रायगढ़/3 फरवरी को कैंसर का ई-कैम्प,मरीजों को मिलेगा इलाज के लिए परामर्श,1व 2 फरवरी को चलाया जाएगा जागरूकता अभियान..!

रायगढ़/राष्ट्रीय गैर संचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत जिले में पहली बार कैंसर मरीजों के लिए ई-कैंप का आयोजन 1 फरवरी को किया जा रहा है। ई कैंप के माध्यम से कैंसर के मरीजों को ईलाज के लिए परामर्श प्रदान किया जाएगा।

हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर द्वारा  कैंसर के संभावित मरीजों को सूचीबद्ध करने को कहा गया है| साथ ही उनकी उपस्थिति सुनिश्चित  करने के लिए जिला स्तर पर तैयारी कर ली गई है। सीएमएचओ व एनसीडी के नोडल अधिकारी ने इस बाबत सभी को निर्देश भी जारी किया है।

इस ई-कैंप में देश के नामी ऑन्कोलॉजिस्ट डॉ. दिनेश पेंडारकर और मध्यप्रदेश के कैंसर के नोडल अफसर डॉ. सीएम त्रिपाठी मौजूद रहेंगे। जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से नेशनल प्रोग्राम फॉर प्रिवेंशन एंड कंट्रोल ऑफ कैंसर, डायबटीज, कॉर्डियोवैस्कुलर डिसीसेस एंड स्ट्रोक (एनपीसीडीसीएस) के जिला नोडल अधिकारी डॉ. योगेश पटेल इस ई-कैंप को ऑनलाइन संचालित करेंगे जिसमें डॉ. पेंडारकर, डॉ. सीएम त्रिपाठी के साथ सभी ब्लॉक के एमओ जुड़ें होंगे।

कीमोथैरेपी को यहीं दिया जाएगा : डॉ. योगेश पटेल


डॉ. योगेश पटेल ने बताया, “ऑनलाइन टेलीमेडिसीन पद्धति से हर एक मरीज की स्क्रीनिंग की जायेगी। इसके बाद उन्हें आगे के इलाज के लिए सलाह, कीमोथैरेपी, बायोप्सी जांच व ऑपरेशन के संबंध में जानकारी भी दी जायेगी। उन्होंने बताया जिले में पहली बार कैंसर मरीजों के लिए मुफ्त ई-कैंप का आयोजन किया जा रहा है। ब्लॉक स्तर पर नए मरीजों की पहचान किया जा रहा है। ई-कैंप के लिए मरीजों का पंजीयन आगामी 1 व 2 फरवरी तक पूरा कर लिया जाएगा। इन्हीं दिनों में कैंसर के लिए जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा। जिन लोगों का पंजीयन होगा उनकी स्क्रीनिंग होगी फिर इसके बाद उन्हें परामर्श दिया जाएगा।
डॉ. पटेल ने यह भी बताया कि कैंसर के मरीजों को दी जाने वाली कीमोथैरेपी की व्यवस्था फिलहाल जिले में नहीं है लेकिन इस बार स्वास्थ्य विभाग की पूरी कोशिश है कि कीमोथेरेपी की यूनिट जिले में शुरू हो सके।”

डेढ़ घंटे चलेगी टेलीमेडिसीन, नए मरीजों की होगी स्क्रीनिंग

एनपीसीडीसीएस कार्यक्रम के स्टेट नोडल डॉ. महेंद्र सिंह ने बताया,  प्रदेश के 21 जिला अस्पतालों में कीमोथैरेपी और डे-केयर दीर्घायू यूनिट की सुविधाएं 22 जनवरी से 4 फरवरी तक हर दिन दो जिलों में कैंप आयोजित कर दी जा रहीं हैं इस दौरान कैंसर रोग के विशेषज्ञों द्वारा मरीजों को ऑनलाइन जांच व परार्मश प्रदान किया जा रहा है । एनपीसीडीसीएस कार्यक्रम के तहत जिला अस्पतालों में प्रशिक्षित चिकित्सकों  के देखरेख में डेढ़ घंटे तक चलने वाली इस टेलीमेडिसीन में नए मरीजों की स्क्रीनिंग के साथ ही पुराने मरीजों का फॉलोअप भी किया जा रहा है। टेलीमेडिसीन के जरिए डॉ. पेंडारकर और डॉ. त्रिपाठी जो भी सलाह देंगे, उन्हें स्थानीय स्तर पर मरीजों को दिया जाएगा। इसके लिए यहां दवाओं की व्यवस्था के साथ ही सारे साधन-संसाधन जुटा लिए गए हैं।

सीएमएचओ डॉ. एसएन केसरी ने बताया कि गतवर्ष फरवरी महीने में डॉ पेंडारकर और डॉ.त्रिपाठी द्वारा जिला अस्पतालों में शिविर लगाकर मरीजों का इलाज व परामर्श की सुविधाएं प्रदान की गई थी। इस वर्ष कोरोना संकट की वजह से ऑनलाइन माध्यम से ई-कैंप लगाया जा रहा है।