बाढ़ पीड़ितों के पास पहुँचें मंत्री उमेश पटेल.. समस्याओं के जल्द निराकरण हेतू अधिकारियों को दिये निर्देश..!

  • किसानों को राहत देने के लिए होगा हर संभव उपाय
  • मुआवजा प्रकरण बनाने अधिकारियों को निर्देश

रायगढ़, 30 अगस्त। उच्चशिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने महानदी के बाढ़ग्रस्त गांवों का सघन दौरा किया और प्रभावितजनों के समस्याओं का समाधान करने हेतु एसडीएम उर्वशा, अपर कलेक्टर कुरुवंशी, सीईओ व तहसीलदार पुसौर व उपस्थित स्थानीय जनप्रतिनिधियों को निर्देशित करते हुए तत्काल पीड़ितों को राहत सामग्री तथा उनके घरों में जो नुकसान हुआ है उसकी मुआवजा की प्रक्रिया को जल्दी ही पुरा करने के लिए निर्देशित किया।

विदित हो की विगत 3 दिवस से भारी बारिश के चलते महानदी में आई बाढ़ के कारण आसपास के 30 ग्राम जो नदी के 5 किलोमीटर के रेडियस में फैले हुए हैं वहां पानी पूरी तरीके से घुसकर घर परिवारों को तबाह कर चुका है। खेत में लगे धान की फसल अनुमानित 800 एकड़ में लगे फसल लगभग बर्बाद हो चुके हैं।

भारी प्राकृतिक आपदा को देखते हुए उच्च शिक्षा मंत्री माननीय उमेश पटेल विगत 29 अगस्त को रात्रि में रायपुर से नंदेली जब लौट रहे थे तो वे महानदी बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात करने हेतु रात को ही 10:30 बजे ग्रामीणों के पास जा पहुंचे। नांव के सहारे उन्होंने नदी पार किया और ग्रामीणों से मुलाकात कर उनके सुख-दुख के भागी बने।

30 अगस्त को प्रातः से ही मंत्री उमेश पटेल बाढ़ पीड़ित गांवों में सघन दौरा कर लोगों से मिले और बाढ़ से हुए धन जन की क्षति का अवलोकन किये। मंत्री उमेश पटेल ने ग्राम बाराडोली, सिंगपुरी, रायपाली, नवापारा ब, जिलाड़ी , सिलाड़ी, खपरापाली, बुनगा शिविर, चंगोरी तथा अन्य गांव के बाढ़ पीड़ितों से रूबरू होते हुए उनके समस्या का त्वरित निराकरण करने के लिए उपस्थित अधिकारियों व स्थानीय जनप्रतिनिधियों को निर्देश दिया।

किसानों को दिया जाएगा मुआवजा

बाढ़ पीड़ित क्षेत्र का दौरा करते हुए मंत्री उमेश पटेल ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि किसानों को फसल बीमा की राशि भुगतान करने हेतु आवश्यक प्रपत्र तैयार करें तथा जो किसान ठेका रेग अधिया में जमीन लेकर कृषि कार्य कर रहे हैं वे भी वास्तविक भूस्वामी से सहमति लेकर फसल क्षति का मुआवजा प्राप्त कर सकें इसकी भी व्यवस्था की जाए।

पशुधनों के चारे पानी की व्यवस्था का भी रखा ख्याल

पूरे गांव में महानदी का पानी घुस जाने के कारण पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था नहीं है। गांव में मौजूद पैरा व घास सारे डूब चुके हैं इसलिए कोई भी पशु भूखा ना मरे इसकी व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए मंत्री ने पशुधनों के लिए आवश्यक खाद्य सामग्री जैसे पैरा इत्यादि की समुचित व्यवस्था करने के लिए उपस्थित स्थानीय जनप्रतिनिधियों तथा प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा यह समय एक दूसरे की मदद करने का है और हम सब आप सभी के साथ खड़े हैं जो भी जरूरत हो उसके लिए यहां पर हमारे स्थानीय जनप्रतिनिधि मौजूद हैं अगर वह नहीं कुछ करते तो आप मुझे बताइए मैं आप लोगों की समस्याओं का समाधान करने के लिए ही यहां आया हूं।

क्षति का मुआवजा देने के लिए अधिकारियों को जल्द सर्वे करने को कहा

महानदी के प्रकोप से ग्रामीणों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया उनका खेत -खलियान, घर – बार तक उजड़ चुका है। रुंधे गले से ग्रामीणों ने अपनी व्यथा अपने नेता उमेश पटेल को सुनाया तो मंत्री उमेश पटेल ने उपस्थित समस्त अधिकारियों को क्षेत्र के पटवारियों को जिन – जिन ग्रामीणों का फसल नुकसान हुआ है उनका सर्वे करने हेतु उपस्थित सभी अधिकारियों को तत्काल निर्देशित करते हुए कहा –

‘यदि सर्वे करने के लिए अधिक सरकारी कर्मचारियों को जरूरत है तो आप कीजिए लेकिन सर्वे को जल्द से जल्द पूरा करके मुआवजे की राशि तय करें ताकि हम अपने पीड़ित लोगों को मुआवजा जल्दी दे सकें।’

