रायगढ़/ सड़कों पर दौड़ती बेखौफ ओवरलोड फ्लाईएस की गाड़ियां..!आज जहां ड्राइवरों ने कर दी हड़ताल तो सभी गाडियां एक साथ हो गई कैमरे मे कैद! देखें वीडियो…

1,494 views

रायगढ़/ जिले के औद्योगिक ब्लॉक तमनार के उद्योग जेपीएल तमनार से बिजली उत्पादन के पश्चात निकलने वाली फ्लाई एस डस्ट (राख) को डोंगामहुआ के बंद पड़े कोल माईसों में डंप किया जाता है। इसे हाईवा के माध्यम से ले जाया जाता है। अधिक फेरी चक्कर लगाने के चक्कर में हाईवा चालक तेज गति से अपने वाहन चलाते हैं और रोड में डस्ट गिराते हैं। साथ ही वाहनों में अच्छी तरह से तृपाल भी पूरी तरह तक ढकी भी नहीं होती है। जिससे डस्ट के छोटे-छोटे कण उड़ते हैं। इसका खामियाजा मोटरसाइकिल सवार साइकिल सवार , साईकिल सवार व पैदल राहगीरों को भुगतना पड़ता है,साथ ही गतिअवरोध के समीप भी फ्लाई एस गिरती है।जहां अन्य वाहन गुजरने के पश्चात फ्लाई एस उडने लगती है ।

फिलहाल अभी लाकडाउन लगा हुआ। जहां राहगीर कम है, इसका फायदा ट्रक ड्राइवर और ज्यादा उठा रहे है। सबसे ज्यादा फ्लाई एस परिवहन में एस टेक कंपनी की गाडियां लगी हुई है। जो पुर्ण रूप से ओवरलोड होती हैं। जहां आज तकरीबन 12 ओवर लोड गाडियां कई घंटों से हुंकराडीपा चौंक में खड़ी है।

ड्राइवरों से पूछने पर बताया कि कई महीनों से उनके पेमेंट का भुगतान नहीं हुआ है। जिसके कारण सभी गाड़ियां खड़े कर दिए हैं। एक ओर जहाँ कोरोना के आंकड़े लगातार बढ़ रहे है। लाकडाउन लगा हुआ है। किराना, राशन की दुकानें बंद है। ड्राइवर आर्थिक स्थिति से जुझ रहे है। दुकानें बंद होने कारण ड्राइवरों को ढाबा से पार्सल ले जाकर खाना खाना पड़ता है ।

देखें ओवरलोड फ्लाईएस की गाडियां

जहां ओवरलोडेड गाड़ियां की समाचार प्रमुखता से कई बार दिखाई गई है, लेकिन कार्यवाही के नाम में महज खानापूर्ति होती है। ग्रामीण व सामाजिक संगठन फ्लाई एस डस्ट के खिलाफ एनजीटी तक लड़ाई कर चुके हैं, साथ ही साथ कुछ लड़ाई जारी है। पर्यावरण विभाग को भी इसके लेकर कई बार शिकायत दर्ज कराई गई है। लेकिन विभाग की उदासीन रवैया ,भ्रष्टप्रशासन को ग्रामीणों की पीड़ा दिखाई नहीं देती। ना तो रोड पर बेखौफ दौड़ रहे हाईवा की कभी किसी प्रकार जाच होती है।