रायगढ़/ बिजली की आंख मिचैली से ग्रामीण परेशान, अधिकारी नहीं उठाते फोन !! आखिर किसे सुनाए अपनी समस्या, पढ़े विस्तृत खबर…

1,081 views

रायगढ़ /आप लोगों ने दिया तले अंधेरा, तो पढ़ा और सुना ही होगा वहीं इसका एक सामान्य अर्थ निकालें तो निकलता है दीपक के नीचे का हिस्सा अंधेरा होना, हम इसलिए ऐसा बता रहे हैं क्योंकि इसी से संबंधित मामला निकल कर आ रही है । जाहां बिजली उत्पन्न करने वाली पावर प्लांट तो हैं लेकिन उसके ही आस पास के गांव में हल्की आंधी आने के बाद ही अंधेरा छा जाती है । इसमें बिजली उत्पन्न करने वाले कंपनी की गलती नहीं बल्कि तमनार बिजली विभाग के अधिकारियों की गलती है।

रायगढ़ जिले का तमनार ब्लाक जहां से बिजली उत्पान्न होकर अन्य राज्यों में सप्लाई की जाती है लेकिन तमनार ब्लाक के ग्रामीण इलाकों में आज भी बिजली की समस्या बनी हुई है, हल्की बारिश आंधी और हवा चलने के बाद लाइट घंटे- घंटे भर तो वहीं दिन-रात के लिए बंद हो जाती है ।

कोरोना काल होने के कारण विद्यार्थियों की परीक्षाएं ऑनलाइन माध्यम से संचालित हो रही है वहीं कई विद्यार्थियों के समय सीमा निर्धारित की गई है जिन्हें 3 से 4 घंटे के भीतर ही प्रश्न पत्र हल करके जमा आनलाईन माध्यम से करना होता है , लेकिन बीते रात से लाइट नहीं होने के कारण छात्र समस्याओं का सामना कर रहे हैं, ऐसा नहीं कि आज पहली बार कल के आंधी के कारण लाइट बंद हुई हो,जब भी हल्की आंधी तूफान आती है ग्रामीण इलाकों में बिजली सप्लाई की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

विभाग के अधिकारी नहीं उठाते फोन

तमनार विद्युत विभाग में अपनी समस्या को लेकर ग्रामीण जे ई अविष्कार तिग्गा से संपर्क साधना तो चाहते हैं लेकिन साहब ग्रामीणों का फोन भी नहीं उठाते। आखिर क्यों फोन उठाए साहब जो हैं । साथ ही लाइनमैन भी फोन नहीं उठाते , और ऑफिस का कोई सरकारी नंबर भी ग्रामीणों के पास ग्रामीण नहीं है आखिर ग्रामीण अपनी समस्या बताए तों किसे, कहीं गांवों में अक्सर तार टूटने की बात आती है तो ग्रामीण खुद एकजुट होकर उसे अपनी जान जोखिम में डालकर मरम्मत करने में जुट जाते हैं।

विद्युत विभाग के अधिकारियों को कोराना योद्धाओं का सम्मान भी दिया गया है लेकिन केवल यह शहर के क्षेत्रों पर ही लागू होता है, शहर में 24 घंटे बिजली की सप्लाई नियमित रूप से होती है तो वहीं ग्रामीण इलाकों में ग्रामीण बिजली की समस्या से जूझते रहते हैं गर्मी के मौसम पानी समेत अनेक समस्याओं समसयाएं उतपन्न हो जाती है।

क्या गर्मी के पूर्व नहीं की जाती है मरम्मत

क्या गर्मी के मौसम के आने से पूर्व तारों की मरम्मत व पेड़ों की डालियों की छटनी नहीं की जाती, यदि की जाती होगी फिर तो इस प्रकार की समस्याएं उत्पन्न नहीं होनी चाहिए, लेकिन आए दिन सुनने को मिलता है कि कहीं पर तार टट गई है,तो कहीं पेंड की डालियां । यदि पूर्व में मरम्मत की जाती तो इस प्रकार की समस्याएं उत्पन्न नहीं होती।

क्या कहते हैं ग्रामीण व छात्र

नूतन साव ने हमें फोन कर बताया कि उनका आज परीक्षा है मोबाइल में चार्जिंग भी कम है कल देर शाम से लाइट नहीं है विभाग के अधिकारियों से संपर्क साध रहे हैं लेकिन किसी प्रकार की संतोष पूर्ण जवाब नहीं मिल रहा ।

नूतन साव

आए दिन हमारे ग्रामीण इलाकों में बिजली की समस्या उत्पन्न हो जाती है, हल्की-हल्की तूफान आने के बाद लाइट काट दी जाती है।

ओंकारेश्वर दास

Read More