“पिंजड़ा तोड़ आंदोलन – सुरक्षा एवं अधिकार” विषय पर उद्घोष डीबेटिंग सोसायटी ने किया ऑनलाइन संगोष्ठी का आयोजन, केंद्रीय विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने लिया भाग…!!

बिलासपुर, (छ.ग.): प्रदेश के एकमात्र केंद्रीय विश्वविद्यालय, गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय, बिलासपुर के छात्रों द्वारा उद्घोष डीबेटिंग सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में ऑनलाइन संगोष्ठी का आयोजन किया गया। “पिंजड़ा तोड़ आंदोलन- सुरक्षा एवं अधिकार” विषय पर इस ऑनलाइन संगोष्ठी का आयोजन किया गया था। विश्वविद्यालय में लैंगिक समानता को क्रियान्वित एवं प्रोत्साहित कराने हेतु छात्रों द्वारा इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

इस ऑनलाइन संगोष्ठी के दौरान छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में लैंगिक समानता को प्रोत्साहित करने एवं छात्र- छात्राओं के मध्य समानता स्थापित करने को लेकर विभिन्न पहलुओं पर अपनी राय रखी। छात्रों ने यह भी बताया की पिंजड़ा तोड़ आंदोलन दिल्ली विश्वविद्यालय से शुरू होकर आज देश के विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं तक पहुँच चुकी है जिसमें छात्राएं अपने समान अधिकारों की बात विश्वविद्यालय प्रशासन तक पहुँचा पाती हैं। छात्रों ने यह भी बताया की विश्वविद्यालय स्तर पर ऐसे संगोष्ठी का आयोजन किया जाना चाहिए जिससे की छात्रों के मध्य एक अच्छी व्यवस्था का निर्माण किया जा सकेगा।

अंत में इस संगोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए युवा पत्रकार एवं केंद्रीय विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रा चांदनी नागदेव ने कुछ उपाय एवं निष्कर्षों पर अपनी बात रखी। इस कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के छात्र- छात्राओं ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायी। मुख्य रूप से इस कार्यक्रम का आयोजन उद्घोष डीबेटिंग सोसायटी के सक्रिय सदस्यों द्वारा किया गया था, जिनमें कमलेश पटेल, अनिरुद्ध श्रीवास्तव, राजेंद्र पटेल, अनमोल सोनी, खिलेंद्र साहू, वागेन्द्र श्रीवास, शुभम जायसवाल ने संगोष्ठी के सफल आयोजन में अपनी अहम भूमिका निभाई।

Read More

Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ / अस्पताल खुद है बीमार… कैसे होगा मरीजों का इलाज..! रायगढ़ मेडिकल कॉलेज में प्लास्टर गिरा,मरीज सहित तीन घायल..! यहां मौत के साय में गढ़ा जा रहा नौनिहालों का भविष्य..! स्कूल की छत का प्लास्टर गिरने से 6 मासूम घायल… दो की हालत गंभीर..!