Raigarh

ऑक्सीजन मैन “रामजी लाल” की रायगढ़ कलेक्टर “भीम सिंह” से गुहार! अपनी ऑक्सीजन सेवा को दुबारा शुरू करने की मांगी अनुमति.. कहा, “मेरी ये सेवा ही मेरा वजूद.. मना करने पर होता है दुःख..” जानिए पूरा मामला, पढ़ें पूरी खबर

रायगढ़@RIG24.IN। शहर के वरिष्ठ नागरिक समाजसेवी और पूर्व खेल अधिकारी ऑक्सीजन मैन के नाम से मशहूर रामजी लाल अग्रवाल ने रायगढ़ जिला कलेक्टर भीम सिंह से ऑक्सीजन सिलेंडर के विषय में सादर अनुरोध किया है। रामजी लाल अग्रवाल पिछले कई दशकों से जरूरतमंदों को जीवनदायिनी ऑक्सीजन सिलेंडर निशुल्क मुहैया कराते आए हैं। जिनके 24 घंटे किसी भी समय हर जरूरतमंद की मदद को लेकर राम जी अग्रवाल रायगढ़ में हमेशा अपने इस सेवा भाव के लिए जाने जाते हैं। कोरोना की दूसरी लहर के बाद ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए शासन द्वारा प्राइवेट तथा अन्य ऑक्सीजन सिलेंडर हो पर रोक लगाई थी।

अब जब स्थिति सामान्य हो चुकी है। रामजी लाल अग्रवाल ने जिला कलेक्टर से ऑक्सीजन सिलेंडर पर लगे प्रतिबंध को हटाने की मांग की है, ताकि पहले की तरह हर जरूरतमंद को सही समय पर ऑक्सीजन देने का अपना दोबारा शुरू कर सकें।

ऑक्सीजन मैन “रामजी लाल अग्रवाल”

अपने अधिकारी फेसबुक अकाउंट के माध्यम से उन्होंने जिला कलेक्टर से सादर अनुरोध करते हुए लिखा है कि

रायगढ जिले के कलेक्टर महोदय से निवेदन है कि शहर मे मरीजों की आवश्यकता के अनुसार क्या हम आक्सीजन सिलेन्डर उपलब्ध कराने मै मदद करने के लिए अपनी सेवाएं पूर्व की तरह शुरू कर सकते है ।केरोना को शुरू हुए विगत 18 माह के दोरान हमने नि शुल्क सेवाएं दी थी। किन्तु 29 अप्रेल से आपके आदेशानुसार हम मरीजो की सेवा नहीं कर पा रहे है।मै विगत दस वर्षों से रायगढ मै आक्सीजन सिलेन्डर उपलब्ध कराने हेतु सेवा कार्य करता आ रहा था।ओर यही मेरी पहचान बन चुकी हैं ।परन्तु शासकीय व्यवस्था के नाम पर हम लाचार है। मरीजो के परिजन को मना करने पर दुख होता है।अतः निवेदन करता हूँ कि वर्तमान समय मै उस आदेश को शिथिल कर हमे सेवा कार्य की अनुमति प्रदान करने की कृपा करें ।

रामजी लाल अग्रवाल
रामजी लाल अग्रवाल

जानकारी के अनुसार रामजी लाल अग्रवाल पिछले कई दशकों से स्वयं एवं जन सहयोग के माध्यम से ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता निशुल्क जनता को करवाते आए हैं। बिना किसी समय के प्रतिबंध के, किसी भी समय अपने इस ऑक्सीजन सेवा के लिए सदैव तत्पर रहने वाले शहर में ऑक्सीजन मैन के नाम से जाने जाते हैं। इसके अलावा समय-समय पर आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को उनकी शिक्षा का पूरा बीड़ा उठा कर उनके भविष्य को संवारा भी है। रायगढ़ जिला के संवेदनशील कलेक्टर भीम सिंह उनकी इस निवेदन पर गंभीरता पूर्वक विचार करते हैं तो उसका फायदा आर्थिक रूप से कमजोर के जरूरतमंद मरीजों के लिए निश्चित ही जीवनदायिनी बनेगा।

Back to top button