिक्रॉन कम गंभीर बीमारी का कारण बनता है, लेकिन मामलों की भारी संख्या एक बार फिर से तैयार स्वास्थ्य सिस्टम को प्रभावित कर सकता है।

बूस्टर खुराक पर बोलते हुए, टेड्रोस ने कहा कि ओमिक्रान ने कुछ देशों को अपनी पूरी वयस्क आबादी के लिए कोविड -19 के खिलाफ बूस्टर कार्यक्रम शुरू करने के लिए प्रेरित किया है, जबकि हमारे पास इस वेरिेएंट के खिलाफ बूस्टर कितना प्रभावी है इसके सबूत नहीं हैं।

“WHO चिंतित है कि इस तरह के कार्यक्रम से कोविड वैक्सीन की जमाखोरी होगी और असमानता को बढ़ाएंगे। यह स्पष्ट है कि जैसे-जैसे हम आगे बढ़ते हैं, बूस्टर एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है, खासकर उन लोगों के लिए जो गंभीर बीमारी से मृत्यु के अधिकतम जोखिम में हैं।

टेड्रोस ने आगे कहा कि WHO बूस्टर के खिलाफ नहीं है बल्कि असमानता के खिलाफ है और इसकी मुख्य चिंता केवल कुछ देशों में ही नहीं बल्कि हर जगह लोगों की जान बचाना है।

Sponsored by

Related Articles

Back to top button
Enable News Updates    OK No thanks