15 साल की बीजेपी सरकार में फले-फुले खाद के लुटेरे! जिले में बीजेपी नेताओं के रिश्तेदार शामिल खाद की कालाबाजारी मे! ओपी बीजेपी के लोग ही खाद के ब्लैकर -अनिल अग्रवाल

  • News Desk 

रायगढ़! प्रदेश भर में खाद और बीज को लेकर कांग्रेस और भाजपा में घमासान जारी है। इसी बीच प्रदेश कांग्रेस सचिव अनिल अग्रवाल ने भाजपा पर पलटवार करते हुए कहा कि धान के कटोरे छत्तीसगढ़ प्रदेश में कृषि उत्पादों के लिये सहयोगी समानों में खाद -बीज की भूमिका महत्वपूर्ण रहती है। जिस पर भी पिछली बीजेपी सरकार के द्वारा उनके नेता व रिश्तेदारों के तहत इसमें कालाबाजारी और भ्रष्टाचार करने के लिये व्यापार किया जा रहा है पर जबसे छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार आई है। इन पर लगाम लगाने के कड़े प्रयासों को अंजाम दिया गया जिसमें रायगढ़ जिले में दो व्यपारियो पर कार्यवाही हुई जो बीजेपी नेता के परिवार के सदस्य निकले।

Advertisement


प्रदेश कांग्रेस के सचिव अनिल अग्रवाल ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर भाजपा नेता ओपी चौधरी सहित रायगढ़ जिले की बीजेपी को घेरा। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने किसानों की पूरी 15 साल नही सुनी। जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण है कि 15 साल की बीजेपी सरकार में किसानों को लूटने वालो पर प्रकरण दर्ज नही हुये और तो और रायगढ़ जिले के दो तिहाई किसान खाद की जरूरतों पर पिछली बीजेपी सरकार में कालाबाजारी से डर भय में महंगी खाद लिए ओर एक तिहाई किसानों ने बगल में चंद किलोमीटर पर उड़िसा सीमा पार करके उड़िसा प्रदेश की खाद का उपयोग करके अपनी खेती करके फसल उगाया। यह पीड़ा को तत्कालीन बीजेपी सरकार ने नही सुनी। तो कांग्रेस ने 2018 के चुनावों से पहले वायदा किया कि किसान का “कर्जा माफ-बिजली बिल हॉफ” जो किसानों की पसंद व विश्वास बना और वोट में तब्दील हो कर रायगढ़ जिले की 5 विधानसभा में विधायक भी जितवाया।

कांग्रेस शासन में किसान भाइयों को लूटने वालों पर प्रशासन की पैनी निगाह है जिसके कारण विगत सप्ताह यूरिया खाद की कालाबाजारी करने वाले व्यापारियों पर जिले में कार्यवाही हुई जिसमें दोनों व्यापारी बीजेपी नेताओं के परिजन व रिश्तेदार निकले जिसमे से एक में जगन्नाथ प्रसाद गोपाल प्रसाद शर्मा, खरसिया के जिसने 222•3 मीट्रिक टन यूरिया की अफरा-तफरी की मतलब एक बोरा में 45 किलो की भर्ती अर्थात 4940 बोरा लगभग और दूसरा पवन अग्रवाल,सरिया के व्यापारी ने142 मीट्रिक टन मतलब 3155 बोरा यूरिया खाद की ऑफर-तफरी की थी दोनों के व्यापार बीजेपी सरकार में फले-फुले और दोंनो के करीबी रिश्ते बीजेपी के प्रादेशिक व जिले के नेताओं से प्रत्यक्ष रूप से है पर उपसंचालक, कृषि के द्वारा कालाबाजारी करने के कारण पत्र क्रमांक/टी-7/उर्व/2020-21/2947 और 2949 दिनांक 27 अगस्त 2020 को उर्वरक प्रमाण-पत्र निलंबित करने की कार्यवाही की गई।


प्रदेश कांग्रेस के सचिव अनिल अग्रवाल ने किसानों सहित जिले की जनता को आगाह व सचेत किया कि बीजेपी के तथाकथित प्रशासनिक नेता के ऊलजलूल कारनामों से बच के रहे। जिस बीजेपी ने किसानों को उनके धान का वास्तविक मूल्य नही दिया। जिसके कारण किसान बीजेपी सरकार में कर्जदार हो गया। जबसे किसान एकजुट हुये तो कांग्रेस की सरकार बनी और वायदे के अनुसार उन्हें फसल का सर्वाधिक मूल्य मिलने लगा जबकि इसके विपरीत बीजेपी नेता अब किसानों की हमदर्दी जुटाने में लगे है जबकि रायगढ़ जिले में यूरिया खाद की कालाबाजारी करते बीजेपी नेताओं के परिजन की फर्म ही पकड़ाई है।

बीजेपी नेताओं की हिम्मत जब दिखे की इन पकड़ाए बीजेपी नेताओं के रिश्तेदारों कालाबाजारियों पर कड़ी कार्यवाही के लिये मांग करें अन्यथा बीजेपी पार्टी अपने पार्टी से जुड़े खाद व्यापारियों को कालाबाजारी करने से मना करे तो ही किसानों को बिना कालाबजारी के खाद जिले में मुहैय्या होगा जिससे किसानों को कालाबाजारियों से मुक्ति मिलेगी।