Financial newsInformationNews

Employees’ Provident Fund:- अब अकाउंट में पैसे ना होने पर EPF के पैसों से भी भर सकते हैं LIC पॉलिसी का प्रीमियम, जानें कैसे

अगर कभी LIC पॉलिसी का प्रीमियम भरने के लिए पैसों की किल्लत पैदा हो जाए तो EPF खाते की मदद ली जा सकती है। यह सुविधा LIC पॉलिसी लेते वक्त या उसके बाद प्रीमियम भरते वक्त कभी भी उपलब्ध है।

अगर आप संगठित क्षेत्र के कर्मचारी हैं और LIC पॉलिसी ले रखी है तो इंप्लॉई प्रोविडेंट फंड (EPF) की मदद से भी आप पॉलिसी का प्रीमियम भर सकते हैं। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के दायरे में आने वाली कंपनियों में कार्यरत कर्मचारियों का EPF खाता, एंप्लॉयर की ओर से खुलवाया जाता है और इसमें कर्मचारी व एंप्लॉयर दोनों की ओर से योगदान दिया जाता है। अगर कभी LIC पॉलिसी का प्रीमियम भरने के लिए पैसों की किल्लत पैदा हो जाए तो EPF खाते की मदद ली जा सकती है। यह सुविधा LIC पॉलिसी लेते वक्त या उसके बाद प्रीमियम भरते वक्त कभी भी उपलब्ध है।

क्या करना होगा

EPF खाते से एलआईसी का प्रीमियम भरने के लिए खाताधारकों को एक फॉर्म ‘Form 14’ भरकर ईपीएफओ को जमा करना होगा। फॉर्म 14 को ईपीएफओ की वेबसाइट से पाया जा सकता है। एप्लीकेशन प्रॉसेस हो जाने के बाद प्रीमियम भरे जाने की ड्यू डेट पर या उससे पहले ही ईपीएफ अकाउंट से एलआईसी प्रीमियम का पैसा कट जाएगा। फॉर्म में पॉलिसीधारक को कुछ घोषणाओं के साथ-साथ अपनी एलआईसी पॉलिसी की कुछ जरूरी डिटेल्स भी भरनी होंगी। फॉर्म 14 को यहां से एक्सेस किया जा सकता है…

https://www.epfindia.gov.in/site_docs/PDFs/Downloads_PDFs/Form14.pdf

याद रखें ये पॉइंट्स

ईपीएफओ की यह सुविधा सिर्फ एलआईसी के प्रीमियम के भुगतान पर ही उपलब्ध है। किसी दूसरी बीमा कंपनी के प्रीमियम के भुगतान के लिए इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

फॉर्म 14 को जमा करते समय आपके EPF खाते में मौजूद धनराशि, आपके कम से कम 2 साल के एलआईसी प्रीमियम के बराबर होनी चाहिए।

ईपीएफ से एलआईसी प्रीमियम भरने की सुविधा का लाभ लेने के लिए पॉलिसीधारक को कम से कम दो साल से ईपीएफओ का मेंबर इंप्लॉई होना चाहिए।

यह सुविधा केवल सालाना प्रीमियम वाली पॉलिसी पर ही मिलती है, तिमाही या छमाही प्रीमियम पर नहीं मिलती है।

Sponsored by

Related Articles

Back to top button
Enable News Updates    OK No thanks