NationalNews

Pralay Ballistic Missile: भारत ने बैलिस्टिक मिसाइल ‘प्रलय’ का किया सफल परीक्षण, DRDO ने दी जानकारी ,जानिए क्या है इसकी खासियत

भारत ने आज दिन बुधवार को उड़ीसा में बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण किया है यह मिसाइल सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल हैं तथा इसकी क्षमता 150 से 500 KM तक की हैं।

भारत अपने आप को शक्तिशाली बनाने के लिए तथा युद्ध समय में शत्रुओं पर विजय पाने के लिए अपने आपको प्रबल बना रहा है जिसके लिए वह आए दिन नहीं नहीं युद्ध चित्र का आविष्कार वह परीक्षण करते रहता है ऐसा ही एक परीक्षण आज के दिन हुआ है भारत ने बैलिस्टिक मिसाइल प्रलय का आज सफलतापूर्वक परीक्षण किया है

बता दें कि यह परीक्षण उड़ीसा के तट पर किया गया हैं। इस बीच डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गनाइजेशन (DRDO) ने बयान जारी किया जिसमे कहा कि आज भारत ने सतह से सतह पर मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण कर लिया हैं, जो की 150 से 500 किलोमीटर तक का लक्ष्य भेद सकती है।

साथ ही उन्होंने कहा कि इसके समुद्र तट के साथ इसके ट्रेजेक्टरी की निगरानी ट्रैकिंग उपकरणों की एक बैटरी ने की हैं। अगर इस बैलिस्टिक मिसाइल प्रलय कि दूरी की बात करें तो यह 350-500 किमी तक की दूरी तय कर सकता है, तथा ये मिसाइल सतह से सतह पर मार करने वाली हैं।अगर इसकी पेलोड क्षमता की बात करे तो इसकी पेलोड क्षमता 500-1,000 किलोग्राम है। प्रलय को विकसित करने की परियोजना को मार्च 2015 में ₹332.88 करोड़ के बजट के साथ स्वीकृत दी गई थी।

भारत द्वारा अपनी नई पीढ़ी की अग्नि प्राइम मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किए जाने के कुछ ही दिनों बाद यह विकास हुआ है। अग्नि-पी अग्नि कैटेगरी की मिसाइलों का एक नया एडवांस वेरिएंट है। इसके अलावा इसका ओडिशा के बालासोर में 1000 से 2000 किमी की रेंज वाली सतह पर परीक्षण किया गया था।

Back to top button