रायगढ़ प्रेस क्लब के नए युग की शुरुवात, हेमन्त थवाईत अध्यक्ष तो नवीन शर्मा बने सचिव.. लम्बी खींचतान के बाद सर्वसहमति से इन नामों पर लगी मुहर..!

  • RIG24.IN (रियल इंडियन ग्रुप) के संस्थापक आशीष शर्मा ने नवनियुक्त अध्यक्ष हेमन्त थवाईत को जीवंत स्मृति के रूप में पौधा देकर दी शुभकामनाएं व बधाई..

RIG24, रायगढ़। प्रेस क्लब की नई कार्यकारिणी के गठन को लेकर पिछले कई दिनों से चल रही सरगर्मी आज लोकतांत्रिक तरीके से पुष्पक होटल में युवा कलमकार हेमन्त थवाईत के अध्यक्ष व नवीन शर्मा के सचिव बनते ही समाप्त हो गई। इसके पहले इस क्लब के अध्यक्ष वासु मोदी व सचिव दिनेश मिश्र व कार्यकारी अध्यक्ष नरेश शर्मा रहे।

लंबे समय से इस कार्यकारिणी की जगह नए पदाधिकारियों के निर्वाचन की मांग उठ रही थी। कुछ पत्रकार साथीयो ने प्रेस क्लब की कार्यशैली को लेकर अपनी असहमति भी जताई थी। लोकतंत्र सबको अपनी बात रखने का अधिकार देता है। प्रेस क्लब ने सभी आपत्तियों पर चर्चा कर उनका सर्वसम्मति से समाधान किया और नए अध्यक्ष का निर्वाचन की प्रक्रिया शुरू की l लंबे समय से पत्रकरिता के क्षेत्र में कार्य कर रहे युवा कलमकार हेमन्त थवाईत के नाम पर सर्वसम्मति बनी एवं सचिव पद हेतु नवीन शर्मा के नाम पर भी सभी साथियों ने कर तल ध्वनि से सहमति जताई।

सर्वसम्मति की मुहर ने यह प्रमाणित किया है कि इन दोनो जाबांज साथियों को सभी कलमकार दिल से चाहते है।दोनो से सभी को बहुत सी उम्मीदे है जिन पर वे खरा उतरेंगे। संस्थापक गुरुदेव कश्यप जी के स्वप्न को पूरा करने के लिए सभी को साथ लेकर चलना होगा।

हेमन्त थवाईत की पहचान अंतर्मुखी लेकिन जिंदादिल पत्रकार के रूप में स्थापित है। शहर की नब्ज को बेहतर समझने वाले हेमन्त थवाईत बतौर पत्रकार एक श्रेष्ठ राजनैतिक समीक्षक के रूप में स्थापित है। हेमन्त की शालीनता ही उन्हें मीडिया में विरले पत्रकार के रूप में स्थापित करती है। हेमन्त एक ऐसे कलमकार है जिनकी राजनैतिक स्वीकार्यता भी है। इसका लाभ भी प्रेस से जुड़े साथियों को मिलेगा।साथ ही सरकारी महकमे में भी हेंमत थवाईत का एप्रोच सबसे ज्यादा माना जाता है।

नवीन शर्मा अथक मेहनती पत्रकार के रूप में स्थापित है।पिछले दो दशकों से मीडिया के क्षेत्र में कार्य कर रहे नवीन शर्मा ने प्रेस व समाज के मध्य एक सेतु की भूमिका निभाई है। नवीन की मिलनसारिता ही उनकी स्वीकार्यता की वजह बनी। प्रेस से जुड़े सभी साथियों को दोनो युवाओ से बहुत सी उम्मीदे है।जिन पर ये खरा उतरेंगे। हेमन्त थवाईत व नवीन शर्मा के नाम पर सर्वसम्मति उनकी स्वीकार्यता का प्रमाण है। हेमन्त व नवीन के नाम का प्रस्ताव आते ही समर्थन करने की होड़ सी लग गई। प्रेस से जुड़े साथियों ने सर्वसम्मति से अपने नेता चयनित कर यह प्रमाण दिया कि अपनी मातृ संस्था प्रेस क्लब से सबका अगाध लगाव है। वे उनके सम्मान में कभी भी कमी नही आने देंगे।