एसबीआई जेपीएल तमनार ब्रांच के दुर्व्यवहार दोहरे मापदंड से ग्रामीण खफा! कंपनी के कर्मचारियों और ग्रामीणों में करते हैं भेदभाव! बैंक की मनमानी के खिलाफ बड़ी शिकायत की तैयारी..

1,474 views

रायगढ़/तमनार। बैंकिंग सेवाओं को लेकर स्टेट बैंक कर्मचारी हमेशा से ही ग्राहकों के रडार में रहे हैं। बैंक के केंद्रीय प्रबंधन के द्वारा सेवाओं में गुणवत्ता और ग्राहकों के साथ व्यवहार के लिए कर्मचारियों को हिदायत भी दी जाती है, मगर इसका असर उन पर दिखाई बहुत ही कम पड़ता है। ऐसा ही एक मामला रायगढ़ जिले के तमनार क्षेत्र के अंतर्गत आया हैं। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा जेपीएल तमनार परिसर के भीतर है। यह कंपनी के कर्मचारियों के अलावा ग्रामीणों के भी अकाउंट हैं। ग्रामीण ग्राहकों का आरोप है कि बैंक कर्मचारियों द्वारा दोहरा मापदंड अपनाया जाता है।

उन्होंने बताया कि स्टेट बैंक आफ ईंडिया का उद्देश्य ग्राहकों को उचित सेवा देना होता है, लेकिन तमनार के जेपीएल परिसर में स्थिति एसबीआई तमनार में इसके विपरीत काम होता है। यहां बैंक के कर्मचारी अपनी मनमर्जी पर तुले हुए होते हैं। तमनार एक ओद्योगिक ब्लॉक हैं। यदि उद्योग के कर्मचारी पैसा जमा करे या चेक जमा करे तो काउंटर में बैठे कर्मचारी अन्य ग्राहकों को दरकिनार कर ले लेते हैं और उनका भुगतान भी तुरंत कर दिया जाता है। लेकिन कोई ग्रामीण वहां पहूंचे तो पैसा एटीएम मशीन में और चेक ड्राफ्ट बॉक्स में जमा करने को कर्मचारियों द्वारा कहा जाता है।

साथ ही साथ ग्रामीण होनें के नाते दुर्व्यवहार किया जाता हैं। सीधी बात कही जाए कर्मचारियों द्वारा ऊँच निच का भाव किया जाता है। इसी बात की जानकारी आज हमनें बैंक मैनेजर से जानने के लिए एस बी आई जेपीएल तमनार शाखा पहुंचे मगर आज वहा मैनेजर साहब ही नहीं थे। फिलहाल लगातार हो रहे दुर्व्यवहार से ग्रामीण बहुत ही आहत है और उनके इस दोहरे मापदंड की शिकायत वह एसबीआई के केंद्रीय अधिकारियों को भेजेंगे।