ChhatisgarhCrime

छत्तीसगढ़ / दबंगों के द्वारा सरपंच की हत्या मामला : 26 घंटे लगातार प्रदर्शन के बाद 7 आरोपी गिरफ्तार, 5 अभी भी फरार, तलाश जारी ! लाठी-डंडे और रॉड से पीट कर सुला दी मौत की नींद ! पढ़ें पूरी खबर…

छत्तीसगढ़ cg crime news। सरकारी जमीन पर कब्जा का विरोध करने वाले सरपंच की हत्या गांव के दबंगों के द्वारा कर दी गई थी। जांजगीर जिले के मालखरौदा क्षेत्र के ग्राम भुतहा सरपंच द्वारिका प्रसाद चंद्रा (50) की हत्या के आरोप में पुलिस ने मंगलवार को 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। ग्रामीणों के द्वारा 26 घंटे लगातार प्रदर्शन किया जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है बताया जा रहा है कि मामले में संलिप्त पांच अन्य आरोपी अभी फरार हैं जिनकी तलाश की जा रही है। पुलिस गिरफ्त में आरोपियों के द्वारा बताया गया कि उन्होंने लाठी डंडे और रॉड से पीट-पीटकर सरपंच की हत्या कर दी

मिली जानकारी के अनुसार मालखरौदा क्षेत्र के भुतहा गांव में दबंगों ने सरकारी जमीन पर कब्जा किया है। उस पर फसल भी लगा दी। इसकी शिकायत मिलने पर राजस्व विभाग ने नोटिस जारी किया था। साथ ही फसल कटवा कर शासन के सुपुर्द करने की जिम्मेदारी सरपंच द्वारिका प्रसाद चंद्रा को सौंपी थी। यह कार्रवाई सोमवार को की जानी थी। इससे एक दिन पहले ही दबंग फसल कटवाने पहुंच गए। सरपंच ने आपत्ति जताई तो उनकी हत्या कर आरोपी फरार हो गए थे

आरोपियों में पिता-पुत्र, सगे भाई भी शामिल
ग्रामीणों के बढ़ते दबाव को देखते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन अलग-अलग टीमें बनाई गई। टीमों ने दबिश देकर बोर्रा मधुकर, अमृत मधुकर उसके बेटे संजय, पलटन काठले, बुढगा उर्फ राजकुमार मधुकर, उसके भाई फूलचंद और छात्र लक्ष्मी प्रसाद मधुकर को गिरफ्तार कर लिया। सभी आरोपी छोटेरवेली गांव के ही निवासी हैं। वहीं फरार बोर्रा के बेटे सोनू, छतराम काठले, लोकनाथ काठले, गनेश राम और गंगाराम की तलाश की जा रही है।

ग्रामीणों ने सड़क जाम कर 26 घंटे किया था प्रदर्शन
सरपंच द्वारिका प्रसाद चंद्रा की हत्या के विरोध में ग्रामीणों ने 26 घंटे प्रदर्शन किया था। इस दौरान ग्रामीणों ने मालखरौदा क्षेत्र के वीर भाठा चौक पर ट्रैक्टर खड़ा कर रास्ता बंद कर दिया था। इसके साथ ही बीच चौक पर त्रिपाल लगाकर सड़क पर शव रखकर बैठ गए थे। रविवार दोपहर करीब 2 बजे से ग्रामीण सोमवार शाम तक प्रदर्शन करते रहे। ग्रामीणों ने पुलिस और प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया था। इसके बाद तहसीलदार अश्विनी चंद्रा और डायल 112 के कांस्टेबल को हटा दिया गया।

संबंधित खबर

RIG Breaking : सरपंच की पीट-पीटकर हत्या ! बेजा- कब्जाधारियों ने उतारा मौत के घाट ! सूचना मिलने पर पहुंची डायल 112 की टीम, पर बेरंग लौट गई ! सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन ! जानें क्या है मामला… पढ़ें पूरी खबर…

Sponsored by

Related Articles

Back to top button
Enable News Updates    OK No thanks