न दिन में सुकून न रात में ,ये है जमीनी स्तर के कोरोना योद्धाओं की कहानी..! जिनकी ली जाती है रात में..

874 views

रायगढ़ /जहां एक ओर कोरोना योद्धा दिन-रात कड़ी मेहनत कर रहे हैं ताकि कोरोना को रोका जा सके. मरीजों की जांच से लेकर उन्हें दवाई पहुंचाने साथ ही साथ उनकी डाटा बनाने से लेकर विभागीय मिलो को पहुंचाने की भी जिम्मेदारी इनके ऊपर ही होती है लेकिन इन योद्धाओं को ना तो दिन में सुकून है ना रात में दरअसल में हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि कोरोना योद्धा एक और जहां दिनभर काम करते हैं तो वही देर रात तक अधिकारी बेवजह के वीसी लेने पर मस्त रहते हैं. और ये वीसी 1 दिन नहीं बल्कि प्रतिदिन हो रही है न जाने ऐसी कौन सी महत्वपूर्ण बातें हैं जिसे बताने के लिए अधिकारी रात के 9:00 बजे और 10:00 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अपने कर्मचारियों से रूबरू होते हैं.

दरअसल में यह पूरा मामला रायगढ़ जिले के बरमकेला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है जहां के स्वास्थ्य कर्मी अपने अधिकारियों के इतनी देर रात की वीसी से काफी परेशान है. लेकिन आला अधिकारियों के हुक्म के आगे वह कुछ भी नहीं बोल पा रहे हैं मीडिया को नाम ना बताने की शर्त में उन्होंने अपनी पीड़ा मीडिया से साझा की.

महिला स्वास्थ्यकर्मियों को ज्यादा होती है परेशानी

विभाग के आला अधिकारियों की रात के 9:00 बजे 10:00 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जोड़ने के निर्देश से महिला वर्ग के चिकित्सा कर्मी परेशान है उनका कहना है कि वह दिन भर तो काम करते हैं रात के समय परिजनों को भी समय देना होता है लेकिन देर रात वीसी लेना समझ से परे है. वे बताते हैं कि दिन भर का डाटा व्हाट्सएप के माध्यम से वह आला अधिकारियों को दे तो देते हैं बावजूद इसके उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पूरा जानकारी देनी होती है उनका कहना है कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग नगर कार्यालय समय में ले ले तुझे कोई दिक्कत नहीं होगी लेकिन देर रात लेने से उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. वैसे भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग नाम मात्र रहता है बेवजह की बातें ज्यादा होती है.

मामले को लेकर क्या कहते हैं BMO साहब

वही जब इस मामले को लेकर खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ अवधेश पाणिग्रही से बात की गई तो उनका कहना है दिशा निर्देश देने के लिए थोड़ी देर के लिए वीसी लिया गया था. क्योंकि बीते दिन Covid19 एंटीजन टेस्ट कम हुआ था इसी के संदर्भ में कर्मचारियों से वीसी लिया गया था. भविष्य में अब कार्यालयीन समय में ही वीसी लिया जाएगा.