रायगढ़/ लॉक डाउन की खबर मिलते ही सोशल मीडिया में फूटा पब्लिक का गुस्सा ! बढ़ा हुआ लॉकडाउन लोगों को नहीं आया रास ! सोशल मीडिया में लोगों ने निकाली भड़ास ! जिला प्रशासन के साथ-साथ चेंबर ऑफ कॉमर्स को भी लिया राडार पर..! देखें पब्लिक का रुझान..! स्क्रीन शॉट्स के साथ और जानें किसने क्या कहा ? पढ़े खबर..!

7,990 views

रायगढ़, 31 मई। जिले में विगत 14 अप्रैल 2021 से आज दिनांक 31 मई तक लॉकडाउन लगा हुआ है चूंकि आज लॉक डाऊन समाप्त होने की मियांद थी, रायगढ़ की जनता को उम्मीद थी कि जिला प्रशासन प्रत्येक पहलू पर विचार करते हुए लॉकडाउन समाप्त करेगा। खासकर डेढ़ महीने के लॉकडाउन में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को कुछ मरहम की उम्मीद थी।

लेकिन इसके उलट आज डीएम भीम सिंह ने आदेश जारी करते हुए लॉकडाउन को 5 जून 2021 तक बढ़ा दिया है। लॉकडाउन बढ़ाने के कारण का आदेश पत्र में जिक्र करते डीएम ने बताया कि रायगढ़ जिले में कोरोना का संक्रमण कम हुआ है, लेकिन मृत्यु दर में कोई कमी नहीं आई है। जो चिंता का विषय है इसलिए 5 दिन का लॉकडाउन लगाया गया है और छूट के तौर पर निजी निर्माण कार्य, निर्माण सामग्रियों व तिरपाल (प्लास्टिक शीट) से संबंधित दुकानों के सशर्त संचालन की अनुमति है।

जैसे ही यह खबर आम जनता को मिली तो उन्हें डीएम का निर्णय रास नहीं आया और सोशल मीडिया में उनका आक्रोश फूट पड़ा। बहुतों को उम्मीद थी की कलेक्टर साहब मजदूर वर्ग, गरीब – मध्यम व्यापारी ठेला गुमठी संचालक, जमीन पर सामान बिछाकर विक्रय करने वालों के लिए भी कुछ ना कुछ राहत जरूर देंगे ताकि उनका भी भरण -पोषण हो सके, लेकिन उनकी सोच के मुताबिक ऐसा कुछ भी संभव नहीं हो पाया। इसलिए कई लोग गरीबों के पक्ष में एवं जिन्हें उम्मीद थी बड़े व्यापार खुलने की वे सभी लोग इस निर्णय से नाराज नजर आ रहे हैं। इस कारण चेंबर को भी सोशल मीडिया में काफी किरकिरी झेलनी पड़ी है।

पब्लिक ने अपनी नाराजगी भरी प्रतिक्रिया अपने फेसबुक में लिखनी शुरू कर दी। कई लोगों ने जिला प्रशासन को आड़े हाथ लिया तो चेंबर ऑफ कॉमर्स पर भी तंज व व्यंग कसते हुए राडार पर लेना शुरू कर दिया। आइए देखते हैं रायगढ़ की पब्लिक का रुझान कैसा है और लॉकडाउन बढ़ाने के निर्णय पर उनकी अपनी क्या प्रतिक्रिया है?

देखें फेसबुक स्क्रीनशॉटस

वरिष्ठ पत्रकार विनय पांडे ने कलेक्टर साहब को सलाह देने वाले सलाहकार को आड़े हाथ लिया और छोटे दुकानदारों के पक्ष में बात करते नजर आए तो वहीं चेंबर ऑफ कॉमर्स को भी आड़े हाथ लिया और कहा कि शहर में छोटे दुकानदारों को लेकर राजनीतिक शून्यता है।

रायगढ़ शहर में रक्तवीर के नाम से मशहूर रायगढ़ ब्लड के विमल अग्रवाल ने भी चेंबर ऑफ कॉमर्स पर तंज कसते हुए फेसबुक में पोस्ट किया और छोटे दुकानदारों के साथ खड़े नजर आए।

जिला कांग्रेस के प्रवक्ता तारा श्रीवास ने व्यंगात्मक शैली में तंज कसते हुए पोस्ट किया है।

युवा संकल्प संगठन के मीडिया प्रभारी रजत शर्मा ने व्यंगात्मक लहजे में पोस्ट करते हुए अपनी बात कही है उन्होंने कहा “लगता है अब साहब बंगले में कुछ निर्माण कार्य करवा रहे हैं क्योंकि इन दुकानदारों को छूट मिली है”

एनएसयूआई के युवा कांग्रेसी नेता अखलाक खान ने सीधे-सीधे प्रश्न का डाला कि “लॉक डाऊन या मनमानी”

रायगढ़ शहर के प्रतिष्ठित शिक्षक एवं युवा संकल्प संगठन के सदस्य पीयूष चौबल ने कहा “जिला प्रशासन का निर्णय स्वीकार योग्य नहीं है आम जनता के बारे में थोड़ा सोचना चाहिए”

रायगढ़ शहर के प्रतिष्ठित समाजसेवी प्रकाश निगानिया जिन्होंने कोरोना काल में दर्जनों लोगों की मदद की है वह भी छोटे दुकानदारों के पक्ष में बात करते नजर आए।

यूथ कांग्रेस के युवा नेता रवि पांडे ने भी लॉकडाउन के निर्णय पर लिखा कि “जहां सारे जिले खुल रहे हैं वही रायगढ़ जिला में 47 दिनों के संपूर्ण लॉकडाउन के बाद जब के पॉजिटिव दर 6% होने पर अवश्य बहुत बड़ा कारण जो छुपाया जा रहा है।”

आज रायगढ़ जिले के सोशल यूजर्स का आक्रोश फुट पड़ा है देखें और भी लोगों के फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट्स

एनएसयूआई नेता मिथलेश बर्मन ने लिखा है कि

फेसबुक में ऐसे कई सारे पोस्ट पूरे जिले भर में देखे जा रहे हैं। सभी लोगों का फेसबुक पोस्ट शेयर कर पाना मुमकिन नहीं है।

Read More