180 टीमो के 1400 कर्मचारियो ने किया एक हफ्ते में रिकॉर्ड तोड़ 16000 कोरोना टेस्ट! 3 लाख 29 हजार 276 घरों में किया सर्वे..! जानिए रायगढ़ जिले में कोविड के सघन सर्वे अभियान के बारे में सब कुछ, विस्तार से

  • रिकार्ड 16,000 लोगों का हुआ टेस्ट
  • घर-घर सर्वे का काम लगभग पूरा

रायगढ़। जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 सघन सर्वे के दौरान 7 दिनों में 16,000 टेस्ट किए गए जो एक रिकार्ड है।अक्टूबर 5 से 12 तक चले इस सघन अभियान में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने घर घर जाकर लक्षणों वाले मरीजों की जांच की।

इस सर्वे का मुख्य उद्देश्य लक्षणों वाले मरीजों की पहचान करना था  ताकि उनका उपचार कर संभावित खतरे से बचाया जा सके। इसमें जिले के लगभग सभी घर कवर हो गए हैं। ज्यादातर लक्षण वाले मरीजों की पहचान कर उन्हें उचित इलाज व सुविधाएं मुहैय्या कराई जा रही है।

लगभग 1400 लोगों की 180 सर्वे टीम ने इस पूरे सघन सर्वे को अंजाम दिया जिसके कारण सर्वे में अधिक से अधिक आबादी को शामिल किया जा सका। इन सात दिनों में बिना सर्वे के भी जांच हुए जिसमें लोग स्वस्फूर्त सैंपल सेंटर तक आए।  सर्वे में 11,528 लोगों की टेस्ट किया जा चुका है और 4422 बिना सर्वे के लोग जांच कराए आए। कुल मिलाकर 7 दिनों में रिकार्ड 16,000 टेस्ट रायगढ़ जिले में हुए जो पूरे राज्य में टेस्ट के मामले में रिकार्ड है।  

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सर्वे में 3.29  लाख से अधिक  घरों को कवर किया गया जिसमें 7,468 लक्षण वाले मरीज मिले जिनमें से 1,574 हाई रिस्क वाले थे। इसके अलावा 7,323 लोगों का रैपिड एंजीटन टेस्ट किया गया जिसमें से 451 लोगों के टेस्ट पॉजिटिव आए। इसी तरह 4,255 लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट नेगेटिव आया, आरटीपीसीआर में 135 लोगों का टेस्ट पॉजिटिव प्राप्त हुआ।

बिना लक्षण वाले मरीज भी सर्तक रहें: सीएमएचओ

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसएन केसरी ने बताया कि सघन जांच सर्वे में जितने भी सैंपल लिए गए हैं उनमें से एंटीजन टेस्ट लगभग शत प्रतिशत पूरे हो चुके हैं। आरटीपीसीआर दो दिन में पूरा हो जाएगा। अभी लगभग 250 केस  रोज आ रहे हैं। लोगों को और ज्यादा सावधानी बरतनी होगी। ठंड नजदीक है जिससे खतरा और बढ़ सकता है। जिले की आबादी 16 लाख के करीब है और अभी तक लगभग 10,000  लोग ही जिले में पॉजिटिव आए हैं यानी अभी आबादी का एक प्रतिशत हिस्सा भी इसकी चपेट में नहीं आया है।
श्री केसरी ने बताया  इस सर्वे में लक्षण वाले मरीजों का टेस्ट हुआ था लेकिन जिनमें लक्षण नहीं हैं वह भी  सतर्क रहें और जैसे ही कोई लक्षण उनमें दिखे तो  तुरंत नजदीकी सैंपल कलेक्शन सेंटर में अपनी जांच कराएं।

Join Group