NationalNews

करौली हिंसा: आग के लपेटों के बीच मासूम को बचाने वाले कांस्टेबल को मिला इनाम.! मुख्यमंत्री ने की तारीफ़! और दिया प्रमोशन..! पढ़े पूरी ख़बर..

Karauli News. राजस्थान के करौली में हिंसा के दौरान मसीहा बनकर कॉन्स्टेबल ने बच्चे की जान बचाई। इस दौरान कांस्टेबल का बच्ची को बचाते हुए फोटो वायरल हो गया। फोटो वायरल होते ही कांस्टेबल रातों-रात हीरो बन गया है। आग की लपटों के बीच से मासूम को छाती पर लगाकर कांस्टेबल ने बच्ची की जान बचाकर उसे नया जन्म दिया।

कांस्टेबल का फोटो देखते ही देखते पूरे देश में वायरल हो गया। और सोशल मीडिया में यूजर्स कांस्टेबल के जज्बे और साहस की तारीफ करने लगे। पुलिस महकमे में भी उसका सम्मान किया गया। खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कॉन्स्टेबल से फोन पर बात की और बधाई दी।

जांजाब कॉन्स्टेबल ने आग के लपेटों के बीच से बच्ची को बचाया

दरअसल पूरा मामला करौली जिले में फैली हिंसा के दौरान का है। दो दिन पहले जब हिंसा की आग की लपटें करौली को अपनी चपेट में ले रही थी तब कई घर और दुकानों को जला दिया गया था। वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया था। उसी वक्त कॉन्स्टेबल नेत्रश शर्मा की नजर एक परिवार और छोटी सी मासूम पर पड़ी। उसने अपनी जान की परवाह किए बिना बच्ची और उसके परिवार को उपद्रवियों और आग से बचाया और सही सलामत सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

सीएम ने शाबाशी के साथ दिया प्रमोशन का तोहफा

नेत्रश शर्मा की इस बहादुरी के चर्चे जब सोशल मीडिया पर शुरू हुए तो खुद राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने फोन लगाकर न केवल जवान की तारीफ की बल्कि उसे हाथों-हाथ प्रमोशन देकर हेड कॉन्स्टेबल बना दिया। सीएम ने बधाई दी और इसी तरह से ईमानदारी पूर्वक कार्य करने को कहा। फोन पर बात करते हुए नेत्रश शर्मा ने सीएम का आभार जताया और कहा कि उन्होंने तो बस अपनी ड्यूटी और फर्ज निभाया।

अब भी जारी हैं करौली में कर्फ्यू

बता दें कि करौली में शोभा यात्रा के दौरान फैली उपद्रव के बाद से लगातार कर्फ्यू जारी है। परीक्षा देने जाने वाले छात्रों को कुछ घंटे कंफ्यू में ढील दी गई है। इस पूरे घटनाक्रम के बाद से अब तक 53 लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है। 20 से ज्यादा वाहन जब्त कर लिए गए हैं और हजारों पुलिसकर्मियों को सुरक्षा के तौर पर जिले के चप्पे-चप्पे पर तैनात किया गया है। 20 से ज्यादा आईपीएस, 50 आरपीएस और 110 से ज्यादा इंस्पेक्टर स्तर के पुलिसकर्मियों को निगरानी में तैनात किया गया है।

Back to top button