CoronaRaigarh

RIG Breaking: रायगढ़ में आज से नाइट कर्फ़्यू ! जिला कलेक्टर भीम सिंह ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस में की घोषणा..

रायगढ़। रायगढ़ जिले में आज से नाइट कर्फ्यू शुरू हो गया है। रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक या नाईट कर्फ्यू रहेगा। इस दौरान आवागमन पर पाबंदी रहेगी। रायगढ़ जिला कलेक्टर ने आज शाम 4:00 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि

“राज्य शासन द्वारा निर्धारित किया गया है कि जिन जिलों में कोविड-19 संक्रमण के मामले 4% से अधिक है। उन जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाया जाए। इसलिए आज से रायगढ़ जिले में रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू किया है। इस दौरान जो भी अनावश्यक रूप से घूमता पाया जाएगा, उसके ऊपर कार्यवाही की जाएगी। सभी नागरिकों से अपील है कि इस दौरान अनावश्यक रूप से बाहर ना निकले।”

वीडियो: प्रेसवार्ता में रायगढ़ कलेक्टर भीम सिंह

“राज्य शासन द्वारा सभी जिला के कलेक्टर और एसपी को एक आदेश जारी किया गया है जिसमें कहा गया है कि सभी जिलों में जुलूस, रैलियों, पब्लिक गैदरिंग, सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और खेल आयोजनों पर रोकलगाई जाए। चार प्रतिशत या अधिक पॉजिटिव रेट वाले जिलों में सभी स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों, पुस्तकालयों, स्वीमिंग पूल और सार्वजनिक स्थानों को बंद रखा जाए. रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रात्रिकालीन क्लैम्प डाउन लगाएं। रायगढ़ में पॉजिटिव दर 4% से अधिक है। इसलिए रायगढ़ जिले में इन नियम को आज से लागू किया गया है।”

रायगढ़ जिला कलेक्टर द्वारा जारी गाइडलाइन

 

  1. आदेश के तहत रात्रि 10 बजे से प्रात: 6 बजे तक दुकानें बंद रहेंगी। केवल लोडिंग अनलोडिंग का कार्य किया जाएगा।
  2. सभी स्कूल, आंगनबाड़ी केन्द्र आगामी आदेश पर्यन्त बंद रहेंगे।
  3. सभी पुस्तकालय, स्विमिंग पुल, जिम, सिनेमा घर एवं थियेटर बंद रहेंगे।
  4. सभी जुलूसों, रैलियों, सभाओं, सार्वजनिक समारोहों, सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, खेल आदि के सामूहिक आयोजन करना प्रतिबंधित रहेगा।
  5. रेस्टोरेंट एवं होटल क्षमता के एक तिहाई उपस्थिति के साथ चालू रखने की अनुमति होगी।
  6. सभी सार्वजनिक स्थानों, भीड़, बाजारों, दुकानों आदि में मास्क लगाना अनिवार्य होगा।
  7. दुकानदार एवं उनके कर्मचारियों को भी मास्क लगाना अनिवार्य होगा। मास्क नहीं पहनने वालों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी।

उक्त आदेश तत्काल प्रभावशील होगा तथा इसका उल्लंघन करने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 सहपठित एपिडेमिक डिसीज एक्ट 1987 यथा संशोधित 2020 एवं भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 के अंतर्गत विधि अनुकूल कठोर कार्यवाही की जाएगी।

पढ़े संबंधित ख़बर

Sponsored by

Related Articles

Back to top button
Enable News Updates    OK No thanks