राहत शिविर का लिया जायजा:

मंत्री उमेश पटेल ने बाढ़ पीड़ित ग्रामीणों के खाने – पीने की व्यवस्था हेतु राहत शिविर केंद्र का निरीक्षण किया तथा जो भी कमी ग्रामीणों ने बताया उसके त्वरित निराकरण हेतु अगर कलेक्टर एसडीएम, तहसीलदार कम्व सीईओ को निर्देशित किया। मंत्री उमेश पटेल के दिशा निर्देशानुसार जिला प्रशासन तथा स्थानीय जन प्रतिनिधियों ने ग्रामीणों को जरूरत की चीजों का वितरण किया तथा कम पड़े तो पूर्ति हेतू निर्देशित किया।

देखें वीडियो

ग्रामीणों की मांग पूरी करने का दिया आश्वासन

अपने लाड़ले नेता उमेश पटेल को अपने बीच पाकर ग्रामीणों की आंखें भर आई और उन्होंने भावुक मन से मंत्री को अपनी तकलीफों को बताना जरूरी समझा। बड़े ही सादगी पूर्वक उमेश पटेल ने ग्रामीणों की बात को सुनी और उनके द्वारा जो भी मांग किया जा रहा था उसे बाकायदा पॉइंट टू पॉइंट बात करते हुए ग्रामीणों को पूरा करने का आश्वासन दिया। कुछ गांव में ग्रामीणों ने सड़क की मांग की गयी तो कुछ गांवों में सामुदायिक भवन की मांग किया है। जिसे सुनकर मंत्री उमेश पटेल ने ग्रामीणों को कहा कि आप लोग सामुदायिक भवन के लिए जगह सर्वसम्मति से देख लें सामुदायिक भवन बनाने की जिम्मेदारी मेरी है। यह सुनते ही ग्रामीणों में हर्ष दौड़ पड़ी तो वही जिस गांव में सड़क निर्माण करने की मांग की गई वहां पर मंत्री उमेश पटेल ने आश्वासन दिया की सड़क निर्माण सही तरीके से किया जाएगा आप लोग निश्चिंत रहें।

आप सब मेरे अपने हैं इसलिए आपके बीच आया हूं

बाढ़ पीड़ितों के बीच जब मंत्री उमेश पटेल पहुंचे तो ग्रामीणों ने जब उन्हें अपनी व्यथा सुनानी शुरू की जिसे सुनकर उमेश पटेल काफी भावुक हो गए और उन्होंने कहा कि –

‘आप सब मेरे अपने हैं और आप लोगों के लिए ही मैं यहां आया हूं आप लोगों को जो भी समस्या है उसका समाधान करना मेरी जिम्मेदारी है और जवाबदारी भी है इसलिए आप लोग निश्चिंत रहें अपनी समस्या बताएं यहां पर जिला प्रशासन के सारे अधिकारी मेरे साथ मौजूद हैं जो भी समस्या है हम आपकी पूरी समस्याओं का समाधान जल्द से जल्द करेंगे।

मंत्री उमेश ने पैदल चलकर क्षतिग्रस्त मकान, खेत व नालों व पुलिया का किया निरीक्षण,

महानदी का पानी गांव घुसने के कारण कई कच्चे मकान ढह गए हैं खेतों में धान डूब चुकी है फसलें नष्ट हो चुकी हैं। सड़कों में पानी भरी हुई है ऐसी स्थिति में भी उमेश पटेल पैदल निकल पड़े। वह वास्तविक स्थिति का जायजा लेते हुए उन्होंने देखा कि कुछ गांव में सड़क के ऊपर जो पुल बनी हुई है उसकी ऊंचाई थोड़ी कम है जिसकी वजह से बाढ़ का पानी सड़कों के ऊपर लगभग 4 से 5 फीट ऊपर बह रहा है। उन्होंने तत्काल इस विषय पर संज्ञान लेते हुए सड़क के ऊपर बने पुल को और ऊंचाई में बनाने की बात कही ताकि पुल के ऊपर से पानी ना जाए और सड़क बाधित ना हो यह सुनकर ग्रामीणों ने तालियों के साथ उनका अभिनंदन किया।

आज उनके साथ वरिष्ठ नेता दिलीप पाण्डेय, लक्ष्मीकांत मिश्रा, पुसौर नगर पंचायत अध्यक्ष रितेश थवाईत, जनपद पंचायत अध्यक्ष सुशील भोई, उपाध्यक्ष गोपी चौधरी, जिला पंचायत सदस्य आकाश मिश्रा, दीपक अग्रवाल, युवा नेता रवि पाण्डेय के साथ अन्य स्थानीय नेता व उमेश पटेल के समर्थक भ्रमण में रहे।

Join Group

Read More

Raigarh

RIG Breaking : दीपावली के अवसर पर डीएम भीमसिंह ने रायगढ़ जिले में दुकानों के खुलने व बन्द करने के समय में फिर किया संशोधन.. जानें अब जिले में कब से कब तक खुलेंगी दुकानें ? क्या रविवार को होगा टोटल लॉक डाऊन ? जानने के लिए पढ़े खबर..!